मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल कैसे करे | How to use menstrual cup in Hindi

आज हम जिस दुनिया में रहते है ये कहने को तो बहुत आधुनिक है पर आज भी हम कई मुद्दों पर खुल कर बात करने से कतराते है।

आज का हमारा विषय भी कुछ इसी तरह का है जो हमारे जीवन का हिस्सा तो है पर इस पर बात करने में हमेसा ही इंसान र्शमाता हैं। हम महिलाओं के मासिक धर्म से जुड़ी चीजों के बारे में बात करने वाले हैं मासिक धर्म ऐसी प्रक्रिया है जिसका सामना महिलाओं को हर महा करना पड़ता है तथा महिलाएं इन मुद्दों पर खुलकर बात करने से हमेशा बचती रहती है मासिक धर्म के दौरान महिलाएं टम्पोन ,नेपकिन पैड और मेंस्ट्रूअल कप जैसे कई चीजों का इस्तेमाल कर सकती हैं मेंस्ट्रअल कप का इस्तेमाल करना काफी आसान होता है।

इसलिए आज हम इस आर्टिकल में मेंस्ट्रूअल कप के उपयोग के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा मेंस्ट्रूअल कप से संबंधित विषयों के बारे में भी बताएंगे। (How to use menstrual cup in Hindi)

मेंस्ट्रुअल कप क्या है – What is menstrual cup in Hindi

images 3

मासिक धर्म महिलाओं के लिए एक चुनौती से कम नही पर हर महिने उन्हे इस समस्या का सामना करना पड़ता है महिलाएं आमतौर पर इस वक्त नेपकिन पैड का इस्तेमाल करती है। पर मेंस्ट्रुअल कप नेपकिन से काफी बेहतर और किफायती है। मेंस्ट्रुअल कप रबड़ सिलिकान या लेटक्स से बने होते है। यह एक कप के आकार का होता है जो रक्त को सोखने की जगह इकट्टा करता है। अगर देखा जाए तो मेंस्ट्रुअल कप पैड से सस्ता पड़ता है। क्योकी आप इस का दुबारा इस्तेमाल भी कर सकते है ।

अगर रक्त प्रवाह ज्यादा होता है तो हमें बार-बार पैड बदलने की टेंशन लगी रहती है परंतु मेंस्ट्रअल कप एक बार इस्तेमाल करने के बाद आप इस झंझट से बिल्कुल फ्री हो जाते हैं महिलाओं को अपने पैड के बारे में सोचना पड़ता है लेकिन मेंस्ट्रअल कप कई सालों तक इस्तेमाल में आ सकता है जिससे आपको हर महीने मेडिकल भागने की झंझट से छूटकारा मिल जाता है।

मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल कैसे करे ?- how to use menstrual cup in Hindi

मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल काफी आसान होता है पर अक्सर हम पैड के अलावा किसी और चीज मे इस्तेमाल में शंकित रहते है। मेंस्ट्रूअल कप का उपयोग करने पर शुरुआत में यह आपको शायद अजीब सा भी लग सकता है परंतु जब आपको इसको यूज़ करने की आदत पड़ जाएगी तो यह सामान्य लगेगा।

  • मेंस्ट्रुअल कप रबड़ की तरह होता है जिसका उपरी सिरा हमे मोड़कर योनि मे फिट करना होता है।
  • मेंस्ट्रुअल कप का उपरी सिरा मोड़कर सही तरीके से योनि में घुसाए फिर हलका सा इसे घुमा ले ताकि ये अंदर सही तरीके से फिट हो जाए ।
  • यह एक कप के आकार का होता है इसके अंदर ही रक्त जमा होता है। इसलिए इसका सही प्रकार से योनि मे फिट होन आवश्यक हैं ।
  • मेंस्ट्रुअल कप अलग- अलग आकर में उपलब्ध होते है आपको अपने उम्र के हिसाब से कप का चयन करना चाहिए
  • मेंस्ट्रुअल कप को इस्तेमाल करने से पहले अपने हाथ धो ले।
  • मेंस्ट्रुअल कप को सुरक्षित जगह पर रखे ।

मेंस्ट्रुअल कप को कैसे निकले ?

मेंस्ट्रुअल कप को निकालते वक्त आपको थोड़ी सावधानि की आवश्यकता है।

1. पहले उचित स्थान का चयन करे ।

सबसे पहले आप को एक सुरक्षित और सही जगह का चयन करना होता है क्योकि जब आप कप का निकाल रहे होते है तो उस समय इस में रक्त भरा होता है इसलिए आपको ज्यादा सावधानी की आवश्यकता होती है 

2. अपनी पोशिशन को सही करे ।

मेंस्ट्रअल कप को निकालने से पहले सही पोजीशन का होना भी बहुत आवश्यक है इसलिए सही पोजीशन का ध्यान रखें मेंस्ट्रअल कप को निकालते समय अपनी टांगो को कम से कम 45 डिग्री से ज्यादा खोलें बेहतर होगा कि अब अपनी टांगो ऊपर करके और एक नीचे रखें और सही तरीके से हाथ योनी से इस को निकाल ले।

3. अपने हाथो से योनि से कप बाहर निकाले ।

निकालते समय आपको कम से कम यह सुनिश्चित करें कि रक्त कप से बाहर ना निकले इसीलिए मेंस्ट्रअल कप को जहां तक हो सके सीधा रखने की कोशिश करें

4. कप को ज्यादा घुमाना या रगड़ना नही है।

क्योंकि इसके ज्यादा रगड़ ने से या ज्यादा घुमाने से योनि में जलन की समस्या हो सकती है और रक्त बहार गिर जाने से भी इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

5. कप को सही तरीक़े से साफ करें। 

मेंस्ट्रअल कप को बाहर निकाल लेने के बाद सबसे जरूरी है कि उसे सही तरीके से साफ किया जाए साफ करने के लिए गरम पानी का इस्तेमाल सबसे बेहतर होता है आप पहले पानी को गर्म कर लें और इसमें से डाल के सही तरीके से साफ करें ।

मेंस्ट्रुअल कप ही क्यों इस्तेमाल करे ?

अक्सर कई बार महिलाओं के मन में यह सवाल आता है कि जब सेनेटरी पैड द्वारा मासिक चक्र में काम चल जाता है तो वह मेंटल कब का उपयोग क्यों करें। 

1. एक से अधिक बार इस्तेमाल में आ सकता है जिससे ये किफायती है ।

मेंस्ट्रअल कप को इस्तेमाल करने की सबसे बडी वजह यह कि यह बाकी अन्य उपाय जैसे कि नेपकिन पैड या फिर टेम्पोन से काफी सस्ता पड़ता है 

2. पैड से दाग धब्बों का डर होता है 

सेनेटरी पैड काफी लंबे समय तक आपके शरीर से चिपका रहता है जो इंफेक्शन या धब्बे कि वजह बनता है लेकिन मेंस्ट्रअल कप की मदद से आप इस झंझट से बच सकते हैं 

3. पर्यावरण के लिहाज से भी बेहतर होता है

मेंस्ट्रअल कप पर्यावरण के लिहाज से भी ज्यादा बेहतर होता है यह पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाता ।

4. पहनकर चलने व कही आने जाने में र्भा परेशानी नही होती।

सेनेटरी पेड की तुलना में मेंस्ट्रअल कप ज्यादा रक्त इकट्ठा कर सकता है इसी के साथ साथ आपको यह काफी कमर्फट भी लगता है।

यह भी पढ़ें:- अक्रियाशील गर्भाशय रक्तस्राव क्या है? इसके कारण, लक्षण इत्यादि | Dysfunctional uterine bleeding in hindi

निष्कर्ष

सेनेटरी पैड और मेंस्ट्रूअल कप दोनों ही मासिक धर्म के दौरान बड़े ही काम में आते हैं। यह दोनों ही काफी अच्छे प्रोडक्ट हैं परंतु बदलते हुए जमाने के साथ हमें भी बदलना चाहिए सेनेटरी पैड अच्छे हैं, अच्छे थे और अच्छे रहेंगे परंतु मेंस्ट्रूअल कप सैनिटरी पैड की तुलना में काफी एडवांस है। तथा हमने इस आर्टिकल में मेंस्ट्रूअल कप के कई लाभ बताए हैं जिनके बारे में जानकर आप मेंस्ट्रूअल कप का उपयोग जरूर करना चाहेंगे।

जहां तक हमारी राय है आपको मेंस्ट्रूअल कप का उपयोग जरूर करके देखना चाहिए और हां कई लोग सिर्फ एक बार मेंस्ट्रूअल कप का उपयोग करते हैं और उन्हें उपयोग करने में कई समस्याएं आती हैं और उन्हें ऐसा लगता है कि मेंस्ट्रूअल कप बेकार है लेकिन ऐसा नहीं है आप दो से तीन बार इसे प्रयोग में जरूर लाएं पर आपको पता चलेगा कि है कितना लाभदायक है और इसका इस्तेमाल करना भी कितना सरल है।