पेनिस पर सरसों के तेल लगाने के फायदे और नुकसान | Penis par sarso ka tel lagane k fayde or nuksan

पेनिस पर सरसों तेल के फायदे और नुकसान :- पेनिस हमारे शरीर का बहुत सेंसिटिव भाग है अगर हमारे पेनिस को हल्की सी भी चोट लग जाए तो हमें बहुत दर्द होता है। जब कोई व्यक्ति सेक्स करता है तो उसे बहुत आनंद आता है परंतु अगर व्यक्ति का पेनिस ढंग से खड़ा ही नहीं हो या पेनिस में ढीलापन जैसी समस्या हो तो व्यक्ति को सरसों के तेल से पेनिस की मसाज करनी चाहिए। 

ऐसा करने से पेनिस की नसें मजबूत और अधिक सक्रिय हो जाती हैं तथा उनमें ब्लड फ्लो बढ़ जाता है जिसकी वजह से जब व्यक्ति सेक्स करता है तब उसका पेनिस खड़ा रहता है और व्यक्ति सेक्स का भरपूर आनंद ले पाता है। सिर्फ इतना ही नहीं, पेनिस पर सरसों का तेल लगाने से कई सारे लाभ होते हैं।

हम इस आर्टिकल में पेनिस पर सरसों के तेल लगाने के बारे में जानकारी देंगे जैसे कि पेनिस पर सरसों के तेल लगाने के फायदे और नुकसान इत्यादि (Penis par sarso ka tel lagane k fayde or nuksan)

पेनिस पर सरसों का तेल लगाने के फायदे – Penis par sarso ka tel lagane k fayde

olive oil pour 1296x728 header

सरसों का तेल भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में प्राचीन समय से खाने और औषधियां बनाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। सरसों का तेल बहुत गुणकारी है इसलिए इसे अलग-अलग प्रकार की औषधियां बनाने के साथ-साथ मालिश करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है क्योंकि सरसों के तेल से मालिश करने से कई प्रकार की बीमारियों का इलाज होता है। 

सरसों के तेल को पेनिस पर लगाकर मालिश करने से निम्नलिखित लाभ होते हैं।

लाभदायक तत्वों से भरपूर है

सरसों के तेल में मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड्स, ओमेगा 3 फैटी एसिड्स, विटामिन ई और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड्स भरपूर मात्रा में होते हैं जो सरसों के तेल को एक एंटीमाइक्रोबॉयल और एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट बनाते हैं। 

नसों को गर्माहट प्रदान करता है

सरसों के तेल की तासीर गर्म होती है जिसकी वजह से जब सरसों की तेल की मालिश पेनिस पर की जाती है तो यह रक्त वाहिकाओं को गर्माहट प्रदान करता है जिससे पेनिस की नसों को आराम तथा गर्माहट मिलती है और पेनिस की नसों की कार्य क्षमता अत्यधिक बढ़ जाती है।

पेनिस में ब्लड सरकुलेशन को बढ़ाता है

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश करने से पेनिस की नसों में खून का संचारण बढ़ जाता है और पेनिस की नसें भी काफी मजबूत हो जाती हैं जिसकी वजह से जब व्यक्ति संभोग करता है तब पेनिस में भरपूर मात्रा में ब्लड सरकुलेट हो पाता है जिसकी वजह से संभोग के दौरान पेनिस बड़ा हो जाता है। जिससे सेक्स करने में बहुत आनंद आता है।

पेनिस ज्यादा समय तक खड़ा रहता है

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन की एक रिपोर्ट में यह बताया गया है कि सरसों के तेल को खाने से ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियों से राहत मिलती है और हृदय ब्लड सरकुलेट बहुत अच्छी तरीके से कर पाता है और जब हमारे शरीर का ब्लड सरकुलेशन बढ़िया होगा तब हमारे पेनिस का ब्लड सरकुलेशन भी बहुत अच्छा होगा जिसकी वजह से सेक्स के दौरान पेनिस पर्याप्त समय के लिए खड़ा रहेगा।

जल्दी डिस्चार्ज नहीं होता

जब कोई व्यक्ति सेक्स करने के लिए उत्तेजित होता है उस समय पेनिस का आकार बढ़ने लगता है क्योंकि पेनिस में मौजूद रक्त वाहिकाओं में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है जिसकी वजह से पेनिस बड़ा और कठोर हो जाता है। 

परंतु कुछ लोगों में ऐसा नहीं होता या फिर कम होता है परंतु अगर आप सरसों के तेल से सही तरीके से पेनिस की मालिश करते हैं तो आपको ऐसी समस्या नहीं आएगी बल्कि आपके पेनिस का आकार तो बढ़ेगा ही इसके साथ-साथ आपका पेनिस लंबा और मोटा हो जाएगा और पेनिस की नसें भी मजबूत हो जाएंगी जिसकी वजह से आप जल्दी डिस्चार्ज नहीं होंगे और सेक्स टाइम बढ़ जाएगा।

पेनिस का आकार बढ़ जाता है

वैसे अभी तक कोई ऐसा ठोस प्रमाण नहीं है जिसके द्वारा यह बताया जा सके कि क्या सरसों के तेल की मालिश करने से पेनिस का आकार बढ़ जाता है परंतु हां, यह बात 100% सच है कि पेनिस की सक्रियता बढ़ जाती है तथा पेनिस ज्यादा लंबे समय तक खड़ा रहता है।

सेक्स रोग से बचाता है

सेक्स करते समय सरसों का तेल पेनिस पर लगाने से तथा सरसों के तेल से पेनिस की मालिश करने से कई प्रकार के यौन रोगों द्वारा बचा जा सकता है। योन रोग जैसे पेनिस का ढीलापन, पेनिस में कमजोरी, पेनिस का टेढ़ापन और शीघ्रपतन।

स्किन क्रीम की तरह भी काम करता है

सरसों के तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन E होता है और यह थोड़ा गाढ़ा भी होता है इस वजह से इसे एक प्राकृतिक स्किन क्रीम भी माना जाता है।

पेनिस को गोरा करता है

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश करने से पेनिस की त्वचा गोरी हो जाती है।

मॉइस्चराइज़र क्रीम की तरह भी उपयोग किया जाता है

सरसों के तेल को मॉइस्चराइज़र क्रीम की तरह भी उपयोग किया जाता है, इसलिए जब आप सरसों के तेल को पेनिस पर लगाते हैं तथा पेनिस की मालिश करते हैं तो इससे पेनिस मॉइस्चराइज हो जाता है तथा पेनिस का सूखापन दूर होता है।

बैक्टीरियल तथा फंगल इंफेक्शन से बचाता है

चाहे आप सरसों के तेल को खाएं या सरसों के तेल को पेनिस पर लगाएं यह दोनों ही प्रकार से हमारे शरीर के लिए लाभदायक है सरसों का तेल पेट, आंत और पाचन तंत्र में उपस्थित बैक्टीरिया तथा इंफेक्शन से लड़ता है और पेनिस पर सरसों का तेल लगाने से पेनिस पर किसी भी प्रकार का बैक्टीरियल इनफेक्शन और फंगल इन्फेक्शन नहीं होता।

पेनिस की उत्तेजना को बढ़ाता है।

जिस प्रकार चुस्त और फुर्तीला रहने के लिए हमारे शरीर को नियमित एक्सरसाइज और मालिश की आवश्यकता होती है उसी प्रकार चुस्त और फुर्तीला रहने के लिए हमारे पेनिस को भी नियमित एक्सरसाइज और मालिश की आवश्यकता होती है इसके साथ साथ ही अगर मालिश सरसों के तेल से की जाए तो यह काफी उत्तम होता है सरसों के तेल से पेनिस की मालिश करने पर फायदे 4 गुना हो जाते हैं।

सेक्स टाइम को बढ़ाता है

नियमित रूप से 4 से 10 मिनट तक सरसों के तेल से पेनिस की मालिश करने पर पेनिस कठोर मजबूत मोटा और लंबा हो जाता है तथा सेक्स का टाइम भी काफी हद तक बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें:- लिंग पर वेसलीन लगाने के लाभ और नुकसान | ling pe vaseline lagane k fayde or nuksaan

पेनिस पर सरसों के तेल के नुकसान – Penis par sarso ka tel lagane k nuksaan

बहुत सारे लोगों को ऐसा लगता है कि पेनिस पर सरसों का तेल लगाने से दुष्प्रभाव होते हैं परंतु ऐसा कुछ भी नहीं है। पेनिस पर सरसों के तेल से मालिश करने पर किसी भी प्रकार के कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं।

परंतु अगर आप मालिश करते समय पेनिस को ज्यादा जोर से रगड़े या फिर उल्टे सीधे तरीके से हिलाते हैं या फिर पेनिस के साथ जबरदस्ती करते है तो पेनिस में नुकसान हो सकता है। पेनिस के साथ कभी भी जोर जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए।

पेनिस की मालिश के दौरान कभी भी पेनिस को उल्टा सीधा टेडा-मेडा ना करे, हल्के हाथों से प्यार से पेनिस की मालिश करें।

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए – Precautions Before Applying Mustard oil on penis in Hindi

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश करते समय हमें कई बातों का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि पेनिस हमारे शरीर का एक ऐसा अंग है जो बहुत ज्यादा सेंसिटिव है अगर पेनिस पर हल्की सी भी चोट लग जाती है तो हमें बेहद दर्द होता है इसलिए जब भी सरसों के तेल से पेनिस की मालिश करें तब निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।

  • पेनिस की मालिश हमेशा हल्के हाथों से करें, प्यार से धीरे-धीरे।
  • पेनिस के साथ कभी भी जोर जबरदस्ती या खींचातानी करने का प्रयास ना करें।
  • पेनिस पर किसी भी प्रकार की चोट लगने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।
  • पेनिस को टेढ़ा मेढ़ा बिल्कुल ना करें।
  • कभी भी ज्यादा गर्म तेल से पेनिस की मालिश ना करें आप सामान्य सरसों के तेल से पेनिस की मालिश कर सकते हैं या फिर सरसों के तेल को हल्का गुनगुना कर सकते हैं तेल को ज्यादा गर्म ना करें।

यह भी पढ़ें:- Sex problems in men in Hindi | पुरुषों की सेक्स समस्याएं

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश का सही तरीका – How to Massage Penis using Mustard oil in Hindi

पेनिस पर सरसों के तेल की मालिश करने का सही तरीका है सबसे पहले पानी तथा साबुन की मदद से पेनिस को अच्छी तरीके से साफ कर लिया जाए अगर संभव हो तो हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें उसके बाद साफ कपड़े द्वारा पेनिस को अच्छी तरीके से सुखा लें।

  • अब सरसों के तेल को अपने हाथों पर अच्छी तरीके से लगाएं और हाथों को आपस में रगड़ें।
  • उसके बाद दोनों हाथों से पेनिस के अगले भाग को मसाज करें और फिर थोड़ा सा और तेल लेकर पेनिस के पिछले भाग को मसाज करें।
  • इसके बाद हल्के हाथों से पेनिस को पकड़कर धीरे-धीरे आगे की तरफ खींचें ऐसा 10 से 15 बार करें परंतु धीरे-धीरे, जोर ना लगाएं।
  • ऐसे ही 10 से 15 बार हल्के हाथों से पेनिस के अगले भाग से पिछले भाग की तरफ धकेलें।
  • इसके बाद हाथों में थोड़ा सा और तेल लेकर पेनिस के निचले भाग पर लगाएं अपने एक हाथ से पेनिस को थोड़ा सा ऊपर की तरफ उठाएं तथा निचले भाग पर अच्छी तरीके से ऊपर तथा नीचे दोनों तरफ मसाज करें।
  • ऐसा नियमित रूप से कम से कम 10 से 15 मिनट तक करना है ऐसा करने से आपको लगभग 2 महीने के अंदर बहुत अच्छे रिजल्ट प्राप्त होंगे आपका पेनिस बड़ा मजबूत और सख्त हो जाएगा जिससे आपके महिला पार्टनर को बहुत आनंद आएगा तथा आप भी सेक्स का भरपूर आनंद ले पाएंगे।

निष्कर्ष – Conclusion

इस आर्टिकल में हमने पेनिस पर सरसों के तेल लगाने के बारे में जानकारी दिया है जैसे कि पेनिस पर सरसों के तेल लगाने के फायदे और नुकसान इत्यादि (Penis par sarso ka tel lagane k fayde or nuksan)

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आता है या आप क्या कोई सवाल या जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं धन्यवाद।