Ash gourd in hindi: फायदे, नुकसान, इत्यादि

पेठा (Ash gourd) एक ऐसी सब्जी है जिसका उपयोग अलग-अलग प्रकार से किया जाता है कुछ लोग इसका उपयोग दवाई के रूप में करते हैं, कुछ लोग इसका उपयोग खाद्य सामग्री के रूप में और कुछ लोग इसका उपयोग मिठाई के रूप में करते हैं।

पेठा (Ash gourd) एक गुणकारी सब्जी है पूरे भारत में इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है यह काफी गुणकारी होता है जिसके कारण यह अलग-अलग प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है इसमें बहुत अधिक मात्रा में फाइबर होते हैं जिससे हमारा पाचन तंत्र मजबूत होता है।

पेठा डायबिटीज को भी कम करने में मदद करता है इसके साथ-साथ जो लोग मोटापा कम करना चाहते हैं उन्हें पेठे (Ash gourd) का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल ना के बराबर होता है जिस कारण से यह मोटापे को कम करने में मदद करता है।

इसलिए गुणकारी पेठे के लाभ जानने के लिए और उसके विषय में संपूर्ण जानकारी जान प्राप्त करने के लिए, इस आर्टिकल में हम बात करेंगे पेठे के बारे में कि पेठा (Ash gourd) क्या है, पेठा खाने के क्या-क्या फायदे हैं, पेठा (Ash gourd) खाने के क्या क्या नुकसान है और इसके साथ-साथ पेठे से जुड़ी हर संभव जानकारी।

Table of Contents

पेठा (Ash gourd) क्या है – What is Ash gourd in Hindi

पेठे (Ash gourd) का वैज्ञानिक नाम बेनकिसा हेस्पिडाइस है हिंदी भाषा में इसे “पेठा” और तेलुगू भाषा में “बुदिदा गुम्मदी” कहा जाता है, तमिल में इसे “नीर पोशनिककाई” और मलयालम में “कुंबलम” नाम से जाना जाता है।

यह हरी सब्जी आज से नहीं बल्कि प्राचीन काल से औषधि के रूप में जानी जाती है यहां तक की आयुर्वेदिक ग्रंथों में भी इसके बारे में लिखा हुआ है। और आज के समय में यह अपने अपार स्वास्थ्य से जुड़े लाभों के कारण चर्चा में है।

पूरे भारत में पेठा (Ash gourd) को अलग-अलग रूप में इस्तेमाल किया और खाया जाता है इसके कई स्वास्थ्य से जुड़े लाभ हैं जिनमें से कुछ मुख्यत पेट, यकृत और त्वचा की बीमारियों से जुड़े हैं।

पेठा (Ash gourd) स्वाभाविक रूप से दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों जैसे भारत, श्रीलंका, नेपाल, इंडोनेशिया और चीन के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया में उगाया जाता है।

पेठे की बेल होती है जिसमें बड़े पीले फूल लगते हैं। इसके पत्ते लगभग 10 से 20 सेंटीमीटर तक लंबे हो सकते हैं और इसका  तना लंबा होता हैं सामान्यता इसका फल अंडाकार होता है और व्यास में इसके फल 30 सेंटीमीटर तक बढ़ सकते हैं। इसके पौधे का प्रसार बीज द्वारा होता है यह कुछ-कुछ देखने में तरबूज या बड़े खीरे जैसा प्रतीत होता है।

पेठे (Ash gourd) को आमतौर पर एक सब्जी माना जाता है जिसका इस्तेमाल कई प्रकार की व्यंजन जैसे करी, सब्जी और दाल के अलावा कई प्रकार की मिठाइयों और कैंडी बनाने के लिए किया जाता है।

पेठे (Ash gourd) में भरपूर मात्रा में अलग-अलग प्रकार के पोषक तत्व होते हैं जिनका मुख्य कार्य, शरीर में शीतलता पैदा करना और शरीर में पानी की मात्रा को उचित रखना होता है। पेठे (Ash gourd) में 0 कोलेस्ट्रॉल होता है जिस कारण से यह हृदय के स्वास्थ्य में वृद्धि करता है और हृदय की कार्य क्षमता को भी बढ़ाता है।

इसका नियमित सेवन करने से शरीर में चयापचय कार्यों को सुविधाजनक तरीके से होने में मदद मिलती है इसमें अलग-अलग प्रकार के खनिज भरपूर मात्रा में उपलब्ध होते हैं।

यह भी पढ़ें:- Cornflour in hindi: फायदे, नुकसान, इत्यादि

पेठा (Ash gourd) खाने के फायदे – Benefits of Ash gourd in Hindi

पेठा (Ash gourd) खाने के फायदे
 

– वजन घटाने में मदद करता है।

पेठे (Ash gourd) में बहुत अधिक मात्रा में जरूरी पोषक तत्व होते हैं और बहुत कम मात्रा में कैलरी होती है इसी कारण से अगर आप पेठे (Ash gourd) का सेवन करते हैं तो आप जल्द से जल्द अपना वजन घटा पाएंगे इसमें बहुत अधिक मात्रा में फाइबर भी होता है। जिस कारण यह जल्दी से जल्दी पच भी जाता है।

– हृदय की कार्य क्षमता को बढ़ाता है।

पेठे (Ash gourd) में ना के बराबर कोलेस्ट्रोल होता है जिसके कारण से इसका नियमित सेवन करने से हमारे हृदय की कार्य क्षमता बढ़ जाती है इसे आप आसानी से किसी भी भारतीय व्यंजन के साथ खा सकते हैं।

इसका नियमित सेवन करने से हमारा ब्लड सरकुलेशन भी अच्छा होता है और हमारा हृदय भी मजबूत होता है।

– किडनी को डिटॉक्सिफाई करता है।

पेठे (Ash gourd) का नियमित सेवन हमारे शरीर की उत्सर्जन प्रणाली को प्रभावित करता है इसके कारण गुर्दे में भी तरल पदार्थों का स्राव बढ़ जाता है जिसकी वजह से गुर्दे की कार्य क्षमता बढ़ जाती है और विषाक्त पदार्थों से भी छुटकारा मिलता है।

– पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है।

पेठे (Ash gourd) में काफी मात्रा में फाइबर होते हैं जो भारी भोजन को आसानी से पचाने में मदद करते हैं के साथ-साथ पेट में कब्ज की समस्या सूजन और ऐंठन होने से रोकते हैं।

– श्वसन तंत्र को मजबूत बनाता है।

पेठे (Ash gourd) में कुछ ऐसे आवश्यक तत्व होते हैं जो हमारी श्वसन तंत्र को मजबूत बनाते हैं और हमारे फेफड़ों में किसी भी प्रकार के इंफेक्शन या बीमारी को होने से रोकते हैं।

– संपूर्ण केटोजेनिक आहार है।

पेठा (Ash gourd) संपूर्ण रूप से केटोजेनिक आहार है, जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने और हमें बीमारियों से बचाने में मदद करता है।

त्वचा और बालों के लिए पेठा (Ash gourd) खाने के फायदे

– यह त्वचा को मुलायम बनाता है।

– त्वचा में संक्रमण को होने से रोकता है।

– बालों को घना और मजबूत बनाता है।

– बालों में रूसी को खत्म करता है।

– पेठे (Ash gourd) का उपयोग हेयर जेल के रूप में भी किया जाता है।

आयुर्वेद में पेठा (Ash gourd) का उपयोग।

– बुखार को कम करने में इसका उपयोग किया जाता है।

– पीलिया के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है।

– हृदय संबंधी बीमारियों के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है।

– बाल झड़ने की समस्या में इसका उपयोग किया जाता है।

– जोड़ों से संबंधित बीमारियों के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है।

– इम्यूनिटी को बढ़ाता है।

– थायराइड को नियंत्रण में रखता है।

– कब्ज के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है।

पेठा (Ash gourd) के कुछ अन्य फायदे

– डायबिटीज के इलाज में मदद करता है।

– बवासीर के इलाज में मदद करता है।

– पथरी के इलाज में मदद करता है।

– नाक से खून बहने की समस्या को ठीक करता है।

– अस्थमा के इलाज में मदद करता है।

– लिकोरिया के इलाज में मदद करता है।

– नपुसंकता के इलाज में मदद करता है।

– हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।

– बिच्छू के काटने पर इसका उपयोग करने से फायदा मिलता है।

– आंखों के नीचे फोड़े फुंसी को ठीक करने में मदद करता है।

– शरीर को मजबूत बनाने में मदद करता है।

– मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को कम करता है।

– टीवी की बीमारी के इलाज में मदद करता है।

– स्पर्म काउंट को बढ़ाता है।

– सर्दी, खांसी और माइग्रेन के इलाज में मदद करता है।

पेठा (Ash gourd) खाने के दुष्प्रभाव – Side effects of Ash gourd in Hindi

– पेठा हमेशा अपने स्थानीय बाजार के आसपास की दुकान से ही खरीदें।

– हमेशा ताजे पेठे (Ash gourd) का ही उपयोग करें क्योंकि कुछ संक्रामक एजेंट के कारण यह दूषित हो सकता है।

– क्योंकि यह जल्दी खराब नहीं होती इसलिए लोग आपको पुराना पेठा (Ash gourd) भी उपयोग करने के लिए दे सकते हैं।

– अधिक मात्रा में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। यह खनिज पदार्थों से भरपूर होती है इसलिए इसकी अत्यधिक खपत हानिकारक हो सकती है। इसका नियमित सेवन करना उचित है परंतु इसका बहुत अधिक प्रयोग करना हानिकारक हो सकता है।

– शरीर के तापमान में वृद्धि या बुखार आना

जिन लोगों को बुखार उतरने चढ़ने की समस्या होती है उन्हें इस दवाई का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका प्रयोग करने से इलाज का असर धीरे-धीरे होता है।

पेठा (Ash gourd) में पोषक तत्वों की मात्रा – Nutrition value in Ash gourd Hindi

पेठे (Ash gourd) में अलग-अलग प्रकार पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। 100 ग्राम पेठा (Ash gourd) में सभी पोषक तत्व निम्नलिखित मात्रा में पाए जाते हैं

कैलोरी 86.2 किलो कैलोरी

 मैक्रोन्यूट्रिएंट्स:

कुल वसा 3.9 ग्राम

संतृप्त वसा 0.5 ग्राम

कुल कार्बोहाइड्रेट 12.5 ग्राम

आहार फाइबर 0.6 ग्राम

प्रोटीन 2.0 ग्राम

कोलेस्ट्रॉल 0.0 मिलीग्राम

सोडियम 33.0 मिलीग्राम

पोटेशियम 359.1 मिलीग्राम

सूक्ष्म पोषक तत्व:

 विटामिन:

विटामिन ए 9.8%

विटामिन बी 6 11.3%

विटामिन सी 30.5%

विटामिन ई 1.1%

 खनिज:

कैल्शियम 5.1%

मैग्नीशियम 6.7%

फॉस्फोरस 5.0%

जस्ता 7.2%

लोहा 5.7%

मैंगनीज 12.5%

आयोडीन 5.9%

क्या गर्भावस्था के दौरान पेठा (Ash gourd) खाना सुरक्षित है – Is it safe to eat ash gourd during pregnancy in Hindi

क्या गर्भावस्था के दौरान पेठा (Ash gourd) खाना सुरक्षित है
पेठे (Ash gourd) में 96% तक पानी होता है इसलिए गर्भावस्था में इसका सेवन करना एक अच्छी बात माना जाता है। आमतौर पर गर्भावस्था में इसके सेवन के कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होते हैं परंतु हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अगर गर्भावस्था के दौरान हमें किसी भी प्रकार के कोई दुष्प्रभाव देखने को मिलते हैं तो हमें तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

हमें कभी भी गर्भावस्था के दौरान अपनी मर्जी नहीं चलानी चाहिए डॉक्टर की सलाह से ही दवाइयों और खाद्य सामग्रियों का सेवन करना चाहिए अन्यथा आपको इस लापरवाही के गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

क्या पेठा (Ash gourd) का सेवन लीवर के लिए अच्छा है – Is Ash gourd good for liver in Hindi

पेठे (Ash gourd) में भरपूर मात्रा में पानी होता है जिसकी वजह से यह हमारे शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है और हमारे शरीर में किसी भी प्रकार की बीमारी या इन्फेक्शन होने से रोकता है।

पेठा (Ash gourd) का नियमित सेवन करने से यह हमें अलग-अलग प्रकार के इंफेक्शन से तो बचाता ही है साथ ही यह हमें अलग-अलग प्रकार की बीमारियों से भी बचाता है विशेषकर यह हमारे गुर्दे का ध्यान रखता है और गुर्दे को मजबूत बनाता है।

निष्कर्ष

हमने इस आर्टिकल में बताया है कि पेठा (Ash gourd) क्या है पेठा (Ash gourd) को खाने के क्या क्या लाभ है इसे खाने के क्या-क्या दुष्प्रभाव है साथ ही पेठा (Ash gourd) के विषय में संपूर्ण जानकारी।

हमने इस आर्टिकल में वह सब जानकारी बताइए जो आपको पेठा (Ash gourd) का उपयोग करने से पहले जान लेनी चाहिए ताकि आप पेठा (Ash gourd) को खाने के लाभ और हानियां जान लें।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है या आपके कोई सवाल का जवाब है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं हम आपके प्रश्नों का उत्तर अवश्य देंगे।

प्रश्न और उत्तर

पेठे (Ash gourd) का उपयोग किन-किन चीजों के लिए किया जाता है?

पेठे (Ash gourd) का उपयोग अलग-अलग प्रकार से किया जाता है कुछ लोग इसे खाने में अलग-अलग तरीके से मिलाकर खाते हैं और कुछ लोग इसका उपयोग जड़ी बूटी की तरह करते हैं।

क्या पेठा (Ash gourd) खाने से सच में वजन कम होता है?

पेठे (Ash gourd) में बहुत कम मात्रा में केलेस्ट्रॉल होता है जिसकी वजह से यह व्यक्ति को वजन कम करने में मदद करता है और इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर भी होते हैं जिनसे पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

क्या पेठे (Ash gourd) का उपयोग करने से गैस की समस्या में राहत मिलती है?

हां, पेठे (Ash gourd) का उपयोग करने से गैस की समस्या में राहत मिलती है क्योंकि पेठे (Ash gourd) में भरपूर मात्रा में फाइबर होते हैं इससे हमारा पाचन तंत्र मजबूत होता है और हमें अपच या गैस की समस्या बिल्कुल नहीं होती।

पेठा (Ash gourd) खाने के क्या-क्या फायदे हैं?

पेठा (Ash gourd) खाने के अनगिनत फायदे हैं जिनमें से मुख्य हैं कि यह बालों को मजबूत करता है, पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है, हमारे शरीर की कार्य क्षमता को बढ़ाता है, हमारे शरीर को मजबूत बनाता है इसके अलावा इसके अनेक लाभ हैं।

क्या पेठे (Ash gourd) का नियमित उपयोग सही है?

हां, पेठे (Ash gourd) का नियमित उपयोग सही है परंतु डॉक्टर की सलाह से ही इसका उपयोग करना चाहिए। इसका बहुत अधिक उपयोग करने से भी समस्याएं हो सकती हैं।

Leave a Comment