Benefits of Yoga in Hindi | योग के फायदे

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने का समय नहीं मिलता और इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में व्यक्ति को रोज भागदौड़ करनी पड़ती है जिसके कारण व्यक्ति का स्वास्थ्य कभी भी बिगड़ सकता है।

तो क्या कोई ऐसी चीज है जिसे नियमित रूप से अपनाने से हमारा शारीरिक विकास सही ढंग से हो और हम कभी भी शारीरिक व मानसिक रूप से आसानी से बीमार ना पड़े, ऐसी एक चीज है जिसका नाम है योगा

इसलिए आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि योगा क्या है, योगा के क्या लाभ हैं, योगा के क्या दुष्प्रभाव हैं और योगा करते समय हमें किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इसके साथ-साथ योगा से जुड़ी काफी अन्य जानकारियां जो आपको योगा करने से पहले जान लेनी चाहिए। 

योगा क्या होता है – What is Yoga in Hindi

योगा (Yoga) एक ऐसी चीज है जो व्यक्ति को शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत बनाती ही है इसके साथ-साथ कई प्रकार की बीमारियों के इलाज में मदद करता है और बीमारियों को होने से रोकता है। 

योगा शब्द मूल रूप से संस्कृत भाषा से लिया गया है यह यूज शब्द से मिलकर बना है जिसका मतलब होता है इकाई एकता या जोड़ना। योगा भारत में काफी प्राचीन समय से अपनाया जा रहा है बड़े-बड़े ऋषियों, महाऋषियों और संतों ने योगा को अपनाया है योगा हमारे व्यक्तित्व को निखारता है और यह हमारी आत्मा को भी स्वच्छ बनाता है।

योगा इतना महान है कि भगवत गीता में स्वयं श्रीकृष्ण ने योगा के बारे में बताया है की योगा क्या है और यह कितना महान है।

योगा मूल रूप से एक ऐसी पद्धति है जिसमें हम किसी भी अन्य वैकल्पिक उपकरणों का उपयोग नहीं करते हैं योगा में सिर्फ अपने शरीर के अंगों को मोड़ना, अपने बैठने की स्थिति को ठीक करना, अपने शरीर की लचक को बढ़ाना आदि शामिल हैैं।

योगा के प्रकार – Types of Yoga in Hindi

योगा के प्रकार

योगासन काफी पुराने समय से अभ्यास में लाया जा रहा है योगा के कई प्रकार और साधनाएं हैं जिनमें से मुख्य निम्न हैं

  1. ज्ञान योग
  2. भक्ति योग
  3. कर्मयोग
  4. पतंजलि योग
  5. हठयोग 
  6. कुंडलिनी योग 
  7. ध्यान योग 
  8. मंत्र योग 
  9. लय योग 
  10. जैन योग 
  11. बौद्ध योग

इसके अलावा कुछ प्रमुख रूप से उपयोग में लाए जाने वाली साधनाएं हैं

  • यम
  • नियम
  • आसन 
  • प्रणाम 
  • प्रत्याहार 
  • धारण 
  • ध्यान 
  • समाधि 
  • बांध 
  • मुद्रा 
  • षठ-कर्म 
  • युक्त आहार 
  • मंत्र जाप 
  • युक्त कर्मा

यह भी पढ़ें:- Laser treatment for ance scars in hindi: फायदे, नुकसान, इत्यादि

योगा करने के फायदे – Benefits of doing Yoga in Hindi

शरीर को स्वस्थ रखता है

योगा हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता हैै। यह हमारी मांसपेशियों को मजबूत बनाता है और हमारे शरीर की कार्य करने की क्षमता को बढ़ाता है।

कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम को स्वस्थ बनाता है

योगा और आसन नियमित रूप से करने से हमारे शरीर की शक्ति बढ़ती है कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम अच्छा और स्वस्थ हो जाता हैै। हमारे शरीर की नसों पर तनाव पड़ता है रेस्पिरेटरी सिस्टम भी मजबूत होता है।

मानसिक तनाव को कम करता है

आजकल की भागदौड़ भरी जीवनशैली के कारण लगभग हर व्यक्ति मानसिक तनाव से ग्रस्त रहता है और योगा इसी तनाव को कम करने में मदद करता है नियमित रूप से योग करने सेे जैसे अनुलोम विलोम, स्वसन एक्सरसाइज और प्राणायाम करने से व्यक्ति को तनाव से राहत मिलती है वह व्यक्ति मानसिक रूप से स्वस्थ होता है।

हमारे शरीर को निखारता है

नियमित रूप से योगा करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है जिसके द्वारा हमारी पर्सनालिटी निखरती हैै, हमारी त्वचा का रंग निखरता है और हमारे शरीर का सही से विकास हो पाता है जिससे हमारी पर्सनालिटी पर चार चांद लग जाते हैं।

शारीरिक विकास

नियमित रूप से योगा करने से हमारा मानसिक विकास तो होता ही है इसके साथ साथ हमारा शारीरिक विकास भी संपूर्ण ढंग से हो पाता है जिससे हमारे सभी अंगों का विकास होता है हमारे शरीर भी स्वस्थ रहता है और हम एक अच्छे और स्वस्थ शरीर के स्वामी बन पाते हैं।

कार्डियोवैस्कुलर डिजीज को होने से रोकता है

नियमित योग करने से हमारे शरीर का रक्त चाप सही रहता है हमारे शरीर के सभी अंग संपूर्ण रूप से काम कर पाते हैं हमारा ह्रदय काफी अच्छा कार्य करता है और सभी अंगों की कार्य क्षमता बढ़ जाती हैं विशेष रूप से हृदय रोग। इस कारण से हमें किसी भी प्रकार की हृदय संबंधी बीमारी आसानी से नहीं होती है।

मजबूत पाचन तंत्र

नियमित रूप से योगा करने से जैसे योग आसन, पद्मासन, ब्रीथिंग एक्सरसाइज ,अनुलोम विलोम आदि ऐसे योगा करने से हमारे शरीर का पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है और हम कभी पाचन तंत्र से संबंधित समस्याएं नहीं होती हैंं। हमारे शरीर के सभी अंग जो पाचन तंत्र से जुड़े होते हैं सभी अंग अच्छे तरीके से काम कर पाते हैं।

आत्मिक शांति प्रदान करता है

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी के कारण व्यक्ति काफी तनावग्रस्त हो जाता है वह अशांत रहने लगत है। नियमित रूप से योगा करने से हमारा मन शांत होता है हमें आत्मिक शांति प्राप्त होती है और हमारा शरीर भी स्वस्थ रहता है जिसके कारण हमें किसी भी प्रकार की मानसिक और शारीरिक बीमारी आसानी से नहीं होती है।

शरीर में लचीलापन बढ़ता है

नियमित रूप से योगा करने से हमारे शरीर का लचीलापन बढ़ता है और हमारे शरीर आसानी से बीमार नहीं पड़ता है हमारा मानसिक और शारीरिक विकास अच्छी तरीके से हो पाता है नियमित योगा करने से हमारी आत्मा भी पवित्र होती है और हमें मोटिवेशन और कॉन्फिडेंस भी मिलता है।

योगा करने के दुष्प्रभाव – Side effects of doing Yoga in Hindi

योगा करने के दुष्प्रभाव

रक्तचाप बढ़ सकता है

योगा करने से रक्तचाप बढ़ सकता है इसलिए योगा करते समय इस बात का ध्यान रखें और विशेष रूप से वे लोग जो उच्च रक्तचाप की दवाइयों का सेवन करते हैं।

चोट लगने का खतरा

अगर आप योगा करते समय कोई मुश्किल आसन कर रहे हैं तो आपको सावधानी रखनी चाहिए अन्यथा आपको योगा करते समय चोट भी लग सकती है। और आप घायल भी हो सकते हैं इसके साथ साथ आपको मोच भी आ सकती है जो काफी दर्द देती है।

हार्ट अटैक का खतरा

अगर आपको पहले कभी भी हार्ट अटैक आया है तो आपको योगा करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए और बहुत अधिक कठिन योगा नहीं करना चाहिए, अगर आप कोई मुश्किल ही होगा करते हैं तो इससे आपके हृदय पर जोर पड़ सकता है और आपको हार्टअटैक तक आ सकता है।

योगा करते समय संपूर्ण जानकारी लें

योगा करने से पहले जिस योगा आसन को आप करना चाहते हैं उसे करने से पहले उसके बारे में संपूर्ण जानकारी लें ले। आधी अधूरी जानकारी काफी घातक सिद्ध हो सकती है।

अर्थराइटिस कि समस्या 

वह लोग जिन्हें अर्थराइटिस की समस्या है उन्हें योगा करने से पहले किसी विशेषज्ञ से योगा के बारे में संपूर्ण जानकारी दे दनी चाहिए। अन्यथा व्यक्ति को इसके गंभीर दुष्परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

योगा करते समय सावधानियां – Precautions while doing yoga in Hindi

  • यदि आप बीमार हो तो आपको योगा नहीं करना चाहिए।
  • महिलाओं को रक्तस्राव के समय अत्याधिक मुश्किल योगा आसन नहीं करना चाहिए।
  • कभी भी खाना खाने के तुरंत बाद योगा आसन नहीं करना चाहिए कम से कम 2 से 3 घंटों के बाद ही हमें योगासन करना चाहिए।
  • कभी भी योगा करने के तुरंत बाद भोजन ना करें कम से कम आधा घंटे के बाद भोजन करें।
  • किसी ऑपरेशन या अन्य प्रकार की चिकित्सा कराते समय योगा के मुश्किल आसनों का प्रयोग ना करें।
  • योगा करने के बाद बहुत मुश्किल व्यायाम ना करें।
  • कभी भी योगा को बहुत ज्यादा गर्मी या बहुत ज्यादा ठंड में नहीं करना चाहिए।
  • योगा करते समय हमेशा योगा पर ही ध्यान दे।
  • योगा करने से पहले थोड़ा वार्म अप कर ले।
  • योगा करते समय मेट का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • योगा अभ्यास से पूर्व योगा अभ्यास शांति और आनंद के वातावरण में करना चाहिए तथा शांत शरीर और शांत मस्तिष्क के साथ करना चाहिए।
  • योगा हमेशा खाली पेट या हल्के पेट करना चाहिए यदि आपको किसी प्रकार की कमजोरी लग रही हो तो आप गुनगुने पानी में शहद डालकर पी सकते हैं इससे आपको ताकत मिलेगी।
  • कभी भी अभ्यास सत्र को प्रारंभ करने से पहले प्रार्थना या वंदना करनी चाहिए इससे हमारे मन को शांति मिलती है
  • योगाभ्यास धीरे-धीरे तनाव मुक्त तरीके से और पूरे शरीर पर नियंत्रण रखकर करना चाहिए
  • कभी भी योगाभ्यास करते समय शरीर को तनावग्रस्त या झटका न दें।
  • जितने भी अभ्यास आप कर रहे हैं उन्हें अपनी क्षमताओं के अनुसार करें किसी के देखा देखी कोई मुश्किल आसन नहीं करना चाहिए।

योगा कैसे काम करता है – How yoga works in Hindi

हमारा शरीर भिन्न भिन्न प्रकार के अंगों से मिलकर बना होता है और इन सभी अंगो का अलग-अलग कार्य होता है लेकिन हमारी खानपान की वजह से इन सभी अंगों की कार्य क्षमता पर दुष्प्रभाव पड़ता है जिस प्रकार यदि हम किसी गाड़ी का उपयोग करते हैं उसे सर्विसिंग की जरूरत पड़ती है उसी प्रकार हमारे शरीर को भी नियमित रूप से सर्विसिंग की जरूरत पड़ती है।

अगर हम नियमित रूप से योगा करते हैं तो इससे हमारे शरीर की सर्विसिंग होती है हमारे शरीर के हर अंग की कार्य क्षमता बढ़ती है।

और अगर हमारे शरीर के सभी अंग संपूर्ण रूप से स्वस्थ होंगें, उनमें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होगी तो हम भी स्वस्थ रहेंगे और हमारा शरीर भी स्वस्थ रहेगा और अगर हमारे इन अंगों में कोई समस्या उत्पन्न होती है तो हमारा शरीर भी रोग ग्रस्त हो जाता है।

सभी चीजों से बचने के लिए हमें नियमित रूप से योगा करते रहना चाहिए योगा करने से हमारे शरीर को स्वस्थ रहता ही है। हमारा मन भी स्वस्थ रहता है और हमारा मानसिक विकास सही ढंग से हो पाता है इसके साथ-साथ योगा करने से हमारे दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ती है और जिस व्यक्ति के दिमाग की कार्य क्षमता अधिक होती है वह अपनी जीवन में जरूर तरक्की करता है।

योगा करने के अनेकों फायदे हैं जैसे योगा करने से हमारे शरीर का रक्तचाप नियंत्रण में रहता है हमें आसानी से कोई बीमारी नहीं होती हमारा इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है हमारा पाचन तंत्र मजबूत हो जाता है और अगर हमारा पाचन तंत्र मजबूत हो जाता है तो हमें पेट से जुड़ी कोई बीमारी नहीं होती और जब हमें पेट से जुड़ी कोई बीमारी नहीं होगी तो हम आसानी से बीमार नहीं पड़ेंगे क्योंकि ज्यादातर लोगों को पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं।

बड़े बुजुर्ग कहकर भी गए हैं कि हर बीमारी की जड़ पेट से जुड़ी हुई होती है इसलिए हमें अपने पेट को हमेशा स्वस्थ रखना चाहिए।

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा हमने इस आर्टिकल में बताया है कि योगा क्या है, योगा करने के क्या-क्या लाभ हैं, योगा करने के क्या-क्या दुष्प्रभाव है और योगा करते समय हमें किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए इसके साथ काफी कुछ अन्य जानकारियां भी उपलब्ध कराई हैं।

अगर आपके कोई सवाल यह जवाब हैं तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं हम आपके सुझाव अवश्य पढेंगें।

प्रश्न और उत्तर

क्या योगा करने के कुछ दुष्प्रभाव भी हैं?

योगा करने की कुछ विशेष दुष्प्रभाव नहीं है परंतु जिन लोगों को शारीरिक बीमारियां या मानसिक बीमारियां होती हैं उन्हें कुछ विशेष योगा आसनों को करते समय सावधानियां बरतनी चाहिए।

योगा करते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

योगा आसन करते समय हमें निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • योगा करने से पहले यह कोई आसन करने से पहले उसके बारे में संपूर्ण जानकारी ले ले।
  • कोई मुश्किल योगा आसन, किसी प्रशिक्षक की देखरेख में ही करें।
  • हमेशा योगा के संपूर्ण नियमों का पालन करें।
  • अगर आप गलत नियम करते हैं तो आपको समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

क्या योगा करना आसान है?

जो लोग नियमित रूप से योगा करते हैं उनके लिए योगा करना कोई बड़ी बात नहीं लेकिन शुरुआत में योगा करते समय आपको तकलीफ हो सकती हैं, इससे बचने के लिए योगा करते रहना चाहिए और योगा को कभी नहीं छोड़ना चाहिए।

योगा करने के मुख्य लाभ क्या हैं?

योगा करने के मुख्य लाभ निम्नलिखित हैं 

  • योगा हमारे शरीर को तंदुरुस्त रखने में मदद करता है।
  • हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • हमारी पाचन क्रिया को ठीक करता है।
  • हमें मानसिक रूप से मजबूत बनाता है।

Leave a Comment