कोविड वैक्सीन: सारी बातें जो आपको जाननी चाहिए

भारत में आज के समय में कोरोना वायरस हद से ज्यादा बढ़ गया है जिसको लेकर सभी चिंता में हैं अब हम कोरोना वायरस से बचने के लिए दो चीजें कर सकते हैं या तो हम बहुत ज्यादा सावधानी रखें जैसे मास्क पहनकर घर से बाहर निकले। फल और सब्जियों को इस्तेमाल करने से पहले अच्छी तरह धोएं। सैनिटाइजर का मास्क का प्रयोग करें। और हर संभव कोशिश करें जिससे कि आप कोरोना वायरस से ग्रस्त ना हो इतना सब करने के बाद भी अगर कोई व्यक्ति को कोरोना से ग्रस्त हो जाता है तो वह क्या कर सकता है।

पहले तो इस सवाल का कोई जवाब नहीं था लेकिन अभी सवाल का जवाब है हमको कोविड वैक्सीन लगा सकते हैं इसलिए आज इस आर्टिकल में हम पढ़ेंगे कोविड वैक्सीन के बारे में। जिसमें हम पढ़ेंगे की कोविड वैक्सीन कैसे काम करती है, कोविड वैक्सीन को लगवाने के फायदे क्या हैं और दुष्प्रभाव क्या है, कोरोना और वैक्सीन से जुड़े सभी विषयों के बारे में संपूर्ण जानकारी आदि।     


  

Table of Contents

कोविड वैक्सीन क्या है – What is covid vaccine?


जब हम कभी बीमार पड़ते हैं या हम किसी बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं तो हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम उस बीमारी को होने से रोकता है और वायरस से लड़ता है।
 
परंतु कई बार ऐसा होता है कि हमारा इम्यून सिस्टम उस बीमारी से या उस वायरस से नहीं लड़ पाता है। और उस बीमारी या वायरस से लड़ते-लड़ते व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है।
 
इसलिए इन सभी चीजों से बचने के लिए वैक्सीन का प्रयोग किया जाता है वैक्सीन एक पदार्थ की तरह होता है जो हमारे शरीर में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को काफी हद तक बढ़ा देता है जिससे हमें आसानी से कोई भी बीमारी या वायरस प्रभावित नहीं कर पाता है।
 
कोविड वैक्सीन भी ऐसी ही वैक्सीन है जिसका उपयोग कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जाता है इस वैक्सीन का उपयोग करने से व्यक्ति को कोरोना वायरस नहीं होता है।
 
आमतौर पर इन वैक्सीन ओ का उपयोग डॉक्टर नर्स और अन्य ऐसे लोगों द्वारा किया जाता है जिन्हें आमतौर पर बीमारी या बीमारी से प्रभावित लोगों का आमना सामना करना पड़ता है।
 
कोरोना वायरस एक ऐसा वायरस है जिसकी दवाई नहीं बन पा रही थी परंतु अब इसकी वैक्सीन बन चुकी है इसलिए अब इससे अधिक खतरा नहीं है।

कोविड वैक्सीन का उपयोग क्यों किया जाता है? – What are the uses of Covid vaccine?


कोविड वैक्सीन का उपयोग कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जाता है जो व्यक्ति अपने शरीर में कोविड वैक्सीन इंजेक्ट करवाता है उसे कोरोना वायरस प्रभावित नहीं कर पाता है।
 
इसलिए वे सभी लोग जो इस बीमारी से ग्रस्त होते हैं या फिर जिन लोगों को यह बीमारी होने का खतरा होता है वह सभी लोग इस वैक्सीन का प्रयोग करते हैं इसके साथ-साथ सभी डॉक्टर नर्स और अस्पताल का स्टाफ और ऐसे काफी अन्य लोग जिन्हें कोरोना वायरस या कोरोना वायरस से ग्रस्त व्यक्तियों का सामना करना पड़ता है इसका उपयोग करते हैं।
 

कोविड वैक्सीन के दुष्प्रभाव क्या हैं? – What are the Side effects of Covid vaccine?


कोविड वैक्सीन के दुष्प्रभाव क्या हैं?
 
बहुत सारे परीक्षणों में अधिकांश दुष्प्रभाव बहुत ही मामूली थे आमतौर पर जब यह दुष्प्रभाव होते हैं तो यह कुछ दिनों तक रहते हैं और फिर खत्म हो जाते हैं।
हालांकि कुछ दुष्प्रभावों का मतलब यह होता है कि हमारा शरीर कोरोना वायरस के प्रति हमारे शरीर को मजबूत बना रहा है।
कोविड वैक्सीन की वजह से होने वाले कुछ दुष्प्रभाव कोरोना वायरस की वजह से होने वाली मौतों से कहीं ज्यादा अच्छे हैं। आमतौर पर होने वाले कुछ दुष्प्रभावों की सूची।
  • जहां पर इंजेक्शन लगा होता है वहां पर दर्द होना।
  • हाथ में दर्द होना
  • हाथ में सूजन आ जाना या फिर गांठ जैसा पड़ जाना।
  • बहुत अधिक थकान महसूस होना
  • बार बार सिर दर्द होना
  • ठंड लगकर बुखार आना
  • गंभीर एलर्जी प्रतिक्रिया
कभी-कभी व्यक्ति को कोविड वैक्सीन का प्रयोग करने से गंभीर एलर्जी प्रतिक्रिया हो सकती हैं इससे बचने के लिए डॉक्टर को दिखाना चाहिए और अगर की स्थिति गंभीर है तो डॉक्टर को अवश्य दिखाना चाहिए देरी नहीं करनी चाहिए।
अस्पष्टीकृत मौतें
 
नॉर्वे में कोविड वैक्सीन का उपयोग करने से 23 लोगों की मृत्यु हो गई थी डॉक्टर भी इस बात की जांच कर रहे हैं कि यह कैसे हुआ या किस चीज लोगों की मौत हुई है।

कोविड वैक्सीन उपयोग करने के लाभ – What are the benefits of Covid vaccine?


कोविड वैक्सीन उपयोग करने के कई लाभ हैं अगर आपको सिर्फ ऐसा लगता है कि कोविड वैक्सीन का उपयोग करने से सिर्फ हम कोरोना से बचते हैं लेकिन कोविड वैक्सीन के इसके साथ-साथ ऐसे कई अन्य लाभ भी हैं।
 
  • कोविड वैक्सीन कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करती है और व्यक्ति को कोरोना बीमारी नहीं होने देती।
  • कोविड वैक्सीन कोरोना के साथ-साथ कई अन्य प्रकार के इंफेक्शन और वायरस होने से भी बचाती है।
  • यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं जिससे हमें आसानी से कोई भी बीमारी नहीं होती
  • यह हमारे जीवन को नार्मल होने में मदद करती हैं।
  • यह जन्मे और अजन्मे दोनों प्रकार के बच्चों को कोरोना वायरस होने से बचाती है।

यह भी पढ़ें:- वायु प्रदूषण (Air Pollution) क्या है | वायु प्रदूषण किस तरह से आपको बीमार कर सकता है?


कोविड वैक्सीन लेने से पहले और लेने के बाद हमें कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए – Precautions before taking COVID vaccine


कोविड वैक्सीन लेने से पहले अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी हो रही हो या फिर आप किसी प्रकार का नशा वगैरह करते हो तो आपको निम्नलिखित जांच जरूर करवानी चाहिए जिसमें से है एक सीबीसी (कंपलीट ब्लड टैस्ट) सी रिएक्टिव प्रोटीन और इम्यूनो ग्लोबिन।
 
हमें अच्छा खाना खाना चाहिए और हल्की-फुल्की जोगिंग करते रहना चाहिए और अपने दिमाग में किसी भी प्रकार का तनाव नहीं रखना चाहिए।
 
उन लोगों को ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत है जिन लोगों को डायबिटीज है या कैंसर आदि के पेशेंट हो स्पेशली वह लोग जो कीमोथेरेपी करवाते हों।
 
वैक्सीन लेने के बाद
 
कोविड वैक्सीन लेने के बाद अपने शरीर का ध्यान रखें अगर शरीर में कोई बदलाव या परिवर्तन आता है या आपको किसी प्रकार की एलर्जी होती है तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

क्या हृदय संबंधी रोगों वाले मरीज को कोविड वैक्सीन लगाना ठीक है? – Does heart patient can take covid vaccine?


जिस व्यक्ति को हृदय संबंधी रोग होता है उसे कोविड वैक्सीन लगवाना चाहिए क्योंकि उस व्यक्ति को कोविड-19 होने की संभावना बहुत अधिक होती है और व्यक्ति की स्थिति काफी बिगड़ सकती है इसलिए जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी आपको कोविड वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए। हां जिन व्यक्तियों को हृदय संबंधी रोग होते हैं उन्हें कोविड वैक्सीन लगने के बाद इसके कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं इसलिए उन्हें अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना पड़ता है। अगर हृदय रोग से ग्रस्त व्यक्ति अपने स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखता है तो उसे कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद किसी भी प्रकार की कोई तकलीफ है परेशानी नहीं होगी।

क्या अस्थमा से ग्रस्त व्यक्ति कोविड वैक्सीन लगवा सकता है? – Does Asthma patient can take covid vaccine


हां, अस्थमा से ग्रस्त व्यक्ति कोविड वैक्सीन लगवा सकता है कोविड वैक्सीन लेने में व्यक्ति को कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होगा हालांकि इसका प्रयोग करने से कुछ छोटे-मोटे दुष्प्रभाव हो सकते हैं परंतु वह इतने गंभीर नहीं होते अगर छोटे-मोटे दुष्प्रभाव झेलने से आप एक बहुत बड़ी जानलेवा बीमारी से बच जाते हैं तो इसमें कोई संकोच वाली बात नहीं है।
बाकी अगर आपको किसी प्रकार के छोटे-मोटे दुष्प्रभाव होते हैं तो आप उसके लिए डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं और दवाई खा सकते हैं या फिर यह दुष्प्रभाव आमतौर पर 1 से 2 दिन तक ही रहते हैं और साधारण पेरासिटामोल की दवाई खाने से भी यह दुष्प्रभाव खत्म हो जाते हैं।

क्या डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्ति कोविड वैक्सीन ले सकता है? – Does diabetic patient can take covid vaccine


हां, डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्ति कोविड वैक्सीन ले सकता है व्यक्ति को कोई परेशानी नहीं होगी हालांकि इसके कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं परंतु ज्यादातर मामलों में कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं फिर भी अगर आपको कोविड वैक्सीन लेने के बाद कुछ दुष्प्रभाव होते हैं या कोई गंभीर समस्या आती है तो इसके लिए आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।
 
परंतु अभी तक ऐसा कोई भी मामला सामने नहीं आया है जिसमें डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्ति को वैक्सीन के कारण कोई समस्या हो रही हो। हां, अगर आपका डायबिटीज बहुत ज्यादा है तो आपको हल्की-फुल्की समस्या हो सकती है अन्यथा आपको कोई भी समस्या नहीं होगी।

COVID vaccine: वैक्सीन से पहले और बाद में क्या खाएं और क्या नहीं? – COVID vaccine: what to eat and what not to eat before and after the vaccine


जैसे-जैसे भारत में कोरोना वायरस बढ़ता जा रहा है वैसे-वैसे ही वैक्सीन लगवाने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ती जा रही है वैक्सीन लगाने के कुछ दुष्प्रभाव भी देखे गए हो और यह इस बात पर निर्भर करते हैं कि व्यक्ति का इम्यून सिस्टम कैसा है या व्यक्ति ने किस प्रकार का खाना खाया है।

इसलिए वैक्सीन लगवाने से पहले और बाद में हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

जैसे कि हमें अपने शरीर को हाइड्रेट रखना चाहिए हमें उचित मात्रा में पानी पीते रहना चाहिए जिससे हमारे शरीर में पानी की कमी ना हो, शरीर में पानी की कमी होने के कारण वैक्सीन द्वारा होने वाले दुष्प्रभाव होने की संभावना बढ़ जाती है।

अच्छा और स्वस्थ भोजन खाएं हमें अच्छा और स्वस्थ भोजन खाना है जिसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्व हो इसके साथ-साथ फाइबर अधिक मात्रा में हो जैसे हम ओट्स या ऐसे फलों और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं जिनमें फाइबर अधिक मात्रा में हो।

अधिक फाइबर वाले फलों के जुस आदि का सेवन करें।

अगर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हैं तो आपको कोविड वैक्सीन से होने वाले दुष्प्रभाव होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद या लगवाने से पहले हमें किसी भी प्रकार का फास्ट फूड या अस्वस्थ भोजन नहीं करना चाहिए अगर हम ऐसा करते हैं तो हमें वैक्सीन लगवाने से होने वाले दुष्प्रभाव होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है। कहा जाता है कि वैक्सीन से होने वाला सबसे आम दुष्प्रभाव यह है कि व्यक्ति बेहोश हो जाता है उसका उपाय यही है कि व्यक्ति को अपना भोजन स्वस्थ रखना चाहिए।


कोविड वैक्सीन लगने के बाद बुखार क्यों आता है? Fever after Immunization?


कई मामलों में ऐसा देखा गया है कि कोविड वैक्सीन लगने के बाद व्यक्ति को बुखार आ जाता है काफी आम बात है और यह चिंता का विषय नहीं है क्योंकि अगर आपको कोविड वैक्सीन लगने के बाद बुखार आता है तो यह इस बात का संकेत है कि वैक्सीन आपके शरीर पर असर कर रही है।

जिस प्रकार जब छोटे बच्चे को कोई टीका लगता है और उसे बुखार आ जाता है इसका मतलब यह नहीं है कि वह टीका गलत है बुखार आना मतलब की दवा असर कर रही है।

कई लोगों को ऐसा लगता है कि अगर व्यक्ति को बुखार आ रहा है तो यह घबराने की बात है नहीं, कोई घबराने की बात नहीं है लेकिन हां अगर आपको बुखार के साथ-साथ और भी कुछ गंभीर लक्षण हो रहे हैं तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और डॉक्टर को दिखाना चाहिए, बिना डॉक्टर की सलाह के आप अपने आप पर कोई भी एक्सपेरिमेंट ना करें।


कोविड वैक्सीन के साइड इफेक्ट कितने दिनों तक रहते हैं?- How long do the side effects of corona vaccine last?


corona vaccine के कुछ हल्के-फुल्के साइड इफेक्ट हो सकते हैं जैसे कि

यह सभी वैक्सीन लगाने पर होने वाले कुछ हल्के-फुल्के दुष्प्रभाव हैं यह व्यक्ति को तभी होते हैं जब व्यक्ति की खानपान अच्छी नहीं होती। व्यक्ति को ऐसे दुष्प्रभाव होने की संभावना बहुत कम होती है।

यह सभी दुष्प्रभाव आमतौर पर 1 से 2 दिन तक रहते हैं हल्की-फुल्की दवाई जैसे कि पेरासिटामोल लेने से भी इन दुष्प्रभावों का इलाज किया जा सकता है।

छोटे-मोटे लक्षणों के साथ-साथ अगर हमें कोई गंभीर समस्या हो रही है या फिर कोई गंभीर लक्षण हो रहे हैं तो हमें डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए डॉक्टर को संपूर्ण जानकारी बतानी चाहिए क्योंकि कोरोना के मामले में हल्की-फुल्की लापरवाही करना सही नहीं है व्यक्ति को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।


कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज कब ली जाती है? – When To Take Second Dose Of The COVID-19 Vaccine


कोविड वैक्सीन का डोज लेने के लिए आपको आरोग्य सेतु एप पर रजिस्टर करना होता है इस पर रजिस्टर करने के लिए आपको अपना फोन नंबर डालना होता है उसके बाद ओटीपी आता है और जैसे ही आप ओटीपी भी डालते हैं आप रजिस्टर हो जाते हैं।

रजिस्टर होने के बात जरूरी इंफॉर्मेशन ऐप में भरें।

सारी इनफार्मेशन भरने के बाद अपना अपॉइंटमेंट बुक करें और दिए गए स्थान पर निश्चित समय में पहुंचकर वैक्सीन लगवा ले।

पहली वैक्सीन लगने के 4 – 5 हफ्ते बाद आपको दोबारा उसी सेंटर पर जाकर वैक्सीन लगवानी होती है। यह पूरा तरीका है वैक्सीन लगवाने का।

इस तरीके में हमने स्टेप बाय स्टेप सब कुछ बताया है आपको बिल्कुल ऐसा ही करना है इसके साथ-साथ अपने घर के आस-पास किसी व्यक्ति से सलाह भी ले सकते हैं और आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल करके उस ऐप पर दी गई सभी जानकारी को पढ़ें और समझें कि आप को किस तरीके से वैक्सीन लगवाना है।


कोविड वैक्सीन कैसे काम करता है? – How does the corona vaccine work?


कोरोना की वैक्सीन हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देती है हमारे शरीर में हर जगह काम करती है जहां पर हमारा शरीर कमजोर होता है यह हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने की मजबूती प्रदान करती है।

जब कोरोना वायरस अटैक करता है तब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता इस वायरस से मुकाबला करती है किसी व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कितनी मजबूत है यह उस व्यक्ति के खानपान और अच्छे स्वास्थ्य पर निर्भर करता है और आज कल की खानपान प्रदूषण और मिलावट के कारण इतनी खराब हो गई है कि व्यक्ति चाहकर भी अच्छा भोजन नहीं खा पाता है

जिसकी वजह से व्यक्ति का स्वास्थ्य खराब हो जाता है और व्यक्ति कि रोगप्रतिरोधक क्षमता भी खराब हो जाती है कोरोना की वैक्सीन हमारे शरीर में एक अच्छी सेना की तरह करती है हमारे शरीर कि कमियों को ढूंढ कर उन्हें ठीक कर दी है और हमें कोराना वायरस से लड़ने में मदद करती है।


कोविड वैक्सीन का चयन कैसे करें? – How to choose a covid vaccine?


आप स्वयं कोविड वैक्सीन का चयन नहीं कर सकते हैं क्योंकि यह अभी बाजार में उपलब्ध नहीं है यह सिर्फ सरकारी कोरोना सेंटर और अस्पतालों में उपलब्ध है।

आप अपनी मर्जी से इसका चयन नहीं कर सकते हैं जो वैक्सीन डॉक्टर या सरकारी अस्पताल के पास उपलब्ध होगी आपको वही वैक्सीन लगवानी पड़ेगी उसके लिए भी एक प्रोसीजर होता है।

आपको पहले अपॉइंटमेंट लेनी पड़ती है और फिर जाकर सरकारी स्थानों से या डिस्पेंसरी से आप कोविड वैक्सीन लगवा सकते हैं।


क्या कोविड वैक्सीन का उपयोग सुरक्षित है? – Is Covid Vaccine Safe To Use?


हां, कोविड वैक्सीन का उपयोग संपूर्ण रूप से सुरक्षित है परंतु आपको कोविड वैक्सीन लगवाते समय इस बात का ध्यान देना चाहिए कि आप भीड़भाड़ वाले इलाके में ना जाएं हमेशा अपने मुंह को ढक कर रखें। और हर संभव सावधानी रखें जिससे कि आपको कोरोना ना हो। कोविड वैक्सीन लगवाने के कोई भी गंभीर दुष्प्रभाव नहीं है?

वैसे तो कोविड वैक्सीन लगवाने के कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं है हां, परंतु इसके कुछ छोटे-मोटे दुष्प्रभाव हैं जैसे कि

  • बुखार आना
  • बहुत अधिक थकान महसूस होना
  • बार बार सिर दर्द होना
  • ठंड लगकर बुखार आना

कुछ दुर्लभ दुष्प्रभाव

यह सभी कोविड वैक्सीन लगवाने के कुछ संभव दुष्प्रभाव है। परंतु अगर यह सभी छोटे-मोटे दुष्प्रभाव सहन करने के बाद हम कोरोना जैसी बड़ी बीमारी से बच सकते हैं तो उस बीमारी के सामने यह दुष्प्रभाव कुछ भी नहीं है।


क्या कोविड वैक्सीन लगने के बाद सेक्सुअल लाइफ में कोई दिक्कत होगी – Can the COVID-19 Vaccine Cause sexual problem?


नहीं, कोविड वैक्सीन लगने के बाद सेक्सुअल लाइफ में कोई भी दिक्कत नही होती है अगर आपको कोविड वैक्सीन लगने के बाद इसके कोई गंभीर दुष्प्रभाव हो रहे हैं तो सबसे पहले तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए इन दुष्प्रभावों के कारण ही अगर कोई समस्या हो सकती है तो होगी अन्यथा कोविड वैक्सीन लगने से कोई भी सेक्स से संबंधित समस्या उत्पन्न नहीं होती है।

मान लीजिए कि आपको कोविड वैक्सीन की वजह से कोई समस्या उत्पन्न हो रही है जैसे सिर में दर्द सिर, बुखार, बहुत अधिक थकान महसूस होना, बार बार सिर दर्द होना, ठंड लगकर बुखार आना आदि।

दर्द के कारण हो सकता है कि आपका संभोग करने का मन भी ना करें।

हो सकता है कि आपको बहुत ज्यादा थकान महसूस हो तो उसकी वजह से भी आपका संभोग करने का मन ना करें परंतु ऐसा बिल्कुल नहीं है कि कोविड वैक्सीन का उपयोग करने से आपको संभोग करने में कोई समस्या उत्पन्न होगी।


कोविड वैक्सीन के बाद कोविड होने करने की संभावना क्या है? – What are the chances of getting a covid after a covid vaccine?


कोविड वैक्सीन लगने के बाद आपको कोविड-19 होने  की संभावना बहुत कम हो जाती है परंतु कुछ संभावना रहती है कि आपको कोविड होगा।

ज्यादातर मामलों में ऐसा देखा गया है कि कोविड वैक्सीन का उपयोग करने से कोरोना वायरस होने की संभावना बहुत कम हो जाती है और व्यक्ति जल्दी ही स्वस्थ हो जाता है।

कोविड वैक्सीन का उपयोग करने के बाद व्यक्ति स्वस्थ महसूस करता है और व्यक्ति के शरीर में कुछ परिवर्तन भी होते हैं जिनमें से प्रमुख है कि व्यक्ति का पाचन तंत्र मजबूत हो जाता है और इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता और व्यक्ति को आसानी से कोई भी बीमारी नहीं लगती है।

कोविड वैक्सीन का मुख्य सिद्धांत यही है कोविड वैक्सीन हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है जिससे कि हमारा शरीर कोरोना वायरस के प्रति लड़ पाए और हमें किसी प्रकार की कोई बिमारी ना हो।


कोविड वैक्सीन लगने के कितने दिन बाद तक नहीं होगा कोरोना? – How Long Will The COVID Vaccine Stay Effective?


कोविड वैक्सीन लगने के कम से कम 8 से 10 महीनों तक कोरोना होने की संभावना कम हो जाती है परंतु यह समय अवधि अधिक भी हो सकती है मतलब कि हो सकता है आपको पूरे जीवन काल में कभी कोरोना ना हो।

कोविड के बढ़ने का एक मुख्य कारण है कि लोगों को लगा कि या कोरोना वायरस खत्म हो गया है इसलिए लोगों ने नियमों का पालन नहीं किया जिसकी वजह से आज के समय में कोरोना वायरस बहुत ज्यादा फैल गया है।

लेकिन घबराने की भी कोई जरूरत नहीं है अगर हम नियमों का सख्ती से पालन करें तो हम इस कोरोना वायरस को जड़ से हरा सकते हैं। इसलिए सभी व्यक्तियों को समय पर कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए अगर सभी लोग ऐसा करते हैं तो कोरोना वायरस को जड़ से उखाड़ फेंकने का भारत का सपना साकार हो पाएगा।

क्या कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद शिलाजीत और अश्वगंधा का प्रयोग किया जा सकता है?

हां, इन दोनों ही उत्पादों का प्रयोग किया जा सकता है ये दोनों ही उत्पाद प्राकृतिक होती हैं परंतु अगर इन दोनों ही उत्पादों का प्रयोग करते समय आपको कोई समस्या या परेशानी आ रही है या कोई साइड इफेक्ट हो रहा है आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए हो सकता है और उत्पात का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए।

बाकी अभी तक तो कोई ऐसा मामला सामने नहीं आया है जिसमें शिलाजीत या अश्वगंधा लगाने से कोई रिएक्शन हुआ हो।


सबसे अच्छी कोविड वैक्सीन कौन सी है – Which COVID-19 vaccine is the best?


भारत में अभी तक सिर्फ 2 प्रकार की vaccine को ही मंजूरी दी गई है परंतु उनमें से भी आप यह चॉइस नहीं कर सकते हैं कि आपको कौन सी वैक्सीन लगवानी है यह सिर्फ सरकार ही तय करेगी। आप सिर्फ अपनी उम्र के हिसाब से वैक्सीन लगवा सकते हैं क्योंकि भारत में अभी (25/4/2021) तक 45 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति को वैक्सीन लगवाने को मंजूरी नहीं मिली है।

इसलिए आप सिर्फ यह देख सकते हैं कि आप अच्छे से सभी नियमों का पालन करें अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें लोगों से दूरी बनाए रखें मास्क का प्रयोग करें सैनिटाइजर का प्रयोग करें जितना हो सके घर से कम निकले, समय-समय पर अपने हाथों को धोते रहें।


कोविड वैक्सीन के कितने दिन बाद तक मेडिसिन खा सकते हैं? – How many days after the Corona vaccine can you eat medicine?


कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद आप अपना जीवन सामान्य रूप से जी पाएंगे कोई भी दिक्कत या परेशानी नहीं होगी आप सामान्य रूप से अपना खाना खा पाएंगे। सामान्य रूप से अपने काम को कर पाएंगे और अन्य प्रकार के क्रियाकलाप भी आप सामान्य रूप से कर पाएंगे हो सकता है कि आपको थोड़े बहुत दुष्प्रभाव महसूस हो।

जोकि होना बहुत ही आम बात है क्योंकि जब भी हम किसी बड़ी बीमारी का इलाज करते हैं तब उसके इलाज मैं छोटी मोटी कुछ ना कुछ समस्याएं आती ही रहती हैं तो इसमें आपको थोड़े बहुत दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे सर दर्द होना खांसी आना उल्टी आना चक्कर आना आदि परंतु अगर आप कुछ समय जैसे एक या 2 दिन का इंतजार करें और हल्की-फुल्की दवाई खाएं जिसे पेरासिटामोल तो आपको जरूर राहत मिलेगी?

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने बताया है कि कोविड वैक्सीन क्या है, उसके दुष्प्रभाव क्या हैं, उसके लाभ क्या हैं, कोविड वैक्सीन को लगवाने का प्रोसीजर क्या है, इसके साथ-साथ आपके मन में उठ रहे कई सारे सवालों के जवाब भी हमने इस लेख में उपलब्ध कराए हैं।

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा अगर आपके कोई सवाल या जवाब हैं तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं धन्यवाद।

प्रश्न और उत्तर

कोविड वैक्सीन क्यों लगवाई जाती है?

कोविड वैक्सीन कोरोना वायरस से बचने के लिए लगवाई जाती है अगर आप कोविड वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो आपको कोरोना वायरस होने की पूरी संभावना है जिसके कारण आपके स्वास्थ्य की स्थिति बिगड़ सकती है और आपकी मृत्यु तक हो सकती है।

कोविड वैक्सीन को लगवाने के दुष्प्रभाव क्या हैं?

कोविड वैक्सीन को लगवाने की कोई गंभीर दुष्प्रभाव तो नहीं है परंतु छोटे-मोटे दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे सिर दर्द होना उल्टियां होना बुखार होना कमर दर्द होना नसों में तनाव होना अकड़न महसूस होना आदि।

क्या कोविड वैक्सीन को हम खरीद सकते हैं?

नहीं हम कोविड वैक्सीन को नहीं खरीद सकते अभी भारत में जितनी भी जगह कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है वहां पर यह सरकार द्वारा ही लगाई जा रही है आप इसे खरीद नहीं सकते हैं और ना ही यह तय कर सकते हैं कि कौन सी वैक्सीन आपको लगाई जाएगी।

क्या कोविड वैक्सीन लगाने से किसी की जान भी जा सकती है?

हां, ऐसा हो तो सकता है परंतु ऐसा होने की संभावना ना के बराबर है क्योंकि पूरी दुनिया में सिर्फ अमेरिका में ही ऐसा हुआ था जहां पर वैक्सीन लगाने से एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी।

कोविड वैक्सीन को लगवाने का प्रोसीजर क्या है?

कोविड वैक्सीन को लगवाने का प्रोसीजर काफी आसान है पहले आपको आरोग्य सेतु एप पर अपने नंबर से रजिस्टर करना होता है फिर जरूरी डाक्यूमेंट्स और जानकारी को अपलोड करना होता है उसके बाद अपना टोकन नंबर लेना होता है और एक निश्चित तिथि पर जाकर सेंटर से वैक्सीन लगवानी होती है।

कोविड वैक्सीन का दूसरा डोज क्या है?

कोविड वैक्सीन एक बार में संपूर्ण नहीं लगती है पहले आपको एक बार वैक्सीन लगाई जाएगी फिर उसके चार से पांच हफ्तों बाद दोबारा वैक्सीन लगाई जाती है इसके दो डोज लगते हैं।

संदर्भ (Reference)

Vaccine development, testing, and regulation. (n.d.). History of Vaccines – A Vaccine History Project of The College of Physicians of Philadelphia | History of Vaccines. https://www.historyofvaccines.org/content/articles/vaccine-development-testing-and-regulation

Vaccine research center. (n.d.). National Institute of Allergy and Infectious Diseases (NIAID). https://www.niaid.nih.gov/about/vrc

Coronavirus disease (COVID-19): Vaccine research and development. (n.d.). WHO | World Health Organization. https://www.who.int/news-room/q-a-detail/coronavirus-disease-(covid-19)-vaccine-research-and-development

Vaccine side effects | Vaccines. (n.d.). Vaccines. https://www.vaccines.gov/basics/safety/side_effects

Leave a Comment