Cornflour in hindi: फायदे, नुकसान, इत्यादि

पूरी दुनिया में सभी लोग अलग-अलग प्रकार का खाना खाना पसंद करते हैं और अलग अलग प्रकार का खाना अलग अलग प्रकार के अवयवों से मिलकर बना होता है। जैसी दूध, दही, अंडा, घी, मांस आदि।

इन सभी चीजों के साथ-साथ हमारे भोजन का एक अहम हिस्सा अलग-अलग प्रकार के अनाज भी है जो हम सामान्यता रोज खाते हैं और यह मूल रूप से हमारा खाना होते हैं। सभी खाद्य सामग्री अलग-अलग प्रकार के अवयवों से मिलकर बनी होती है और सभी खाद्य सामग्रियों में एक महत्वपूर्ण चीज होती है अनाज। इसलिए हम आज बात करेंगे कॉर्नफ्लोर के बारे में।

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि कॉर्नफ्लोर क्या होता है, कॉर्नफ्लोर खाने के क्या फायदे हैं, कॉर्नफ्लोर खाने के क्या-क्या नुकसान हैं, क्या कॉर्नफ्लोर मोटापे को बढ़ाता है, कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल और काफी कुछ ऐसी जानकारीयां जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए।

Table of Contents

कॉर्नफ्लोर क्या होता हैै – What is cornflour in Hindi

कॉर्नफ्लोर मक्के का स्टार्च होता है कॉर्नफ्लोर मक्के के आटे से थोड़ा सा अलग होता है आमतौर पर मक्के का आटा पीले रंग का और दरदरा होता है जबकि कॉर्नफ्लोर सफेद रंग का चिकना पाउडर होता है।

कॉर्नफ्लोर सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है इसलिए इसे काफी चाव से खाया जाता है। कॉर्नफ्लोर बनाते समय मक्के का छिलका हटाकर पीसा जाता है इस कारण से कॉर्नफ्लोर का रंग सफेद होता है और यह मैदे की तरह दिखाई देता है।

कॉर्नफ्लोर का स्वाद खाने में बेशक बहुत ज्यादा स्वादिष्ट ना हो लेकिन इससे बने खाद्य पदार्थ काफी स्वादिष्ट होते हैं और यह है सेहत के मामले में काफी लाभदायक होता है।

यह भी पढ़ें:- Flax seeds in Hindi: लाभ, दुष्प्रभाव, कैसे खाएं इत्यादि

कॉर्नफ्लोर उपयोग करने के कुछ लाभ – Benefits of cornflour in Hindi

  • कॉर्नफ्लोर जिलेटिन रहित होता है इसलिए इसे काफी लंबे समय तक स्टॉक करके रखा जा सकता है चावल या गेहूं के आटे के मुकाबले।
  • मकई में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य को बेहतर बनाते हैं और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं इसी कारण से बॉडी बिल्डिंग के लिए भी कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल किया जाता है।
  • कॉर्नफ्लोर में बहुत अच्छी मात्रा में फाइबर होते हैं जो हमारे पेट को ठीक रखने में मदद करते हैं और हमें एक स्वस्थ और अच्छा पाचन तंत्र प्रदान करते हैैं।
  • कॉर्नफ्लोर में प्रोटीन भी काफी अच्छी मात्रा में उपलब्ध होता है।
  • कॉर्नफ्लोर को आसानी से पचाया जा सकता है क्योंकि इसमें इनसोल्युबल फाइबर होते हैैं जो हमारे जिगर के लिए भी काफी लाभदायक होते है।
  • कॉर्नफ्लोर में कुछ मात्रा में मिनरल्स भी होते हैं।

कॉर्नफ्लोर का उपयोग करने के दुष्प्रभाव – Side effects of cornflour in Hindi

  • कॉर्नफ्लोर में भरपूर मात्रा में हाई कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट होते हैं जैसे रिफाइंड शुगर जो शारीरिक वजन को बढ़ाते हैं। कॉर्नफ्लोर का सेवन उन लोगों को बिल्कुल नहीं करना चाहिए जो अपना वजन घटाना चाहते हो या अपना वजन घटा रहे हो।
  • कॉर्नफ्लोर में बहुत अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है जिसकी वजह से यह शुगर या डायबिटीज वाले मरीज के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है इसलिए जिस व्यक्ति को भी डायबिटीज है उसे कॉर्नफ्लोर का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • कॉर्नफ्लोर को जीएमओ (यानी जर्नली मॉडिफाइड कौर्न) द्वारा बनाया जाता है और इसे बनाने के लिए कुछ मात्रा में Pesticides का इस्तेमाल भी किया जाता है जिससे यह हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए कभी भी कॉर्नफ्लोर खरीदते समय लेबल जरूर पढ़ें और देखें कि क्या इसमें Pesticides का इस्तेमाल हुआ है या नहीं अगर हुआ है तो उसे ना खरीदें।

कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल – Uses of cornflour in Hindi

 
कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल
कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के कामों के लिए किया जाता है जैसे

 

रसोई घर में

मुख्य रूप से कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल घर की रसोई में होता है जहां कॉर्नफ्लोर को अलग-अलग प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।
कॉर्नफ्लोर का उपयोग अलग-अलग प्रकार के कार्यों के लिए किया जाता है जैसे कि सूप को गाढ़ा करने के लिए और अलग-अलग प्रकार की मनचाहे व्यंजन बनाने के लिए कॉर्नफ्लोर का उपयोग किया जाता है

औषधि के रूप में

कॉर्नफ्लोर एक ताकतवर चीज होती है इसलिए इसका उपयोग बॉडी बिल्डिंग के लिए भी किया जाता है।

कॉर्नफ्लोर का उपयोग अन्य प्रकार की चिकित्सा से जुड़े कार्यों के लिए भी किया जाता है। 

कॉर्नफ्लोर के प्रकार – Type of cornflour in Hindi

कॉर्नफ्लोर के प्रकार
बाजार में कई प्रकार के कॉर्नफ्लोर उपलब्ध हैं अलग-अलग प्रकार के कॉर्नफ्लोर का उपयोग अलग-अलग कार्यों के लिए जाता है मुख्य रूप से दो प्रकार के ही कॉर्नफ्लोर होते हैं। 

 

  • डेंट कौर्न
  • फिंल्ट मकई

यह दोनों ही अलग-अलग प्रकार की कौर्न है और उनका काम भी अलग-अलग होता है इनका स्वाद भी हल्का-हल्का अलग होता है और उन्हें मुख्य रूप से मध्य और दक्षिण अमेरिका के अधिकांश भागों में उगाया जाता है। खाना बनाने में कई अन्य प्रकार की कॉर्नफ्लोर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल भी किया जाता है।

मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर में क्या अंतर होता हैैैै – Difference between cornmeal and corn flour in Hindi 

मक्के के आटा और कॉर्नफ्लोर में थोड़ा बहुत अंतर होता है जैसे मक्के का आटा पीले रंग का होता है जबकि कॉर्नफ्लोर सफेद रंग का होता है मक्के के आटे को मक्के को सुखाकर पीस कर बनाया जाता है जबकि कॉर्नफ्लोर में मक्के के छिलकों को उतार दिया जाता है उसके बाद उसे पीस कर बनाया जाता है यह कॉर्नफ्लोर मक्के के आटे के मुकाबले काफी पतला होता है बिल्कुल मैदा जैसा।

 

मक्के का आटा

  • पीले रंग का होता है
  • हल्का दरदरा होता है
  • बिना छिलका उतारे पीसकर बनाया जाता है

कॉर्नफ्लोर

  • कॉर्नफ्लोर सफेद रंग का होता है।
  • बारीक और महीन होता है।
  • मैदे जैसा होता है
  • मक्के के दाने को छीलकर पीसकर बनाया जाता है।

क्या कॉर्नफ्लोर आटे से ज्यादा अच्छा होता हैै – Which is good corn flour or Aata in Hindi 

कॉर्नफ्लोर आटे से ज्यादा अच्छा नहीं होता है क्योंकि आटा ज्यादा ताकतवर होता है जबकि कॉर्नफ्लोर कुछ उपयोगों में काफी अच्छा होता है और कुछ उपयोगों में यह नुकसानदेह भी हो सकता है। जैसे किसी व्यक्ति को अगर डायबिटीज है तो उसे कॉर्नफ्लोर नहीं खाना चाहिए।
 
दूसरी बात कॉर्नफ्लोर मोटापे को भी बढ़ाता है इसलिए कॉर्नफ्लोर आटे के मुकाबले कम लाभदायक होता है परंतु जो लोग आटे का सेवन नहीं करते हैैं वे कॉर्नफ्लोर का सेवन आराम से कर सकते हैं यह कॉर्नफ्लोर का काफी अच्छा दूसरा विकल्प है।

 

क्या कॉर्नफ्लोर सेहत के लिए अच्छा होता हैै – Is corn flour good for health in Hindi

कॉर्नफ्लोर सेहत के लिए काफी अच्छा होता है परंतु कुछ परिस्थितियों में यह नुकसानदेह भी हो सकता है जैसे अगर व्यक्ति को डायबिटीज है या व्यक्ति मोटापे का शिकार है। तो व्यक्ति को इन दोनों ही परिस्थितियों में कॉर्नफ्लोर का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि कॉर्नफ्लोर में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है और यह डायबिटीज और मोटापे को बढ़ा सकता है।

क्या कॉर्नफ्लोर में वसा होता है – Does cornflour contain fat in Hindi 

हां, कॉर्नफ्लोर में वसा होता है परंतु वह बहुत थोड़ी मात्रा में होता है।  
 
100 ग्राम कॉर्नफ्लोर में 
  • 1.2 ग्राम वसा होता है 
  • जिसमें से 0.2 ग्राम संतृप्त वसा होता है 
  • प्रीसैचुरेटेड वसा 0.6 ग्राम होता है
  • मोनोसैचुरेटेड वसा 0.3 ग्राम होता है। 

कॉर्नफ्लोर में पोषक तत्वों की मात्रा – Nutrition value of cornflour in Hindi

100 ग्राम कॉर्नफ्लोर में

 

  • 80 ग्राम कैलरी होती हैं
  • कुल वसा 1.2 ग्राम होता है 
  • जिसमें से सैचुरेटेड वसा 0.2 ग्राम होता है।
  • पॉलीअनसैचुरेटेड वसा 0.6 ग्राम होता है
  • और मोनोसैचुरेटेड वसा 0.3 ग्राम होता है
  • कॉर्नफ्लोर में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है
  • कॉर्नफ्लोर में सोडियम 15 मिलीग्राम होता है
  • पोटेशियम 270 मिलीग्राम होता है
  • कॉर्नफ्लोर में काफी अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है जैसे 100 ग्राम कॉर्नफ्लोर में 19 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है
  • प्रोटीन 3.2 ग्राम
 

कॉर्नफ्लोर अल्टरनेटिव – Corn flour alternative in Hindi

कॉर्नफ्लोर का उपयोग अलग-अलग प्रकार की चीजों को बनाने के लिए किया जाता है अब यह निर्भर करता है कि आप क्या बना रहे हैं अगर आप सूप बना रहे हैं तो आप सूप में कॉर्नफ्लोर की जगह कई अन्य चीज भी डाल सकते हैं और इसी तरीके से अगर आप कोई और खाने की चीज बना रहे हैं तो उस हिसाब से आप उस चीज को कॉर्नफ्लोर की जगह पर उपयोग कर सकते हैं परंतु इससे जरूर स्वाद में तो फर्क आएगा ही खाद्य सामग्री की न्यूट्रीशनल वैल्यू पर भी फर्क पड़ेगा।
 

कॉर्न स्टार्च और कॉर्नफ्लोर क्या है – Difference between corn flour and cornstarch in Hindi

कॉर्न स्टार्च और कॉर्नफ्लोर अलग-अलग चीजें नहीं है कौन स्टार और कॉर्नफ्लोर एक ही चीज है जबकि मक्के का आटा और कॉर्नफ्लोर अलग-अलग चीजें होती हैं। कॉर्नफ्लोर को ही कॉर्न स्टार्च कहकर भी पुकारा जाता है कॉर्नफ्लोर सफेद रंग का होता है यह हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है और कॉर्नफ्लोर गेहूं का एक अच्छा दूसरा विकल्प है।
 

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा इस आर्टिकल में हमने बताया है कि कॉर्नफ्लोर क्या होता है, कॉर्नफ्लोर खाने के क्या फायदे हैं, कॉर्नफ्लोर खाने के क्या-क्या नुकसान हैं, क्या कॉर्नफ्लोर मोटापे को बढ़ाता है, कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल इसके अलावा कई अन्य जानकारियां। अगर आपके कोई सवाल जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

 

प्रश्न और उत्तर

क्या कॉर्नफ्लोर खाने से मोटापा होता है?

कॉर्नफ्लोर खाने से मोटापा बढ़ता है क्योंकि कॉर्नफर में बहुत अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है जो मोटापे को बढ़ाता है।

क्या डायबिटीज का मरीज कॉर्नफ्लोर खा सकता है?

जिस व्यक्ति को डायबिटीज है उसे कॉर्नफ्लोर नहीं खाना चाहिए क्योंकि कॉर्नफ्लोर में बहुत अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है जो व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए उचित नहीं है और डायबिटीज के मरीज के लिए तो बिल्कुल भी नहीं।

मक्के के आटा और कॉर्नफ्लोर में क्या क्या अंतर है?

मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर में कोई बहुत ज्यादा अंतर नहीं होता परंतु इसमें थोड़ा बहुत अंतर होता है जैसे मक्के का आटा पीले रंग का होता है जबकि कॉर्नफ्लोर सफेद रंग का होता है मक्के का आटा हल्का दरदरा होता है जबकि कॉर्नफ्लोर बारीक मैदे की तरह होता है। कॉर्नफ्लोर मक्के के छिलके को पीसकर बनाया जाता है जबकि मक्के के आटे को मक्के को सुखाकर उनके दानों को पीसकर बनाया जाता है।

Leave a Comment