शरीर के अंगों के नाम | Human Body Parts Names in Hindi

मानव शरीर एक विचित्र संरचना है जो अलग-अलग प्रकार के अंगों से मिलकर बनी है सभी अंगों का आकार और कार्य अलग-अलग होता है। शरीर के कुछ अंग बाहर होते हैं जबकि कुछ अंग शरीर के अंदर होते हैं जिन्हें हम बाहर से देख भी नहीं सकते। इन सभी अंगों के बारे में जानना काफी आवश्यक है।इसलिए आज इस लेख में हम इंसानी शरीर के सभी अंगों के बारे में विस्तार पूर्वक पढ़ेंगे और जानेंगे कि मानव शरीर में कितने अंग होते हैं और प्रत्येक अंग का क्या कार्य होता है।

शरीर के अंगों के नाम – Human Body Parts Names in Hindi

शरीर के अंगों के नाम | Human Body Parts Names in Hindi
  • बाल (Hair) 
  • चेहरा (Face)  
  • आंख (Eyes)  
  • गाल (Neck) 
  • थोड़ी (Chin) 
  • ललाट (Forehead) 
  • भौंह (Eyebrows) 
  • नाक (Nose)  
  • मुंह (Mouth) 
  • जीभ (Tongue) 
  • दांत (Teeth) 
  • कनपटी (Temple) 
  • जबड़ा (Jaw)
  • हाथ (Hand)
  • उंगलियां (Fingers)
  • कोहनी (Elbow)
  • अंगूठा (Thump)
  • कलाई (Wrist)
  • नाखून (Nails)
  • हथेली (Palm)
  • घुटना (Knee)
  • पांव (Feet)
  • पैरों की उंगलियां (Toes) 
  • जांग (Thigh)
  • कंधा (Shoulder) 
  • छाती (Chest)
  • पेट (Stomach) 
  • नाभि (Navel) 
  • कमर, पीठ (Waist) 
  • स्तन (Breast) 
  • लिंग (Penis) 
  • योनि (Vagina) 

यह भी पढ़ें:- Skeleton System in hindi: शरीर-रचना, रोग, अंग, रेखा-चित्र इत्यादि

मानव शरीर के अंगों के बारे में विस्तार से

A. सिर (Head) 

बाल (Hair) :- हमारे शरीर को सुंदर और आकर्षक दिखने में मदद करते हैं। 

चेहरा (Face) :- चेहरा हमारी पहचान होती है जिससे हम एक दूसरे को पहचानते हैं

आंख (Eyes) :- आंखें हमें इस सुंदर संसार को देखने में मदद करती हैं

गाल (Neck) :- गला हमें खाना खाने, बोलने और कई अन्य कार्य करने में मदद करता है।

थोड़ी (Chin) :- हमारे शरीर में एक थोड़ी होती है

माथा या ललाट (Forehead) :- माथा या ललाट हमारे चेहरे का एक अहम हिस्सा होता है।

भौंह (Eyebrows) :- हमारे चेहरे को सुंदर और आकर्षक दिखने में मदद करते हैं।

नाक (Nose) :- नाक हमें चीजें सूंघने और सांस लेने में मदद करती है।

मुंह (Mouth) :- मुंह से हम खाना खाते हैं तथा बोलते हैं।

जीभ (Tongue) :- जीभ हमें खाने का स्वाद और किसी भी चीज के स्वाद के बारे में बताती है।

दांत (Teeth) :- हम जो भी चीज खाते हैं उसे दांत चीरने फाड़ने और चबाने का काम करते हैं।

कनपटी (Temple) :- हमारे सर में दो कनपटी होती हैं

जबड़ा (Jaw) :– हमारे मुंह में दो जबड़े होते हैं एक ऊपरी जबड़ा और एक निचला जबड़ा।

B. धड़ (Body)

  1. हाथ (Hand)
  2. पैर (Leg)
  3. अन्य (Others)

1. भुजा (Arm) 

भुजा (Arm) हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है यह चीजों को पकड़ने, उठाने और अन्य प्रकार के काम करने में मदद करता है हमारे शरीर में दो भुजाएं होती हैं और प्रत्येक भुजा में निम्नलिखित अंग होते हैं।

हाथ (Hand) :- हाथ चीजों को पकड़ने उठाने खाना खाने लिखने और ऐसे ही अन्य प्रकार के कई कामों को करने के लिए उपयोग में लाया जाते हैं।

उंगलियां (Fingers) :- उंगलियां बारीक काम को करने में मदद करतीं हैं जैसे सिलाई, बुनाई, कढ़ाई और किसी छोटी चीज को पकड़ने में आदि।

कोहनी (Elbow) :- हमारी भुजा में 1 जोड़ होता है जिसे कोहनी कहते हैं, जिसकी मदद से हम अपनी भुजा को मोड़ सकते हैं

अंगूठा (Thump) :- हमारे हाथों में दो अंगूठे होते हैं अंगूठे का कार्य है की किसी भी चीज को पकड़ने में या कुछ करने में उंगलियों की सहायता करना।

कलाई (Wrist) :- कलाई हमारे हाथ को लचीलापन देती है जिसकी वजह से हमारा हाथ हर ऐंगल पर घूम सकता है।

नाखून (Nails) :- हाथ और पैरों की उंगलियों में नाखून निकलते हैं, इन्हें हथियार की तरह इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

हथेली (Palm) :- उंगली और अंगूठे के सहायता के लिए हथेली होती है।

2. पैर (Leg)

पैर (Leg) हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग हैं यह हमें चलने उठने, बैठने, दौड़ने और पैरों से संबंधित अन्य कार्यों को करने में मदद करते हैं प्रत्येक मनुष्य कि दो टांगे होती हैं और प्रत्येक टांग में निम्नलिखित अंग होते हैं।

घुटना (Knee) :- हमारा पैर दो टुकड़ों में जुड़ा होता है।

पांव (Feet) :- पैर के निचले हिस्से को पांव कहते हैं और यह हमें चलने में मदद करता है

पैरों की उंगलियां (Toes) :- पैरों में उंगलियां होती हैं प्रत्येक में 5 उंगलियां होती हैं

जांग (Thigh) :- घुटने के ऊपरी हिस्से को जांग कहते हैं और यह हमारी टांगों को मजबूती देता है।

3. अन्य (Others)

कंधा (Shoulder) :- इंसानी शरीर में दो कंधे होते हैं।

छाती (Chest) :- छाती हमारे शरीर के अंदरूनी अंगों को क्षतिग्रस्त होने से बचाती है।

पेट (Stomach) :- पेट हमारे खाने को पचाता है जिससे हमें पोषण मिलता है।

नाभि (Navel) :- जब बच्चा पेट में होता है तब नाभि द्वारा ही बच्चे तक खाना पहुंचता है।

कमर, पीठ (Waist) :- कमर और पीठ हमें सीधा खड़े रहने में मदद करती हैं।

स्तन (Breast) :- जब शिशु छोटा होता है तो उसे दूध पिलाने के लिए स्तन उपयोग में लाऐ जाते हैं और स्तन महिलाओं में ही होते हैं।

लिंग (Penis) :- यह संभोग करने और मूत्र विसर्जन करने के लिए काम में आता है, सिर्फ पुरुषों में होता है।

योनि (Vagina) :- यह संभोग करने और मूत्र विसर्जन करने के लिए काम में आती है, सिर्फ महिलाओं में होती है।

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा हमने इस आर्टिकल में शरीर के अंगों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है और हमने सभी अंगों को दो मुख्य भागों में वर्गीकृत किया है सिर (Head) और धड़ (Body) और धड़ (Body) को भी तीन भागों में वर्गीकृत किया गया है हाथ (Hand), पैर (leg) और अन्य (Others) इससे आप सभी चीजों को आसानी से समझ पाएंगे।अगर आपकी कोई सवाल का सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके सवालों या जवाब देने का प्रयास अवश्य करेंगे।

प्रश्न और उत्तर

शरीर का कौन सा अंग आपको खाना खाने में मदद करता है?

हमारे शरीर में मुख्य रूप से हमें मुंह खाना खाने में मदद करता है हम मुंह द्वारा खाना खाते हैं जब हम खाना खाते हैं तब खाने को खींचने फाड़ने और मसलने का काम दांत करते हैं, उसके बाद जीभ उस खाने का स्वाद लेने का काम करती है और गले की मदद से वह खाना सीधे हमारे पेट में चला जाता है।

शरीर का कौन सा अंग अधिकतम शारीरिक श्रम करता है?

हमारा संपूर्ण शरीर ही सबसे ज्यादा कार्य करता है परंतु मुख्य रूप से हमारे शरीर में कुछ ऐसे अंग है जो 24 घंटे काम करते हैं जैसे हमारा दिमाग और फेफड़े, परंतु हमारे शरीर में सबसे अधिक शारीरिक श्रम हमारे हाथ और पैर करते हैं। 

हमारे शरीर के कोई दो अनावश्यक अंग बताओ?

बाल और नाखून हमारी शरीर की ऐसे दो अंग हैं जो अगर ना हो तब भी हमारे शरीर पर इसका ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ेगा।

शरीर का सबसे नाजुक अंग कौन सा है?

शरीर का सबसे नाजुक अंग हमारी आंखें हैं अगर हमारी आंखों को हल्का सा भी कुछ हो जाता है तो हमें काफी जलन और परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

मानव शरीर में वह कौन सा अंग है जो पुनर उत्पादित हो सकता है?

मानव शरीर में लीवर या किडनी एक ऐसा अंग है जो पुनर उत्पादित होता है परंतु ऐसा नहीं है कि अगर कोई व्यक्ति किडनी को बाहर निकाल ले उसके बाद किडनी दोबारा उत्पादित हो जाए ऐसा नहीं होता।