कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, इलाज, प्रकार इत्यादि | Cholesterol in Hindi

आज के समय में हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी एक बहुत ही आम बिमारी बन चुकी है भारत में 35 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्ति को cholesterol की बीमारी होना बहुत आम बात है जिसके कारण  व्यक्ति को हार्ट अटैक जैसी बीमारियां हो सकती हैं 

हम इस आर्टिकल में हम कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानकारी देंगे जैसे कि कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, कोलेस्ट्रॉल के इलाज, कोलेस्ट्रॉल के प्रकार इत्यादि (Cholesterol in Hindi)

Table of Contents

कोलेस्ट्रोल क्या है – What is cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल, वैक्स जैसा पदार्थ होता है जो लीवर से उत्पादित होता है इंसानों से लेकर जानवर तक में पाया जाता है इसका उपयोग शरीर में सेल के निर्माण में , हार्मोन के निर्माण में, बाइल जूस के निर्माण में होता है साथ ही फैट को डाइजेस्ट करने और सूर्य की किरणों से विटामिन डी बनाने में भी कार्बोहाइड्रेट का उपयोग होता है। कोलेस्ट्रोल का उपयोग शरीर में स्टेरॉइड्स  बनाने के लिए भी होता है जिससे शरीर को भारी कार्य को करने के लिए ऊर्जा मिलती है। cholesterol और प्रोटीन के मिश्रण को लिपॉप्रोटीन कहते हैं और लिपॉप्रोटीन हमारे ब्लड में घूमता रहता है।  

कोलेस्ट्रोल के प्रकार – Type of cholesterol in hindi

कोलेस्ट्रोल (cholesterol)  के प्रकार


कोलेस्ट्रॉल तीन प्रकार के होता है

  • LDL CHOLESTEROL -low density lipoprotein cholesterol (लो डेंसिटी लिपॉप्रोटीन कोलेस्ट्रोल)
  • HDL CHOLESTEROL -high density lipoprotein cholesterol (हाई डेंसिटी लिपॉप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल)
  • VLDL CHOLESTEROL-very low density lipoprotein cholesterol (वेरी लो डेंसिटी लिपॉप्रोटीन)

LDL कोलेस्ट्रॉल

LDL कोलेस्ट्रोल को खराब कोलेस्ट्रॉल भी कहते हैं। इसका उत्पादन liver द्वारा होता है इसका कार्य liver से फैट को शरीर के अन्य भागों जैसे मांसपेशियों, हृदय और ऊत्तको तक पहुंचाने का होता है जब हमारे शरीर में LDL cholesterol आवश्यकता से अधिक हो जाता है तब यह दिमाग और ह्रदय तक ब्लड पहुंचाने वाली धमनियों की अंदरूनी सतह पर जमना शुरू हो जाता है  जिसे प्लेग कहते हैं। जिसकी वजह से नशे पतली हो जाती हैं और बंद हो जाती हैं जिससे कई अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है जैसे हार्ट अटैक। 

HDL कोलेस्ट्रॉल

HDL कोलेस्ट्रॉल को अच्छा cholesterol भी कहते हैं इसका कार्य फैट को हृदय, मांसपेशियों और ऊतक तक पहुंचाना और फिर वापस लिवर के पास लाना होता है हमारे शरीर में HDL cholesterol की मात्रा अधिक होना हमारे हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।  

VLDL कोलेस्ट्रोल

VLDL कोलेस्ट्रोल LDL कोलेस्ट्रॉल से भी ज्यादा हानिकारक होता है जिसके कारण से हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियां होती हैं। 

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण – Causes of cholesterol in hindi

शरीर में कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) बढ़ने के कारण
  • अस्वस्थ खाना
  • मोटापा
  • व्यायाम न करना
  • स्मोकिंग
  • उम्र
  • डायबिटीज

अस्वस्थ खाना

कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर में सबसे ज्यादा हमारे खाने के द्वारा इकट्ठा होता है जो खाना हम खाते हैं उसमें भरपूर मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है। संतृप्त वसा से युक्त भोजन जैसे जानवरों का मांस तली हुई चीजें पॉपकॉर्न ट्रांसफर्ट आदि हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ते हैं। 

मोटापा

ऐसा ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि जो लोग ज्यादा मोटे होते हैं उनमें कोलेस्ट्रॉल बीमारी होने की संभावना ज्यादा होती है। इसलिए अगर व्यक्ति के शरीर का वजन बॉडी मास इंडेक्स (BMI) के अनुसार 30 या 30 से ज्यादा है तो उस व्यक्ति को कोलेस्ट्रॉल की बीमारी होने का खतरा बहुत अधिक है। 

व्यायाम न करना

एक्सरसाइज करने से शरीर में HDL कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है और LDL कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटता है। एक्सरसाइज ना करना, कोलेस्ट्रोल बीमारी होने का मुख्य कारण है। 

धूम्रपान

धूम्रपान करने से धमनियों की सतह पर बुरा प्रभाव पड़ता है और वहां जल्दी-जल्दी कोलेस्ट्रोल इकट्ठा होने लगता है साथ ही धूम्रपान करने से शरीर में HDL कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होता है। 

बढ़ती उम्र

समय के साथ-साथ जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती जाती है व्यक्ति के शरीर की कार्य करने की क्षमताऔ पर प्रभाव पड़ने लगता है जैसे जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती रहती है वैसे-वैसे शरीर में LDL कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने लगता है क्योंकि liver की LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता खत्म हो जाती है। 

डायबिटीज

शरीर में हाई ब्लड शुगर होने से VLDL कोलेस्ट्रोल होने का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ जाता है हाई ब्लड शुगर शरीर में LDL कोलेस्ट्रोल को कम करता है और धमनियों की परतों पर क्षति पहुंचाता है। 

वंशानुगत

कई बार लोगों के शरीर में लीवर द्वारा ही कोलेस्ट्रोल का अत्यधिक उत्पादन होने लगता है यह जन्मजात हो सकता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण – Symptoms of high cholesterol in Hindi

हाई कोलेस्ट्रॉल बीमारी के कोई भी लक्षण नहीं होते हाई कोलेस्ट्रॉल बीमारी का पता सिर्फ ब्लड टैस्ट के द्वारा ही लगाया जा सकता है। 

हाई कोलेस्ट्रोल का टैस्ट -How to check cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल के टैस्ट को करने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को 12 घंटे का उपवास रखना पड़ता है क्योंकि तभी कोलेस्ट्रोल का सही टैस्ट होता है अन्यथाउससे पहले जो आपने खाना खाया है उसका भी कोलेस्ट्रॉल आपकी रिपोर्ट में आ जाएगा।  

कोलेस्ट्रोल के टैस्ट में यह चार चीजें होती हैं

LDL cholesterol HDL cholesterolVLDL cholesterolTRIGLYCERIDE  

हाई कोलेस्ट्रोल (high cholesterol) का टैस्ट

अगर आप स्वस्थ हैं तो कम से कम हर 5 साल में अपना एक कोलेस्ट्रोल का टैस्ट जरूर करवाएं। 

हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी से बचने के लिए खाद्य सामग्री -Food to eat for cholesterol in Hindi

फलियां और दालें

फलियां और दालों में उचित मात्रा में फाइबर खनिज लवण और प्रोटीन होते हैं  अध्ययन से पता चला है दालें और फलिया वजन घटाने में भी सहायता करती हैं। अगर कोई व्यक्ति रिफाइंड ग्रेंस और प्रोसेस मांस का सेवन करने की बजाय दालो और फलों का सेवन करें तो हार्ट डिजीज होने का खतरा बहुत कम हो जाता है। 

Avocado

Avocado एक असाधारण फल है जिसमें मोनोसैचुरेटेड फाइबर समृद्ध मात्रा में होता है और यह दोनों ही पोषक तत्व खराब केलोस्ट्रोल को कम करते हैं और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं एक रिसर्च में जिसने हाई केलोस्ट्रोल की समस्या से ग्रस्त व्यक्ति को रोजाना एक एवोकाडो खाने के लिए दिया गया और जब 1 महीने के बाद उसका कोलेस्ट्रॉरोल टैस्ट किया गया तब उसने काफी सकारात्मक बदलाव थे। 

अखरोट और बादाम

बादाम में भरपूर मात्रा में मोनोसैचुरेटेड बसा होता है और अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं जो एक प्रकार का पॉलीअनसैचुरेटेड बसा होता है जो हमारे हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है। 

वसायुक्त मछली

सेलमन मछली में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो हमारे स्वास्थ्य को अच्छा रखने में मदद करता है ओमेगा 3 फैटी एसिड हमारे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं और गुड केलोस्ट्रोल को बढ़ाते हैं। एक अध्ययन में पता चला है कि वह लोग जो बिना तली हुई मछली खाते हैं उनमें हृदय संबंधी बीमारियां विकसित होने की संभावना कम होती है। 

फल

फल कई कारणों से हमारे हृदय के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा आहार है फल घुलनशील फाइबर से भरपूर होते हैं जो हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को को कम करने में मदद करते हैं। एक रिसर्च के अनुसार घुलनशील फाइबर जिसे पेक्टिन कहा जाता है कोलेस्ट्रॉल को 70 परसेंट तक कम कर सकता है साथ ही यह है सेब अंगूर खट्टे फल और स्ट्रौबरी जैसे फलों में पाया जाता है। 

Dark chocolate

कई शोध और रिसर्च में पता चला है कि डार्क चॉकलेट खाने से हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है लेकिन चॉकलेट में भरपूर मात्रा में चीनी  होती है जो हमारे हृदय के लिए अच्छी नहीं होती और डायबिटीज के मरीजों के लिए समस्या का कारण बन सकती है। 

सब्जियां

सब्जियों का सेवन ह्रदय और शरीर के स्वास्थ्य के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है हरी सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं और कैलरी कम होती है जो स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करती है। कुछ सब्जियों में पेक्टिन उचित मात्रा में होता है जो कोलेस्ट्रोल कम करने में मदद करता है इसलिए हाई कोलेस्ट्रॉल वाले मरीजों को सब्जी और सलाद का सेवन उचित मात्रा में करना चाहिए। 

सोया खाद्य पदार्थ

सोयाबीन एक प्रकार की फली होती है और यह ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद करती है। सोयाबीन में उचित मात्रा में प्रोटीन और विटामिन होता है जो हमारे शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

लहसुन

लहसुन का सेवन काफी समय से खाना पकाने में इस्तेमाल किया जा रहा है विशेष रुप से सर्दियों में लहसुन का उपयोग किया जाता है लहसुन में भिन्न भिन्न प्रकार के शक्तिशाली पोषक तत्व होते हैं जो हमारे हृदय की कार्य करने की क्षमता को बढ़ाते हैं और कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं साथ ही यह शरीर में उच्च रक्तचाप को कम करते हैं। 

यह भी पढ़ें:- Food poisoning in Hindi | फूड पॉइजनिंग के लक्षण, कारण, इलाज इत्यादि

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए इन सभी खाद्य पदार्थों को ना खाएं – Food to avoid for high cholesterol in Hindi

अंडे

अंडे पौष्टिक होते हैं और कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्रोत होते हैं अंडों में बहुत अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है जिससे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और अच्छा कोलेस्ट्रॉल कम होता है। 

लाल मांस

लाल मांस में संतृप्त वसा अधिक होता है और जो असामान्य रूप से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है जो हमारे हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। 

चीनी

केक, पेस्ट्री, मिठाइयां और आइसक्रीम आदि इन सभी चीजों में चीनी का उपयोग होता है और चीनी कोलेस्ट्रॉल का एक अच्छा सोर्स है और यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाती है जो हमारे हृदय के लिए अच्छा लिए अच्छा नहीं है। 

शराब 

शराब सभी प्रकार के ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ा सकता है बहुत अधिक शराब पीने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है और हमारे स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। 

कोल्ड ड्रिंक्स

Energy drink और कोल्ड ड्रिंक्स में बहुत अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए उचित नहीं होता साथ ही कोल्ड ड्रिंक हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता हैं और अच्छे कोलेस्ट्रॉल कम करता हैै।  

दूध और दूध से बनी चीजें

दूध और दूध से बनी चीजें में भरपूर मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है और यह हमारे शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को कम कर खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं इसलिए दूध का सेवन कम करना चाहिए लेकिन आप दूध का सेवन मलाई को निकाल कर सकते हैं या फिर आप डबल टोंड दूध का सेवन भी कर सकते हैं।  

क्या हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है – Is cholesterol is curable in Hindi

हाई केलोस्ट्रोल की बीमारी लंबे समय में विकसित होती है। हाई केलोस्ट्रोल की बीमारी जीवन शैली से जुड़े कारकों की वजह से होती है जैसे 

  • अस्वस्थ आहार का सेवन करने की आदत
  • व्यायाम की कमी 
  • धूम्रपान और 
  • अधिक मोटापा 

क्योंकि यह सभी कारक व्यक्ति और उसकी जीवन शैली पर निर्भर होते हैं तो इन सभी कारकों में बदलाव करके हम हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी पर नियंत्रण पा सकते हैं जैसे

  • अच्छा और पोषक आहार खाना 
  • वसायुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन 
  • रेशेदार खाद्य पदार्थों का सेवन 
  • पशु और पशुओं से बने उत्पादों का सेवन कम करना
  • तनाव के स्तर को कम करना
  • धूम्रपान ना करना 
  • नियमित रूप से व्यायाम करना और 
  • शरीर का वजन संतुलन में रखना 

इन सभी अच्छी आदतों को अपनाकर हम हाई कोलेस्ट्रोल की बीमारी पर नियंत्रण पा सकते हैं लेकिन इस स्थिति का कोई पूर्ण इलाज नहीं है।  कुछ रोगियों में हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी के इलाज के लिए दवाइयों का उपयोग भी किया जाता है परंतु दवाई लेना लंबे समय तक हानिकारक हो सकता है इसलिए हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी का सबसे अच्छा इलाज यही है कि अच्छी आदतों को अपनाना जिसमें से प्रमुख हैं खान-पान का ध्यान और अच्छा व्यायाम आदि। 

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचाव – How to prevent cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल की बीमारी होने का मुख्य कारण है अब पोषित भोजन करना और व्यायाम ना करना साथ ही कई अन्य कारण भी हैं परंतु अगर व्यक्ति नियमित रूप से व्यायाम करें और अच्छा पोषक आहार ले जिसमें वसा युक्त खाद्य पदार्थ और रेशेदार खाद्य पदार्थ हो तो हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी होने का खतरा बहुत कम हो जाता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए इन खाद्य पदार्थों को अपने खाने में शामिल करें -Food to lower cholesterol in Hindi

जैतून का तेल

कोलेस्ट्रॉल तेल की वजह से भी होता है इसलिए खाने में जैतून का तेल इस्तेमाल करना चाहिए जैतून का तेल इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रॉल नहीं होता। 

मछली

मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है और ओमेगा 3 फैटी एसिड के सेवन से हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी नहीं होती। 

ग्रीन टी

ग्रीन टी हाई कोलेस्ट्रॉल के लिए तो अच्छी है ही साथ ही अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी ग्रीन टी बहुत अच्छी होती है। 

प्याज

प्याज में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है साथ ही प्याज में कुछ ऐसे रसायन होते हैं जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करते हैं। 

आंवला

आंवला हमारे आंखों के लिए तो बहुत अच्छा होता ही है साथ ही आंवला खाने से हाई कोलेस्ट्रॉल की बीमारी नहीं होती है 

नारियल का तेल

नारियल के तेल का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की बीमारी नहीं होती है और शरीर स्वस्थ रहता है 

मूंगफली

मूंगफली हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती है और मूंगफली प्रोटीनयुक्त आहार है मूंगफली का सेवन करने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती है 

अखरोट 

अखरोट खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है और अखरोट खाने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती है 

बादाम

बादाम खाने से हमारा दिमाग तेज होता है और बादाम में बिल्कुल भी कोलेस्ट्रॉल नहीं होता साथ ही बादाम खाने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल कम होता है 

रेड वाइन

रेड वाइन का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है और रेड वाइन के सेवन करने से शरीर का पाचन तंत्र भी ठीक रहता है और कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती 

अंकुरित दालें

अंकुरित दालें प्रोटीन विटामिन से भरपूर होती हैं साथ ही अंकुरित दालें खाने से हमारे पाचन तंत्र ठीक रहता है और हाई कोलेस्ट्रॉल की होने का खतरा कम हो जाता है। 

लहसुन

लहसुन का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है लहसुन को सर्दियों में खाया जाना चाहिए क्योंकि लहसुन की तासीर गर्म होती हैक लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। 

सोयाबीन

सोयाबीन में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व जैसे विटामिन और प्रोटीन होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छे होते हैं सोयाबीन खाने से शरीर मजबूत होता है और व्यक्ति को कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती है। 

डेयरी उत्पाद

डेयरी उत्पाद में दूध, दही,घी, माखन आदि का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है अगर आपको दूध का सेवन करना ही है तो आप डबल टोंड दूध या स्किम्ड मिल्क ले सकते हैं। 

हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती हैं और सभी सब्जियों और फलों में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है ताजी सब्जियां और फल खाने से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए एक्सरसाइज – Exercise to lower cholesterol in Hindi

एक्सरसाइज करना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है एक्सरसाइज करने से व्यक्ति तंदुरुस्त हो जाता है साथ ही एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है इसलिए हमें नियमित रूप से एक्सरसाइज करते रहना चाहिए। कम से कम 1 हफ्ते डेढ़ घंटा एक्सरसाइज अवश्य करनी चाहिए एक्सरसाइज करने से दिल के दौरे पड़ने की संभावना बहुत कम होती है। जब हम भागते हैं तब हमारा हृदय बहुत तेजी से धड़कने लगता है जिससे हमारे शरीर का रक्त चाप तेजी से बढ़ने लगता है और जब यह रक्तचाप तेजी से बढ़ने लगता है तब धमनियों के आसपास जितना भी कोलेस्ट्रॉल जमा होता है वह तेज खून के बहाव के कारण वहां से हट जाता है इसलिए एक्सरसाइज करना बहुत आवश्यक है। 

भागना

भागने से हमारा शरीर स्वस्थ तो रहता ही है साथ ही नियमित रूप से रनिंग करने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है 

तैरना

तैरना स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है क्योंकि जब हम तैरते हैं तब हमारे शरीर के हर हिस्से का उपयोग होता है इससे हमारे हर शरीर के हिस्से पर जोर पड़ता है हमारा रक्तचाप बढ़ता है और जब रक्तचाप बढ़ता है तब कोलेस्ट्रॉल कम होता है। 

मॉर्निंग वॉक

मॉर्निंग वॉक हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है जब हम सुबह सुबह उठकर मॉर्निंग वॉक करते हैं तो हमारा पूरा शरीर फ्रेश हो जाता है और मॉर्निंग वॉक करने से शरीर में कैल्ट्रॉल कम होता है। 

 उठक बैठक

उठक बैठक करना स्वास्थ्य के लिए तो आवश्यक है ही साथ ही उठक बैठक करने से हमारी जागे मजबूत होती हैं हमारे पूरे शरीर पर जोर पड़ता है हमारा रक्तचाप बढ़ता है शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है। 

रस्सी कूद

रस्सी कूदना बहुत ही अच्छा और सिंपल खेल है जिसमें खेल-खेल में काफी अच्छे एक्सरसाइज हो जाती है और मजा भी आता है रस्सी कूदने से हमारे शरीर उछलता है और शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है अच्छे कोलेस्ट्रॉल  के लेवल बढ़ता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए योगा -Yoga for high cholesterol in Hindi

हाई केलोस्ट्रोल की बीमारी से निजात पाने के लिए लोग योगा का सहारा भी लेते हैं योगा करने से हमारी पूरी बॉडी स्वस्थ रहती है और हमारा शरीर स्वस्थ रहता है योगा करने से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है साथ ही योगा करने से हमें डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों में भी राहत मिलती है। 

हाई ब्लड प्रेशर से निजात पाने के लिए कुछ सबसे अच्छे योगा आसन 

  • ताड़ासन
  • पश्चिमोत्तानासन
  • सूर्य नमस्कार
  • चक्रासन
  • अर्ध चक्रासन
  • मत्स्यासन
  • गोमुखासन
  • सिंहासन
  • शवासन
  • अनुलोम विलोम
  • कपालभाति
  • ट्रायंगल पोज
  • कैट पोज
  • कैमल पोज

यह भी पढ़ें:- मधुमेह (Diabetes): लक्षण, उपचार और प्रारंभिक निदान

हाई कोलेस्ट्रोल की बीमारी के लिए आयुर्वेदिक दवा -Ayurvedic medicines for cholesterol in Hindi

आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज है आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज किया जाता है आयुर्वेद का एक फायदा यह भी है कि जड़ी बूटियों का दुष्प्रभाव बहुत कम होता है ना के बराबर। रिसर्च में पाया गया है कि यह सभी जड़ी बूटियां हाई केलोस्ट्रोल की बीमारी के इलाज में काम आती है साथी इन जड़ी बूटियों के अनेक फायदे हैं और साइड इफेक्ट बहुत कम है।

  • अश्वगंधा
  • शिलाजीत
  • गिलोय
  • मुस्तदी घनवटी 
  • त्रिफला
  • गूगल

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने कोलेस्ट्रॉल के बारे में संपूर्ण जानकारी बताई है जैसे कि कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, कोलेस्ट्रॉल के इलाज, कोलेस्ट्रॉल के प्रकार इत्यादि (Cholesterol in Hindi)

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आता है या आप क्या कोई सवाल या जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं धन्यवाद।

प्रश्न और उत्तर

क्या शराब पीने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है?

एल्कोहल का एक लिमिट में सेवन कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा होता है क्योंकि अल्कोहल का सेवन करने से हमारे शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है लेकिन अगर व्यक्ति ज्यादा अल्कोहल का सेवन करता है तो इसका साइड इफेक्ट भी हो सकता है क्योंकि एल्कोहल कोलेस्ट्रॉल के साथ-साथ शरीर में ट्राइग्लिसराइड को भी बढ़ाएगा जो शरीर के स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है।

LDL Cholesterol कितना होना चाहिए?

एलडीएल कोलेस्ट्रॉल सामान्य व्यक्ति में 100 मिलीग्राम पर डिसिलिटर होना चाहिए परंतु जिस व्यक्ति को एक बार हार्ट अटैक आ चुका है उस व्यक्ति के लिए एलडीएल कोलेस्ट्रॉल 75 मिलीग्राम प्रति लीटर से कम होनी चाहिए।

क्या कोलेस्ट्रॉल में दही खा सकते हैं?

जिस व्यक्ति को कोलेस्ट्रॉल की बीमारी है उसे दही और दूध से बने किसी भी प्रकार के उत्पाद का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए क्योंकि दूध में बहुत अधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है लेकिन इसका एक उपाय यह है कि व्यक्ति स्किम्ड मिल्क या डबल टोंड दूध का उपयोग करें उस से दही जमाए तो व्यक्ति दही खा सकता है

क्या बादाम खाने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है?

बादाम खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है साथ ही बादाम खाने से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता बल्कि बादाम खाना हाई कोलेस्ट्रॉल बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति के लिए बहुत अच्छा माना जाता है बदाम में कुछ ऐसे रसायन होते हैं जो बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से क्या दिक्कत होती है?

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से कोलेस्ट्रॉल धमनियों की सतह पर जाकर चिपक जाता है और धमनियां सिकुड़ जाती हैं जिसकी वजह से व्यक्ति को हार्ट अटैक आने की संभावना बढ़ जाती है।

कोलेस्ट्रॉल की कमी से क्या होता है?

कोलेस्ट्रॉल की कमी से क्या होता है कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता हमारे शरीर को ऊर्जा देना और शरीर में स्टेरॉइड्स का उत्पादन करना होता है स्टेरॉइड्स के उत्पादन से व्यक्ति भारी-भारी कामों को आसानी से कर लेता है।

शरीर में कोलेस्ट्रॉल कैसे बढ़ता है

शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अस्वस्थ खाना खाने की आदतें, धूम्रपान, नियमित रूप से व्यायाम न करना, मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कई अन्य बीमारियां।

संदर्भ (References):

  Harvard Health Publishing. (n.d.). Cholesterol. Harvard Health. https://www.health.harvard.edu/topics/cholesterol

  Dietary cholesterol and the lack of evidence in cardiovascular disease. (n.d.). PubMed Central (PMC). https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6024687   Role of cholesterol as a risk factor in cardiovascular diseases. (2018, November 5).

IntechOpen – Open Science Open Minds | IntechOpen. https://www.intechopen.com/books/cholesterol-good-bad-and-the-heart/role-of-cholesterol-as-a-risk-factor-in-cardiovascular-diseases  

Dietary cholesterol and cardiovascular disease: A systematic review and meta-analysis. (2015, June 24). OUP Academic. https://academic.oup.com/ajcn/article/102/2/276/4