White blood cells in Hindi | श्वेत रक्त कोशिका क्या है, कार्य इत्यादि

हमारा रक्त हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है जिस प्रकार किसी भी गाड़ी को कार्य करने के लिए इंधन की आवश्यकता होती है उसी प्रकार हमारे शरीर को भी रक्त की आवश्यकता होती है। रक्त हमारे शरीर में ईंधन की तरह कार्य करता है। रक्त में लाल रक्त और श्वेत रक्त कोशिकाएं होती हैं। श्वेत रक्त कोशिकाएं हमारे शरीर की इम्यूनिटी में एक अहम भूमिका निभाती है। अगर किसी व्यक्ति के शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाए तो उसे विभिन्न प्रकार के रोग होने लगते हैं। 

हम इस आर्टिकल में श्वेत रक्त कोशिका के बारे में जानकारी देंगे जैसे कि श्वेत रक्त कोशिका क्या है, श्वेत रक्त कोशिका के कार्य क्या है इत्यादि (White blood cells in Hindi)

Table of Contents

श्वेत रक्त कोशिका क्या है? – What is White blood cells in Hindi

px770515 image kwyoloo3

श्वेत रक्त कोशिकाएं जिन्हें leukocytes के नाम से भी जाना जाता है हमारे शरीर विभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचाने का कार्य करती है। श्वेत रक्त कोशिकाएं हमारे इम्यून सिस्टम का अहम हिस्सा होती हैं। श्वेत रक्त कोशिकाएं हमारे संपूर्ण शरीर में निरंतर शरीर में प्रसारित होती रहती हैं। और यह घाव को भरने और रोगों से लड़ने में भी मदद करती हैं। 

ल्यूकोसाइट्स पांच विभिन्न और विविध प्रकार की होती हैं, लेकिन इन सभी की उत्पत्ति और उत्पादन अस्थि मज्जा की एक मल्टीपोटेंट, हीमेटोपोईएटिक स्टेम सेल से होता है। ल्यूकोसाइट्स पूरे शरीर में पाई जाती हैं, जिसमें रक्त और लसीका प्रणाली शामिल हैं। इनका निर्माण अस्थि मज्जा में होता है। इसे शरीर का सिपाही के नाम से भी जाना जाता है। ये एंटीजन और एंटीबॉडी का निर्माण करती है जो प्रतिरक्षा तंत्र में भाग लेती है।एक बार बनी हुयी एंटीबॉडी जीवन भर नष्ट नहीं होती है। श्वेत रक्त कोशिकाओं का अपने स्तर से बहुत अधिक बनना ल्यूकेमिया कहलाता है जिसे हम ब्लड कैंसर भी कह सकते हैं। 

यह भी पढ़ें:- Red blood cells in Hindi | लाल रक्त कोशिका क्या है, कार्य इत्यादि

श्वेत रक्त कोशिकाओं के प्रकार और कार्य – Types and Functions of White Blood Cells in Hindi

मुख्य रूप से सफेद रक्त कोशिकाओं की तीन श्रेणियां होती हैं ग्रैन्यूलोसाइट्स, लिम्फोसाइट्स और मोनोसाइट्स

ग्रैन्यूलोसाइट्स

ग्रैन्यूलोसाइट्स सफेद रक्त कोशिकाएं होती हैं जिनमें प्रोटीन युक्त छोटे छोटे दाने होते हैं ग्रैन्यूलोसाइट्स मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती हैं

बेसोफिल्स 

इस प्रकार की कोशिका श्वेत रक्त कोशिकाओं का लगभग 1% होती हैं और यह एलर्जी से संबंधित समस्याओं को ठीक करने में मुख्य भूमिका निभाती है।

ईोसिनोफिल्स

इस प्रकार की कोशिकाएं पर जीवों से होने वाले इन्फेक्शन को होने से रोकती हैं तथा यह इम्यूनिटी में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

न्यूट्रोफिल 

इस प्रकार की कोशिकाएं श्वेत रक्त कोशिकाओं में बहुमत में पाई जाती हैं यह विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया फंगी और वायरस से लड़ने में मदद करती हैं

लिम्फोसाइटों

बी कोशिकाएं

इस प्रकार की कोशिकाओं को बी-लिम्फोसाइट्स के रूप में भी जाना जाता है, ये कोशिकाएं प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण की प्रतिक्रिया को माउंट करने में मदद करने के लिए एंटीबॉडी का उत्पादन करती हैं

टी कोशिकाएं 

टी-लिम्फोसाइट्स के रूप में भी जाना जाता है, ये सफेद रक्त कोशिकाएं संक्रमण पैदा करने वाली कोशिकाओं को पहचानने और हटाने में मदद करती हैं।

प्राकृतिक हत्यारा कोशिकाएं : ये कोशिकाएं वायरल कोशिकाओं के साथ-साथ कैंसर कोशिकाओं पर हमला करने और मारने के लिए जिम्मेदार होती हैं।

मोनोसाइट्स

मोनोसाइट्स श्वेत रक्त कोशिकाएं होती हैं जो शरीर में कुल श्वेत रक्त कोशिकाओं की संख्या का लगभग 2-8% बनाती हैं। ये तब मौजूद होते हैं जब शरीर पुराने संक्रमणों से लड़ता है। वे उन कोशिकाओं को लक्षित और नष्ट करते हैं जो संक्रमण का कारण बनती हैं।

श्वेत रक्त कणिकाएं कहाँ स्थित होती हैं? – Where are white blood cells located in Hindi?

श्वेत रक्त कोशिकाएं रक्त प्रभाव में होती है और संक्रमण की जगह का पता लगाने के लिए रक्त वाहिकाओं और ऊतकों द्वारा संभावित क्षेत्र पर पहुंचकर उस क्षेत्र को ठीक करती है।

यह भी पढ़ें:- Circulatory system in hindi | परिसंचरण तंत्र या वाहिकातंत्र क्या है, कार्य इत्यादि

श्वेत रक्त कोशिकाएं कैसी दिखाई देती है? – What do white blood cells look like in Hindi?

श्वेत रक्त कोशिकाओं के नाम से शायद आपको लग रहा है कि यह कोशिकाएं देखने में सफेद रंग की होंगी परंतु ऐसा नहीं है श्वेत रक्त कोशिकाएं रंगहीन होती हैं लेकिन सूक्ष्मदर्शी से जांच करने पर या डाई से रंगने पर वे बहुत हल्के बैंगनी और गुलाबी मिक्स कलर की दिखाई पड़ती है इन छोटी-छोटी कोशिकाओं में विशिष्ट केंद्रक झिल्ली दिखाई देती है जो गोलाकार होती है।

मेरे शरीर में कितनी श्वेत रक्त कोशिकाएं हैं? – How many white blood cells are in my body in Hindi?

शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की मात्रा रक्त के हिसाब से होती है रक्त का लगभग 1% भाग श्वेत रक्त कोशिकाएं होती हैं श्वेत रक्त कोशिकाएं लाल रक्त कोशिकाओं की तुलना में काफी कम होती हैं

श्वेत रक्त कोशिकाओं का निर्माण कैसे होता है? – How are white blood cells formed in Hindi?

श्वेत रक्त कोशिकाओं का निर्माण अस्थि मज्जा के अंदर कोमल उसको में होता है। थाइमस ग्रंथि (टी कोशिकाएं) और लिम्फ नोड्स और प्लीहा (बी कोशिकाएं) में दो प्रकार की श्वेत रक्त कोशिकाएं (लिम्फोसाइट्स) विकसित होती हैं।

यह भी पढ़ें:- Blood in Hindi | रक्त क्या है, रक्त के कार्य क्या है इत्यादि

श्वेत रक्त कोशिकाएं किस चीज की बनी हुई होती है? – What are white blood cells made of in Hindi ?

श्वेत रक्त कोशिकाएं उन कोशिकाओं से उत्पन्न होती हैं जो आपकी हड्डियों (अस्थि मज्जा) के नरम ऊतक के भीतर शरीर की अन्य कोशिकाओं (स्टेम सेल) में रूपांतरित होती हैं।

श्वेत रक्त कोशिकाओं से संबंधित रोग –  Common conditions and disorders that affect white blood cells in Hindi?

श्वेत रक्त कोशिकाएं हमारे शरीर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं अगर किसी कारणवश हमारे शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाए तो हमें विभिन्न प्रकार के रोग होने लगते हैं या फिर कई ऐसे लोग भी होते हैं जिनकी वजह से शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की कमी होने लगती है।

  • leukopenia
  • leukocytosis
  • leukemia
  • lymphoma

श्वेत रक्त कोशिकाओं से संबंधी रोग के लक्षण – Common signs or symptoms of white blood cell conditions in Hindi?

शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की कमी होने पर निम्नलिखित लक्षण महसूस हो सकते हैं

  • बुखार आना
  • शरीर दर्द करना
  • सूजन आना
  • बार-बार इन्फेक्शन होना
  • लगातार खांसी रहना
  • सांस लेने में तकलीफ होना

श्वेत रक्त कोशिकाओं से संबंधी रोगों का इलाज – Common treatments for white blood cell disorders in Hindi?

श्वेत रक्त कोशिकाओं से संबंधी रोग होने पर अपने डॉक्टर से सलाह लें इसके अलावा आप निम्नलिखित चीजें भी जरूर करें। श्वेत रक्त कोशिकाओं से संबंधी रोगों का इलाज निम्नलिखित है

  • विटामिन का सेवन करें
  • एंटीबायोटिक दवाइयों का उपयोग करें
  • बोन मैरो के लिए शल्य चिकित्सा 
  • ब्लड ट्रांसफर 
  • स्टेम सेल ट्रांसप्लांट

सामान्य व्यक्ति के शरीर में कितनी श्वेत रक्त कोशिकाएं होती हैं? – What is a normal white blood cell count in hindi

आमतौर पर रक्त की एक लीटर मात्रा में 4×109 से लेकर 1.1×1010 के बीच श्वेत रक्त कोशिकायें होती हैं, जो किसी स्वस्थ वयस्क में रक्त का लगभग 1% होता है।

 मैं अपनी श्वेत रक्त कोशिकाओं की देखभाल कैसे करूं? – How do I take care of my white blood cells in hindi?

आप निम्नलिखित तरीकों द्वारा अपनी श्वेत रक्त कोशिकाओं की देखभाल कर सकते हैं 

  • संक्रमण को रोकने के लिए साफ सफाई रखनी चाहिए
  • प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए विटामिन और सप्लीमेंट इत्यादि का सेवन करना चाहिए।
  • वाइट ब्लड सेल से संबंधित चिकित्सीय स्थितियों का इलाज करना।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने श्वेत रक्त कोशिका के बारे में जानकारी दिया है जैसे श्वेत रक्त कोशिका क्या है, श्वेत रक्त कोशिका के कार्य क्या है इत्यादि (White blood cells in Hindi)

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आता है या आप क्या कोई सवाल या जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं धन्यवाद।