सफेद पानी की रामबाण दवा | Leucorrhoea ki dawa

अक्सर महिलाओं को योनि से सफेद पानी आने की समस्या रहती है इसे आमतौर पर लिकोरिया या फिर (vaginal discharge) वेजाइनल डिस्चार्ज कहते हैं। आमतौर पर जिन महिलाओं को योनि से सफेद पानी आने की समस्या होती है। उन्हें इस वजह से तरह-तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 

वैसे तो योनि से सफेद पानी का आना सामान्य बात है परंतु जब योनि से अत्यधिक मात्रा में सफेद पानी आने लगे, सफेद पानी आने के साथ साथ महिलाओं को योनि में जलन होना, दर्द होना, खुजली होना, डिस्चार्ज से बदबू आना इत्यादि समस्याएं होने लगे तो समझ जाना चाहिए कि यह सामान्य वजाइनल डिस्चार्ज नहीं है।

ऐसी स्थिति में आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए, डॉक्टर इस डिस्चार्ज की जांच करेंगे, पता लगाएंगे कि डिस्चार्ज किस कारणवश हो रहा है और इस डिस्चार्ज को ठीक करने के लिए दवाई देंगे। 

परंतु क्या आप जानते हैं? कि आप साफ सफाई का ध्यान रखकर और घरेलू नुस्खों का उपयोग करके भी इस समस्या से बड़ी ही आसानी से मुक्ति पा सकते हैं।

हम इस आर्टिकल में योनि से सफेद पानी आने की समस्या के बारे में जानकारी देंगे जैसे कि सफेद पानी की रामबाण दवा, सफेद पानी आने की समस्या के क्या क्या कारण है इत्यादि (Leucorrhoea ki dawa)

सफेद पानी आना क्या है – What is Leucorrhoea in Hindi

आमतौर पर महिलाओं की योनि से सफेद चिपचिपा पदार्थ निकलता है इसे आम भाषा में लिकोरिया होना या सफेद पानी निकलना बोला जाता है। सफेद पानी एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो वजाइना में से डिस्चार्ज होता है इसका निर्माण पानी, म्यूकस, कुछ डेड सेल्स और बैक्टीरिया से होता है।

योनि से सफेद पानी आना एक सामान्य बात है 2 से 5 एम एल तक वजाइना से डिस्चार्ज होना सामान्य है अगर डिस्चार्ज एकदम सामान्य है, सफेद है और उसमें किसी भी प्रकार की कोई बदबू नहीं है तथा डिस्चार्ज से आपको किसी भी प्रकार की कोई खुजली, जलन इत्यादि नहीं है तो यह डिस्चार्ज एकदम नॉर्मल है।

महिलाओं में सफेद पानी कितनी मात्रा में निकलता है यह किसी भी महिला के स्वास्थ्य पर निर्भर करता है तथा यह हर महिला के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकता है। तथा कुछ परिस्थितियों में शरीर में से सफेद पानी अधिक निकलने लगता है जैसे

  • गर्भावस्था के समय
  • एग रिलीज होने के समय (ओवुलेशन)
  • आप गोलियां खा रहे हो जैसे गर्भनिरोधक दवाइयां

इन सभी परिस्थितियों में महिलाओं को सफेद पानी अधिक मात्रा में निकलता है और यह पूर्ण रूप से सामान्य है इसमें कोई घबराने की बात नहीं है।

अगर आपको निम्नलिखित परिस्थितियां हो रही हैं तब आप समझ जाएं कि सफेद पानी का निकलना सामान्य नहीं है।

  • सफेद पानी निकलने के साथ-साथ वजाइना के आसपास खुजली होना
  • वजाइना का लाल होना
  • वजाइना पर जलन होना
  • सफेद पानी में से बदबू आना
  • सफेद पानी गाढ़ा गाढ़ा निकलना
  • सफेद पानी में झाग बनना

अगर आपको निम्नलिखित लक्षण महसूस हो रहे हैं तो आप तुरंत समझ जाएं कि आपको सामान्य डिस्चार्ज नहीं हो रहा है असामान्य डिस्चार्ज है।

सफेद पानी आने के लक्षण – Leucorrhoea symptoms in Hindi

सफेद पानी की समस्या होने पर आपको इसके अलावा कई अन्य प्रकार के लक्षण भी हो सकते हैं अगर आपको यह सभी लक्षण हो रहे हैं। तो आप समझ जाएं कि आपको सामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज नहीं हो रहा है। असामान्य वजाइनल डिस्चार्ज होने पर आपको निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं।

  • वजाइना का लाल होना
  • वजाइना पर जलन होना
  • सफेद पानी में से बदबू आना
  • सफेद पानी गाढ़ा गाढ़ा निकलना
  • सफेद पानी में झाग बनना
  • सफेद पानी में हल्का हरा या पीला कुछ निकलना
  • निचले हिस्से में दर्द रहना
  • संभोग करते समय तेज जलन होना
  • पार्टनर को संभोग करने के बाद लिंग पर जलन होना या लिंग का छिल जाना
  • सफेद पानी निकलने के साथ-साथ हल्का हल्का बुखार आना
  • पेशाब बार बार आना
  • पेशाब करते समय जलन होना
  • योनि में चिड़चिड़ापन होना
  • चक्कर आना
  • भूख न लगना
  • बार-बार पेशाब आना
  • पेट में भारीपन रहना
  • जी मचलना लाना
  • हाथ पैर में दर्द रहना
  • कमर दर्द होना

सफेद पानी आने के कारण क्या है – Leucorrhoea causes in Hindi

महिलाओं में से सफेद पानी के निकलने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से प्रमुख कारण है योनि में किसी प्रकार का कोई इन्फेक्शन होना पूरे रिप्रोडक्टिव सिस्टम में अगर आपको कहीं पर किसी प्रकार का कोई इंफेक्शन है या फिर बच्चादानी या योनि में कोई इंफेक्शन है तो आपको सफेद पानी निकलने की समस्या हो सकती है।

संभोग करते समय कंडोम जैसे अन्य पदार्थों का उपयोग करने पर भी ऐसी चीजों से रिएक्शन हो सकता है जिस कारण वर्ष की महिलाओं को योनि से सफेद पानी निकलने की समस्या हो सकती है।इसके अलावा अगर आपने किसी प्रकार का कोई नया उत्पाद उपयोग किया है या कोई अन्य चीज का इस्तेमाल किया है और उसके बाद आपको इस प्रकार के लक्षण हो रहे हैं तो आप समझ जाएं कि यह उस उत्पाद के उपयोग से हो रहे हैं।

अगर किसी महिला को सफेद पानी आने की समस्या है तो ज्यादातर संभावना यह है कि उसे निम्नलिखित में से किसी कारणवश सफेद पानी आने की संभावना हुई है लेकिन ज्यादातर मामलों में सफेद पानी आने की समस्या बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से ही होती है।

सफेद पानी आने का इलाज क्या है – Leucorrhoea treatment in hindi

अगर आपको सफेद पानी आने की समस्या आ रही है तो और आप इससे काफी परेशान है और यह असामान्य सफेद पानी आने की समस्या है तो आप एक अच्छे डॉक्टर से मिले क्योंकि सफेद पानी आने की समस्या कई गंभीर कारणों से भी हो सकती है इस चीज को नजरअंदाज ना करें।

आप चाहे तो नीचे दिए गए घरेलू उपायों का प्रयोग भी कर सकते हैं परंतु अगर आपको घरेलू उपायों का प्रयोग करने के 1 हफ्ते में भी किसी प्रकार की कोई राहत नहीं मिलती तो आपको डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए अगर हो सके तो किसी अच्छी महिलाओं की विशेषज्ञ डॉक्टर से मिले।

इसके साथ साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि अगर आपके पार्टनर को संभोग करने के बाद अपने लिंग पर किसी प्रकार की कोई जलन महसूस होती है या फिर कट लग जाते हैं तो उन्हें भी इलाज की जरूरत है।

नहीं तो अगर सिर्फ महिला का ही इलाज किया जाएगा तो जब पुरुष दुबारा संभोग करेगा तो यह इंफेक्शन दोबारा होने लगेगा।

सफेद पानी आने का घरेलू इलाज – Home remedies for Leucorrhoea in Hindi

धनिया

सुबह के समय दो चम्मच धनिया पाउडर ले ले उसे डेड गिलास पानी में उबाल लें और जब वह खौलते खौलते। बहुत थोड़ा सा रह जाए उसे छानकर खाली पेट पी लें यह क्रिया मात्र 10 दिन करनी है आपको तीसरे दिन में ही आराम आ जाएगा परंतु आपको लगातार इस क्रिया को 10 दिन करना है 10 दिन इस क्रिया को करने से आपको सफेद पानी की समस्या दोबारा होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

आंवला

दो आंवले लीजिए उन दोनों आंवलों को काट लीजिए उनको काटने के बाद डेड गिलास पानी में उबलने दीजिए और जब यह उबलकर आधा कप रह जाए। तब इसे खाली पेट पीजीऐ आपको इस क्रिया को मात्र 10 दिन करना है आपको शुरूआत के 2 दिन में ही आराम मिल जाएगा परंतु आपको इस क्रिया को 10 दिनों तक करना है।

सिंघाड़े

रोजाना 6 से 10 कच्चे सिंघाड़े खाएं सफेद पानी की समस्या में सिंघाड़े खाना लाभदायक होता है नियमित रूप से अगर आप 10 दिन 6 से 10 सिंघाड़े खाते हैं तो आपको अवश्य लाभ होगा। आप चाहे तो सिंघाड़े के आटे को दही में मिलाकर भी खा सकते हैं।

कपूर और केला

सुबह-सुबह चने के दाने के बराबर की मात्रा में कपूर को लें और इसे एक पके हुए केले में डालकर केले समेत इसे पूरा खा जाएं आप ऐसा मात्र 3 दिन करें सफेद पानी की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।

खजूर के पत्ते

बागानों और खेत खलिहान में खजूर के पेड़ आसानी से मिल जाते हैं खजूर के पेड़ के पत्ते आगे से नुकीले होते हैं उनको काट लाएं उनके छोटे-छोटे टुकड़े करके उन्हें कढ़ाई में डाल दें और उन्हें कढ़ाई में अच्छी तरीके से बिना चिकनाई डाले भूनें। जब आप इन पत्तों को बहुत अधिक ढूंढते हैं तब यह पत्ते सफेद रंग की राख में बदल जाते हैं इस राख को आप सुबह और दोपहर दूध दही या छाछ में डालकर सेवन करें आपको सफेद पानी की समस्या दोबारा कभी नहीं होगी।

नारियल के जूट

नारियल के ऊपर इससे पर जूट होता है उस जूट को आप खजूर के पत्तों की तरह कढ़ाई में डालकर काफी देर तक भुजे और जब यह सफेद रंग की राख में बदल जाए तब उस राख को शीशी में भरकर रख लें। और सुबह दोपहर आधी आधी चम्मच दूध दही या लस्सी के साथ सेवन करें सफेद पानी की समस्या दोबारा कभी नहीं होगी।

सफेद पानी आने से बचाव – Leucorrhoea prevention in Hindi

अक्सर महिलाओं में सफेद पानी आने की समस्या काफी सामान्य है। अगर आपको पहले कभी योनि से सफेद पानी आने की समस्या हुई है और आप चाहते हैं कि अब ऐसा दोबारा ना हो तो आप निम्नलिखित बचाव अपना सकते हैं।

  • अगर आपको अपने वजाइना को बार-बार धोने की आदत है तो आप ऐसा ना करें क्योंकि आप अपने वजाइना को जितनी बार भी अंदर तक साफ करते हैं तो वजाइना में जरूरी बैक्टीरिया जो वजाइना के लिए लाभदायक होता है वजाइना की पीएच को मेंटेन करता है वह भी साफ हो जाता है जिस वजह से वजाइना में संक्रमण होने की संभावना बढ़ जाती है। दिन में एक से दो बार वजाइना को साफ करना बहुत है इससे ज्यादा वजाइना को साफ ना करें।
  • जब भी आप वजाइना को अच्छे से साफ करें तो हमेशा एक अच्छे और साफ धुले हुए टॉवल का इस्तेमाल करें आप चाहे तो टिशू पेपर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं पर इस बात का ध्यान रखें कि किसी पेपर में किसी प्रकार का कोई केमिकल ना हो और ना ही पेपर सेंट वाला हो।
  • वजाइना को साफ करते समय इस बात का ध्यान रखें कि वजाइना को हमेशा आगे से पीछे की तरफ साफ करें कभी भी वजाइना को पीछे से आगे की तरह साफ ना करें ऐसा करने से लैट्रिन के रास्ते में जितने भी बैक्टीरिया होते हैं वह वजाइना की तरफ ट्रांसफर हो जाते हैं और वजाइना में संक्रमण बनने की संभावना बढ़ जाती है जिस कारण वश अलग-अलग प्रकार के बजाना के इंफेक्शन हो सकते हैं।
  • बहुत ज्यादा परफ्यूम वाले साबुन का इस्तेमाल वजाइना पर नहीं करना है आप चाहे तो कम परफ्यूम वाले साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं पर जितना हो सके बिना परफ्यूम वाले साबुन का इस्तेमाल करें।
  • इसके अलावा अपनी वजाइना पर कभी भी अलग-अलग प्रकार के स्प्रे और पाउडरओं का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • जितने भी खुशबूदार प्रोडक्ट होते हैं उनको वजाइना पर अप्लाई करने से बचना है।
  • जितनी बार भी आप संभोग करते हैं संभोग करने के बाद अपने वजाइना को साफ करना चाहिए ऐसा करने से आप वजाइना में होने वाले कई प्रकार के संक्रमणों से बच सकते हैं।
  • जब भी आप अपने वजाइना को साफ करते हैं तब उसे हमेशा सुखाना चाहिए वजाइना को कभी भी गिला नहीं छोड़ना चाहिए इससे संक्रमण होने की संभावना बढ़ती है।
  • जब भी आपके पीरियड आते हैं तो एक सैनिटरी पैड को 3 से 4 घंटे तक ही इस्तेमाल करें इससे ज्यादा इस्तेमाल ना करें कई बार महिलाएं पीरियड्स के अंतिम दिनों में एक पेड़ को पूरे पूरे दिन लगाए रखते हैं ऐसा करने से संक्रमण होने की संभावना बढ़ती है।
  • वजाइना को साफ करने के लिए कभी भी अत्यधिक गर्म पानी का इस्तेमाल नहीं करना है अत्यधिक गर्म पानी का इस्तेमाल करने पर समस्या हो सकती है आप हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सफेद पानी के इलाज की दवाई – Medicine for Leucorrhoea in Hindi

बाजार में सफेद पानी के इलाज के लिए कई प्रकार की दवाइयां उपलब्ध है परंतु आप आयुर्वेदिक दवाइयों का प्रयोग करें तो आपको अधिक से अधिक लाभ होगा और कम से कम दुष्प्रभाव होंगे। सफेद पानी के इलाज में उपयोग होने वाली दवाइयों के नाम

  • अशोकारिष्ट
  • पत्रांगासव 
  • स्त्री रसायन वटी
  • चंद्रप्रभा वटी

आप किसी भी दवाई का उपयोग बिना डॉक्टर की सलाह ना करें ऐसा करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है हमने यहां कुछ आयुर्वेदिक दवाइयों के सूची दी है क्योंकि आयुर्वेदिक दवाइयों के दुष्प्रभाव ना के बराबर होते हैं।

डॉक्टर से कब मिले

महिलाओं में योनि मार्ग द्वारा सफेद पानी आने की समस्या काफी सामान्य है परंतु जब यह डिस्चार्ज अधिक मात्रा में होने लगता है या फिर बदबूदार होने लगता है तो यह किसी ना किसी बीमारी की वजह से होता है। अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से मिले और डॉक्टर से जांच कराएं। जिन जिन परिस्थितियों में डॉक्टर से मिलना चाहिए वे निम्नलिखित हैं।

  • जब आपको बिना किसी कारण सफेद पानी आने लगे
  • सफेद पानी आने के साथ साथ ही आपको योनि में जलन होने लगे
  • योनि से अधिक बदबू आने लगे
  • योनि से गाढ़ा गाढ़ा सफेद पानी निकलने लगे।

इन सब परिस्थितियों में आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए डॉक्टर आप की जांच कर, आपको योनि से सफेद पानी निकलने की समस्या से निजात दिलाने के लिए कुछ दवाइयां देगा जिन दवाइयों को आप समय पर खाएं तो आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने योनि से सफेद पानी आने के बारे में जानकारी दिया है जैसे कि सफेद पानी की रामबाण दवा, सफेद पानी आने की समस्या के क्या क्या कारण है इत्यादि (Leucorrhoea ki dawa)

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आता है या आप क्या कोई सवाल या जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं धन्यवाद।