Vitamin chart in hindi | विटामिन के प्रकार, चार्ट, स्रोत इत्यादि

हमारा शरीर बहुत सारे तत्वों से मिलकर बना होता है इन सभी तत्वों का कार्य भिन्न भिन्न होता है। विटामिन इन्हीं आवश्यक तत्वों में से एक है जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। सभी जीवो को भिन्न-भिन्न विटामिन की आवश्यकता होती है। कुछ जीव विटामिन का संश्लेषण स्वयं कर लेते हैं जबकि कुछ जीव अपने आहार से आवश्यक विटामिन ग्रहण करते हैं जैसे इंसान विटामिन सी भोजन द्वारा ग्रहण करता है जबकि कुत्ते खुद ही स्वयं के लिए पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी का निर्माण कर लेते हैं।

मनुष्य के शरीर में भिन्न-भिन्न प्रकार के विटामिन होते हैं और यह सभी बहुत महत्वपूर्ण और अलग-अलग कार्य करते हैं अगर किसी व्यक्ति के शरीर में इनमें से किसी भी विटामिन की कमी हो जाए तो उसका स्वास्थ्य खराब होने लगता है उस व्यक्ति को उस विटामिन से संबंधित रोग होने लगते हैं जैसे यदि किसी व्यक्ति के शरीर में विटामिन ए की कमी हो जाए तो उसे नेत्र संबंधी रोग होने लगते हैं।

हम इस आर्टिकल में हम विटामिन के बारे में जानकारी देंगे जैसे कि विटामिन के स्रोत, विटामिन के प्रकार इत्यादि (Vitamin chart in hindi)

विटामिन क्या है – What is vitamins in Hindi

images 5

विटामिन पूर्ण रूप से ऑर्गेनिक और प्राकृतिक होते हैं कुछ विटामिनों का निर्माण हमारा शरीर स्वयं कर लेता है जबकि कुछ विटामिन हमें बाहरी पर्यावरण से लेने होते हैं जैसे विटामिन डी हम भोजन द्वारा भी ग्रहण कर सकते हैं और सूर्य के प्रकाश द्वारा भी हमारी त्वचा विटामिन डी का निर्माण कर लेती है।

हमारे शरीर को कार्य करने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के विटामिन की आवश्यकता होती है अगर किसी कारणवश हमारे शरीर में इन सभी विटामिन में से किसी एक विटामिन की भी कमी हो जाए तो हमें उस विटामिन संबंधी बीमारियां और समस्याएं होने लगती हैं। 

अभी तक सिर्फ 13 विटामिनों का ही पता लग पाया है और संभावना है कि भविष्य में और विटामिनों की खोज हो जाए।

यह भी पढ़ें:- इम्युनिटी कैसे बढ़ाये | Immunity kaise Badhaye

विटामिन का वर्गीकरण – Classification of vitamins in Hindi

सभी विटामिनों को मुख्य रूप से दो भागों में बांटा गया है पहला फैट सॉल्युबल विटामिन (वह विटामिन जो फैट में घुल जाते हैं) और दूसरा वॉटर सॉल्युबल विटामिन (वह विटामिन जो पानी में घुल जाते हैं)

फैट सॉल्युबल विटामिन (फैट में घुलने वाले विटामिन)

इस प्रकार के विटामिन फैट या वसा में घुल जाते हैं विटामिन A, D, E, और K फैट सॉल्युबल विटामिन हैं यह विटामिन शरीर में लंबे समय तक रहते हैं यह शरीर में फैटी टिशु लिवर इत्यादि में रहते हैं। डाइटरी फैट हमारे शरीर विटामिन को आसानी से अवशोषित कर पाता है।

वाटर सॉल्युबल विटामिन (पानी में घुलने वाले विटामिन)

इस प्रकार के विटामिन पानी में घुल जाते हैं विटामिन C और विटामिन B पानी में घुलने वाले विटामिन होते हैं यह ज्यादा लंबे समय तक शरीर में नहीं रहते और पेशाब में घुलकर शरीर से बाहर निकल जाते हैं

13 विटामिनों की सूची – List of all vitamin in Hindi

Vitamin A

  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन ए (रेटिनॉल) है।
  • विटामिन फैट सॉल्युबल विटामिन होता है।

कार्य

यह विटामिन हमारी आंखों के स्वास्थ्य के लिए उत्तरदाई होता है।, इसके अलावा इसका सेवन दांतो के स्वास्थ्य से लेकर हड्डियों कोशिकाओं और म्यूकस मेंब्रेन और त्वचा के लिए भी उपयोगी होता है।

रोग

  • विटामिन की कमी होने से आंख संबंधी रोग होने लगते हैं जैसे रतौंधी होना, कम दिखाई देने लगना, धुंधला दिखाई देने लगना इत्यादि। 
  • इसके साथ साथ ही विटामिन ए की कमी होने पर फेफड़े संबंधी रोग पैंक्रियास संबंधी रोग और छोटी आंत संबंधी रोग भी होने लगते हैं।

स्रोत

दूध दही पनीर मक्खन घी अंडा मछली चिकन यह सभी भोजन विटामिन ए से भरपूर होते हैं इसके अलावा फल और पत्तेदार सब्जियों में भी विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है।

Vitamin B1

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता हैइस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी1 (थायमिन) है।

कार्य

  • यह भिन्न भिन्न प्रकार के एंजाइम का उत्पादन करता है जो रक्त में से शुगर को ब्रेकडाउन करने का काम करता है
  • विटामिन बी हृदय के कार्य और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को स्वस्थ बनाए रखने का कार्य करता है

रोग

  • इस विटामिन की कमी होने पर वेरी-वेरी और Wernicke-Korsakoff syndrome. रोग होने लगते हैं
  • इस विटामिन की कमी से निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं
  • चिड़चिड़ापन
  • हृदय संबंधी समस्या
  • यादास कमजोर हो जाना
  • कमजोरी होना
  • थकावट होना

स्रोत

हरी पत्तेदार सब्जियां दूध मटर साबुत अनाज नोट्स सीड्स ब्राउन राइस आलू संतरा केले अंडा और अन्य मांसाहारी पदार्थ इत्यादि विटामिन बी 1 के उत्तम स्रोत हैं

Vitamin B2

  • यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी2 (राइबोफ्लेविन) है।

कार्य

यह भिन्न भिन्न प्रकार के एंजाइम का उत्पादन करते हैं जो रक्त में से शुगर को ब्रेकडाउन करने का काम करता है

रोग

  • सुखी और लाल हॉट होना
  • होठों पर छाले हो जाना 
  • जीभ पर दाने होना
  • थकान होना 
  • गले में खराश होना 
  • आंख आना

स्रोत

केला चॉकलेट मक्खन दूध योगर्ट मछलियां अंडे हरी पत्तेदार सब्जियां ग्रीन मटर मशरूम बादाम पालक सेब राजमा ब्रेड सूरजमुखी के बीज टमाटर चावल मांस मछली इत्यादि इन सभी चीजों में विटामिन B2 भरपूर मात्रा में पाया जाता है

Vitamin B3 

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी3 (नियासिन) है।

कार्य

यह विटामिन शरीर में विशेष प्रकार की कोशिकाओं की ग्रोथ और कार्य के लिए उत्तरदाई होता है

रोग

  • भ्रम होना
  • गंजेपन की समस्या होना
  • त्वचा पर सूजन होना
  • सूर्य के प्रकाश से संवेदनशीलता होना
  • हृदय का आकार बढ़ाना
  • मानसिक समस्याएं होना
  • पाचन तंत्र से संबंधित समस्याएं होना

स्रोत

एवोकाडो फलीदार सब्जियां सूखे मेवे आलू दूध चिकन अंडा टमाटर हरी पत्तेदार सब्जियां ब्रोकली गाजर नट टोफू मछली बिना चर्बी वाला मुर्गा और मुर्गी इन सभी चीजों में विटामिन B3 भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin B5

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी5 (पैंटोथेनिक एसिड) है।

कार्य

यह ऊर्जा और कुछ हार्मोन के निर्माण के लिए उत्तरदाई होता है

रोग

  • थकान होना
  • सिर दर्द होना
  • व्यक्तित्व में परिवर्तन आना
  • मांसपेशियों में ऐंठन होना
  • पेट में ऐठन होना
  • मतली होना

स्रोत

मांस साबुत अनाज ब्रोकली एवोकाडो योगर्ट केला पत्ता गोभी फलियां दूध मशरूम शकरकंदी दलिया इत्यादि इत्यादि इन सभी चीजों में विटामिन B5 भरपूर मात्रा में होता है।

Vitamin B6

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी 6 (पाइरिडोक्सीन) है।

कार्य

इसका कार्य लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण से संबंधित होता है

रोग

  • नॉरमोसाइटिक एनीमिया (Normocytic Anemia – रक्त से जुड़ा एक विकार)
  • प्रुरिटिक (Pruritic – त्वचा पर दाने या खुजली होना)।
  • चेलाइटिस (Cheilitis – होंठों पर सूजन) होना।
  • ग्लोसाइटिस (Glossitis – जीभ में सूजन) होना।
  • गुर्दे संबंधी समस्या होना
  • दौरे आना
  • मानसिक स्थिति में बदलाव होना
  • अवसाद होना

स्रोत

योगर्ट ब्रोकली पालक मक्खन एवोकाडो सूखी हुई फलिया साबुत अनाज सूखे हुए मेवे मुर्गा, अंडा इत्यादि इन सभी चीजों में विटामिन बी 6 भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin B7

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी7 (बायोटिन) है।

कार्य

यह शरीर में प्रोटीन वसा और कार्बोहाइड्रेट को मेटाबोलाइज्ड करने के काम आता है और यह बाल त्वचा और नाखूनों में इस्तेमाल होने वाले प्रोटीन के निर्माण के लिए भी उत्तरदाई होता है

रोग

  • सुन्नता या झुनझुनी होना।
  • मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होना।
  • बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास धीमा होना।
  • अवसाद (डिप्रेशन) होना।
  • सुस्ती होना।
  • हाइपोटोनिया (Hypotonia – मांसपेशियों का कमजोर होना)।
  • दौरे आना।
  • शारीरिक गतिविधियों पर नियंत्रण खोना।
  • भ्रम होना।

स्रोत

अंडे योगर्ट ब्रोकली पालक मक्खन चॉकलेट सूखी हुई फलियां दूध सूखे हुए मेवा, खमीरे से बना हुआ भोजन इत्यादि इन सभी खाद्य सामग्री में विटामिन b7 भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin B9

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी9 (फोलेट या फोलिक एसिड) है।

कार्य

यह डीएनए और आरएनए के निर्माण के लिए उत्तरदाई होता है

रोग

  • ग्लोसाइटिस (Glossitis – जीभ की सूजन) होना।
  • एंगुलर स्टोमाटाइटिस (Angular Stomatitis – सूखे या लाल होंठ) होना।
  • संज्ञानात्मक समस्या (Cognitive Decline)।
  • थकान होना।
  • सायकोसिस (Psychosis – गंभीर मानसिक स्थिति)।
  • डायरिया की समस्या होना।
  • सफेद बालों की परेशानी होना।
  • सही शारीरिक व मानसिक विकास न होना।
  • मुंह में छाले होना।
  • अवसाद होना।
  • चिड़चिड़ापन होना।
  • अनिद्रा की समस्या होना।

स्रोत

अंडा मांस केकड़ा मछली मुर्गा शतावरी ब्रोकली चकुंदर सूखी फलियां हरी पत्तेदार सब्जियां लोबिया चावल एवोकाडो ब्रेड मछली मसूर की दाल संतरा मूसली इत्यादि विटामिन B9 के स्रोत होते हैं

Vitamin B12

यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन बी12 (स्यानोकोबलामीन) है।

कार्य

यह हमारे शरीर में तंत्रिका तंत्र के स्वास्थ्य से जुड़ा होता है

रोग

  • शारीरिक रूप से कमजोर होना।
  • शरीर के संतुलन में गड़बड़ी होना।
  • बाहों और पैरों में सुन्नपन या झुनझुनी होना।
  • बढ़ती उम्र के साथ दृष्टि से संबंधित समस्याएं होना।
  • एनीमिया (खून की कमी) होना।
  • पर्निशियस एनीमिया (Pernicious Anemia – लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी) होना।

स्रोत

मक्खन दूध दही केले स्ट्रॉबेरी पालक राजमा दलिया अंडा मछली ब्रोकली मक्खन इत्यादि में विटामिन B12 भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin C

  • यह पानी में घुलनशील विटामिन होता है
  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन सी (एसकोर्बिक एसिड) है।

कार्य

विटामिन सी हमारी कोशिकाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है यह हमें रक्त विकारों से बचाता है तथा यह हमारी त्वचा के लिए भी बहुत लाभदायक होता है और यह हमारे शरीर को खाद्य सामग्री से आयरन अवशोषित करने में भी मदद करता है

रोग

  • चिड़चिड़ापन होना 
  • घाव जल्दी ना भरना 
  • दांतों में खराबी होना 
  • मसूड़ों में सूजन होना 
  • मसूड़ों से खून बहना 
  • शरीर का वजन बढ़ना 
  • जोड़ों में दर्द रहना 
  • नाक से खून आना 
  • बालों का रूखापन हो जाना

स्रोत

अंकुरित अनाज पत्ता गोभी फूल गोभी खट्टे फल आलू पालक स्ट्रॉबेरी टमाटर लाल मिर्च अंगूर का रस कीवी फल हरी मिर्च शिमला मिर्च मिर्च हरी मटर नारंगी अंडा मछली दूध दही घी इन सभी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin D

  • विटामिन D फैट सॉल्युबल विटामिन होता है।
  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन डी (कैल्सिफेरॉल) है।

कार्य

विटामिन डी मुख्य रूप से हमारे शरीर के हर अंग के लिए महत्वपूर्ण होता है जिसमें कैल्शियम का उपयोग होता है जैसे दांत हड्डियां इत्यादि इसके साथ साथी हमारे शरीर में कैल्शियम के कई अन्य कार्य भी होते हैं।

रोग

  • rickets और osteomalacia
  • हड्डियों में दर्द होना
  • जोड़ों में दर्द होना
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • थकान होना
  • कमजोरी होना

स्रोत

दूध दही घी मक्खन डेयरी प्रोडक्ट्स मशरूम वसायुक्त मछली मछली के गुर्दे का तेल इत्यादि इन सभी में विटामिन दी भरपूर मात्रा में होता है इसके अलावा धूप भी विटामिन डी का बहुत अच्छा स्रोत है

Vitamin E

  • विटामिन E फैट सॉल्युबल विटामिन होता है।
  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन ई (टोकोफेरोल) है।

कार्य

विटामिन ई मुख्य रूप से एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है जो शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है तथा यह विटामिन के की भी सहायता करता है।

रोग

  • एनीमिया
  • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस
  • हर्ट फील हो जाना
  • मांसपेशियों का कमजोर हो जाना 
  • लीवर का फिर हो जाना

स्रोत

सूरजमुखी का तेल पपीता आम मूली पालक ब्रोकली शतावरी मक्का इत्यादि इन सभी में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है

Vitamin K

  • विटामिन k फैट सॉल्युबल विटामिन होता है।
  • इस विटामिन का वैज्ञानिक नाम विटामिन के (फिलोक्विनोन) है।

कार्य

इस विटामिन का मुख्य कार्य खून का थक्का बनाना होता है यदि कभी हमारी उंगली में किसी प्रकार का कोई कट लग जाता है तब वहां से खून निकलने लगता है वह खून अपने आप ही कुछ देर में बंद हो जाता है यह इस विटामिन की वजह से ही होता है अगर किसी व्यक्ति में विटामिन की कमी हो जाए तो खून निरंतर बेहतर रहेगा और खून का जमना संभव नहीं हो पाएगा।

रोग

  • इस विटामिन की कमी होने से खून का बहाव रोकने में समस्या आती है खून लगातार बहने लगता है
  • त्वचा के रंग में परिवर्तन होने लगता है
  • त्वचा पर छोटे छोटे लाल भूरे या बैगनी कलर के दाने पड़ने लगते हैं

स्रोत

पत्ता गोभी फूल गोभी अनाज गहरे हरे रंग की सब्जियां जैसे ब्रोकली स्प्राउट्स शतावरी सलाद गहरे रंग की पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक अकेला शलगम मछली मांस अंडा इत्यादि इन सभी में विटामिन के भरपूर मात्रा में होता है

मल्टीविटामिन दवाइयों की सूची – List of multivitamin supplements in Hindi

अक्सर हम जो खाना खाते हैं उससे हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन नहीं मिल पाते ऐसी स्थिति में विटामिन संबंधी रोग होना एक आम बात है इसलिए ऐसी स्थिति से बचने के लिए विटामिन सप्लीमेंट मल्टीविटामिन दवाइयों का प्रयोग किया जाता है।विटामिन सप्लीमेंट या मल्टीविटामिन दवाइयों का सेवन करने से यह हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं और किसी भी प्रकार की पोषक तत्व और विटामिन की कमी नहीं होने देते। इनका नियमित सेवन करने से हम विटामिन संबंधी रोगों से बड़ी ही आसानी से बच सकते हैं।मल्टीविटामिन दवाइयों की सूची निम्नलिखित हैयहां हमने उन सभी दवाइयों की सूची उपलब्ध कराई है जो दवाइयां अच्छी और कारगर है और यह किफायती भी हैं

  • एक्सटेंडलाइफ टोटल
  • नेचर मेड मल्टीविटामिन फॉर हिम
  • ऑप्टिम्म न्यूट्रिशन्स ऑप्टी-मेन
  • नाऊ फूड्स एड्म सुपीरियर मेन्स मल्टीपल विटामिन
  • रेनबो लाइट मेन्स वन मल्टीविटामिन
  • वन-अ-डे मेन्स हेल्थ फॉर्मूला
  • किर्कलैंड सिग्नेचर मैच्योर मल्टी 50+
  • जीएनसी मेगा मेन मल्टीविटामिन
  • जिग्सॉ कंप्लीट एसेंशिल डेली पैकेट्स
  • सेंट्रम सिल्वर

यह भी पढ़ें:- जंक फूड क्या है, जंक फूड खाने के नुकसान इत्यादि | Junk Food in Hindi 

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने विटामिन के बारे में संपूर्ण जानकारी बताई है जैसे कि विटामिन के स्रोत, विटामिन के प्रकार इत्यादि (Vitamin chart in hindi)

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आता है या आप क्या कोई सवाल या जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं धन्यवाद।