गोमूत्र के फायदे और नुकसान | Gomutra ke fayde or nuksan

हमारा आयुर्वेद बहुत महान है हमारे आयुर्वेद में दुनिया की लगभग हर बीमारी का इलाज है और आजकल तो लोग अन्य दवाइयों को छोड़कर आयुर्वेदिक दवाइयों और प्राकृतिक दवाइयों का प्रयोग ज्यादा करते हैं क्योंकि इन दवाइयों का दुष्प्रभाव भी बहुत कम होता है। आयुर्वेद में गोमूत्र का सेवन करना काफी लाभदायक माना गया है और यह बात वैज्ञानिक रूप से भी सत्य है तथा कई शोध और रिसर्चरों ने भी इस बात को सुनिश्चित किया है।

इस आर्टिकल में हम गोमूत्र के बारे में बात करेंगे और गोमूत्र के बारे में सभी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि गोमूत्र के फायदे और नुकसान (Gomutra ke fayde or nuksan) इत्यादि

गौमूत्र के फायदे – Benefits of gomutra in Hindi

गोमूत्र के फायदे और नुकसान | Gomutra ke fayde or nuksan

इसमें एंटीमाइक्रोबॉयल प्रॉपर्टी होती है

गोमूत्र में काफी सारे ऐसे तत्व होते हैं जो इसे एक एंटीमाइक्रोबॉयल औषधि बनाते हैं। गोमूत्र में यूरिया creatinine, Aurum hydroxide, कार्बनिक एसिड कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे तत्व होते हैं यह सभी तत्व मिलकर गोमूत्र को एंटीमाइक्रोबॉयल प्रॉपर्टी देते हैं।

अच्छा एंटीसेप्टिक है

गोमूत्र का उपयोग काफी पुराने समय से एंटीसेप्टिक औषधि के रूप में किया जाता है मतलब अगर किसी व्यक्ति को किसी प्रकार की कोई चोट लग जाए या कोई घाव हो तो उस व्यक्ति को नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करना चाहिए तथा चोट पर गोमूत्र को लगाना चाहिए इससे उसका घाव बहुत जल्दी भर जाएगा

कैंसर को ठीक करता है

कई रिसर्च तथा शोध यह बताती हैं कि नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करने वाले लोगों को कैंसर होने की संभावना काफी कम हो जाती है क्योंकि गोमूत्र में कुछ ऐसी प्रॉपर्टीज होती हैं कुछ ऐसी खूबियां होती हैं जिसकी वजह से यह कैंसर करने वाली कोशिकाओं को उत्पन्न होने नहीं देता।

इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है

गोमूत्र में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं जो हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को रोकते हैं तथा पोषक तत्व की कमी से होने वाले रोगों को होने से रोकते हैं इसके साथ साथ ही जो लोग नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करते हैं उनका पाचन तंत्र और इम्यून सिस्टम काफी मजबूत हो जाता है जिसकी वजह से वे लोग जल्दी बीमार नहीं पड़ते और उन्हें और लोगों की तुलना में कम कष्ट झेलने पड़ते हैं।

बुखार को ठीक करता है

गोमूत्र का उपयोग बुखार को कम करने के लिए भी किया जाता है कई मामलों में इसे योगर्ट, घी और काली मिर्च के साथ मिक्स करके दिया जाता है जिससे व्यक्ति का बुखार कम हो जाता है।

एनीमिया को ठीक करता है

कई लोग गोमूत्र का उपयोग एनीमिया के इलाज तथा एनीमिया से बचाव के लिए करते हैं। इसके साथ-साथ ही गोमूत्र का उपयोग रक्त संबंधी विकारों में भी किया जाता है। एनीमिया के उपचार के लिए गोमूत्र को त्रिफला और गाय के दूध के साथ मिक्स करके दिया जाता है।

अस्थमा को ठीक करता है

कई लोगों को गले का इन्फेक्शन होने पर तथा अस्थमा होने पर गोमूत्र उपयोग करने के लिए कहा जाता है इससे व्यक्ति को इन्फेक्शन तथा अस्थमा की समस्या में राहत मिलती है।

हृदय को ठीक करता है

कई रिसर्च तथा शोध यह बताती हैं कि नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करने पर व्यक्ति का कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य स्वस्थ हो जाता है इसका उपयोग कार्डियोवैस्कुलर संबंधी बीमारियों के इलाज तथा उनसे बचाव दोनों के लिए किया जाता है।

डायबिटीज को ठीक करता है

जिन लोगों के ब्लड में शुगर की मात्रा अत्यधिक हो जाती है उन्हें नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करना चाहिए क्योंकि गोमूत्र में उपलब्ध तत्व डायबिटीज को कम करने तथा नियंत्रण में रखने के काम आते हैं।

गैस्ट्रिक प्रॉब्लम को ठीक करता है

जिन लोगों को गैस संबंधी समस्या होती है या जिन लोगों का पाचन तंत्र कमजोर होता है उन्हें नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसका नियमित रूप से सेवन करने पर यह पेट को राहत देता है और जिन लोगों को पेट संबंधी तकलीफ है उन्हें इसका सेवन करने पर बड़ी राहत मिलती है।

इसके साथ साथ ही गोमूत्र के कुछ अन्य लाभ भी हैं परंतु इनके बारे में कोई ठोस प्रमाण नहीं है जैसे

  • दांत की समस्या
  • वजन घटाना
  • थायराइड
  • ब्लड प्रेशर
  • त्वचा संबंधी रोग
  • गले के इन्फेक्शन तथा गले संबंधी रोग
  • किडनी और लीवर संबंधी रोग

यह भी पढ़ें: क्या हम एक्सपायरी दवाइयों का सेवन कर सकते हैं

गोमूत्र के दुष्प्रभाव – Side effects of gomutra in Hindi

आमतौर पर गोमूत्र के कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होते हैं परंतु कुछ मामलों में गौमूत्र के हल्के-फुल्के दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे

  • गोमूत्र को हमेशा निश्चित तापमान पर रखा जाना चाहिए अन्यथा उसके अंदर मौजूद पोषक तत्व कम हो सकते हैं।
  • गोमूत्र का सेवन करने पर शरीर में गर्मी आती है इसलिए गर्मियों के मौसम में अत्यधिक गोमूत्र का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • 8 वर्ष से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती स्त्रियों को बिना डॉक्टर की सलाह गोमूत्र का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि गोमूत्र में यूरिया और यूरिक एसिड जैसे तत्व होते हैं।
  • गोमूत्र को मिट्टी, कांच या स्टील के बर्तन में ही रखा जाना चाहिए अन्यथा कुछ धातुओं के बर्तन के साथ प्रतिक्रिया कर यह विषैला हो सकता है।
  • जो लोग अत्यधिक कमजोरी और और थकान से पीड़ित हैं उन्हें गोमूत्र का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह नहीं करना चाहिए।
  • जिन लोगों को बांझपन की समस्या है या नींद की कमी है वह लोग गोमूत्र का सेवन ना करें।

गोमूत्र और साइंस – Scientific explain about gomutra benefits in Hindi

वैज्ञानिकों ने गोमूत्र पर काफी समय तक रिसर्च की और पाया कि गौमूत्र हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा है वैज्ञानिकों ने गौ मूत्र पर काफी लंबे समय तक रिसर्च की और यह निर्णय निकाला कि गोमूत्र बहुत सारी बीमारियों विशेषकर छोटी-मोटी बीमारियों के लिए अत्यंत लाभकारी है।

कुछ मामलों में तो यह कैंसर जैसी बीमारी के इलाज के लिए भी उपयोग में लाया जाता है और वैज्ञानिकों ने जब इस बात की पड़ताल की तो उन्होंने यह पाया कि जो लोग नियमित रूप से गोमूत्र का सेवन करते हैं उनमें कैंसर की कोशिकाएं बनने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती हैं। इसके साथ साथ ही वैज्ञानिकों ने यह बात भी सुनिश्चित की, गोमूत्र में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छे होते हैं गोमूत्र में विटामिन मिनरल्स आयरन कैल्शियम मैगनीज जैसे खनिज लवण भी होते हैं।

गोमूत्र के घटक – Ingredients of gomutra in Hindi

गोमूत्र में निम्नलिखित चीजें होती हैंगोमूत्र काफी लाभदायक होता है क्योंकि गोमूत्र में निम्नलिखित चीजें होती हैं गोमूत्र में लगभग 95% पानी होता है और 2.5% यूरिया, मिनिरल और 24 प्रकार के अलग-अलग सॉल्ट होते हैं इसके साथ साथ ही कुछ एंजाइम तथा हार्मोन भी गोमूत्र में पाए जाते हैं और गोमूत्र में आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, कार्बनिक एसिड नाइट्रोजन अमोनिया मैग्नीशियम सल्फेट पोटैशियम फास्फेट यूरिया और यूरिक एसिड तथा अमीनो एसिड भी होता है। आप देख पा रहे हैं कि गोमूत्र में कितनी सब चीजें होती हैं गोमूत्र एक मल्टीविटामिन दवाई की तरह काम करता है क्योंकि इसमें लगभग सभी पोषक तत्व होते हैं।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में गोमूत्र के बारे में बताया है और गोमूत्र के बारे में सभी जानकारी प्रदान किया है जैसे कि गोमूत्र के फायदे और नुकसान (Gomutra ke fayde or nuksan) इत्यादि

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास जरूर करेंगे

क्या गोमूत्र का सेवन करने से थायराइड ठीक होता है?

हां, गोमूत्र का सेवन करने से थायराइड ठीक होता है परंतु इसके कोई ठोस प्रमाण नहीं है‌।

क्या गोमूत्र का सेवन करने से कैंसर ठीक होता है?

हां गोमूत्र का सेवन करने से कैंसर ठीक होता है परंतु इसके कोई ठोस प्रमाण नहीं है।