CBC test in hindi | CBC Test क्यों करवाया जाता है इत्यादि

CBC test in hindi | CBC Test क्यों करवाया जाता है इत्यादि

CBC test in hindi हमारा शरीर संसार की सबसे सुंदर संरचना है। हमारे शरीर के सभी भाग बहुत महत्वपूर्ण होते हैं और इन सभी भागों में एक चीज समानता पाई जाती है जिसे रक्त कहा जाता है रक्त हमारे शरीर का मूल हिस्सा है। रक्त भिन्न भिन्न प्रकार के अवयवों से मिलकर बनता है रक्त मुख्य रूप सेेे चार चीजों से मिलकर बना होता है पहला श्वेत रक्त कोशिकाएं यानी डब्ल्यूबीसी (WBC), दूसरा लाल रक्त कोशिकाएं यानी आरबीसी (RBC) तीसरा प्लाज्मा (PLASMA) और चौथा हिमोग्लोबिन (HEMOGLOBIN)। 

यह सभी 4 चीजें मिलकर रक्त का निर्माण करती हैं इन सभी चीजों का अलग-अलग कार्य होता है जिसके कारण हमारा शरीर संचालित हो पाता है अगर इन चारों तत्वों में से किसी भी तत्व के स्तर में गिरावट या बढ़ोतरी होती है तो उसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है जिसके कारण हम बीमार भी पड़ सकते हैं। इसलिए इन चारों तत्वों की समय-समय पर जांच होनी बहुत जरूरी है।

जब कभी भी हम बीमार पड़ते हैं और हमारे चिकित्सक को ऐसा लगता है कि हमारे रक्त में कुछ कमी है तो डॉक्टर हमें एक टैस्ट करने के लिए जरूर कहेगा जिसका नाम है सीबीसी (CBC) टैस्ट।

इसलिए इस आर्टिकल में आज हम पढ़ेंगे सीबीसी (CBC) टैस्ट के बारे में, सीबीसी (CBC) टैस्ट क्या है, सीबीसी (CBC) टैस्ट क्यों किया जाता है, सीबीसी (CBC) टैस्ट कब करवाना चाहिए और सीबीसी (CBC) टैस्ट करवाने के क्या-क्या लाभ है इसके अलावा काफी कुछ।

Table of contents


सीबीसी (CBC) टैस्ट क्या है - What is CBC test in hindi 

सीबीसी (CBC) टैस्ट अर्थात कंप्लीट ब्लड टैस्ट (Complete blood test), CBC टैस्ट एक प्रकार का ब्लड टैस्ट है जिसमें ब्लड में उपस्थित सभी तत्वों की जांच की जाती है और यह सुनिश्चित किया जाता है कि सभी तत्वों का स्तर सही है या नहीं और अगर इन सभी तत्वों मे कोई असमानता पाई जाती है तो डॉक्टर इन सभी तत्वों के स्तरों को सामान्य करने के लिए दवाई देता है या इलाज करता है।  

यह भी पढें:- Flax seeds in Hindi | लाभ, दुष्प्रभाव, कैसे खाएं इत्यादि

सीबीसी (CBC) टैस्ट क्यों करते हैं - Why do CBC test in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट क्यों करते हैं

हमारा शरीर भिन्न-भिन्न अंगों से मिलकर बना है, रक्त इन सभी अंगों को एक दूसरे से जोड़ता है और हमारे शरीर को कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है रक्त में भिन्न भिन्न प्रकार के तत्व उपस्थित होते हैं जिनसे मिलकर रक्त बनता है और इन सभी तत्वों के अलग-अलग कार्य होते हैं जिसके कारण शरीर में हो रहे अलग-अलग कार्य संभव हो पाते हैं।

अगर रक्त में उपस्थित तत्वों के स्तरों में अगर कोई गड़बड़ी हो जाती है तो उसके कारण हमें भिन्न भिन्न प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं जैसे कि अगर शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं या लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाऐ तो एनीमिया की बीमारी हो जाती है।

इसीलिए यदि कभी आपकी तबीयत खराब हो जाए और आप डॉक्टर के पास जाएं तो डॉक्टर पहले तो हो रहे लक्षणों के आधार पर आप की जांच करेगा और फिर अगर डॉक्टर को आप के लक्षण खून की कमी के कारण होने वाले लक्षणों से मिलते जुलते लगे तो डॉक्टर आपको सीबीसी (CBC) टैस्ट की जांच कराने को कहेगा इस जांच के माध्यम से डॉ यह जांच कर पाएगा की रक्त में उपस्थित तत्व सही मात्रा में उपस्थित हैं या नहीं या उनके स्तर में कोई गिरावट या बढ़ोतरी तो नहीं हुई है जिसके कारण आपको भिन्न-भिन्न समस्याएं हो रही हैं।

यह भी पढें:- आँखों की रोशनी बढ़ाने और चश्मा छुड़ाने का उपाय

सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने के कारण - Causes for doing CBC test in hindi 

सीबीसी (CBC) टैस्ट मुख्य रूप से तीन कारणों से कराया जाता है।

- बीमारी का पता लगाने के लिए

अगर आपको कोई गंभीर बीमारी हो रही है या डॉक्टर को ऐसा लगता है कि आपको सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने की जरूरत है तो डॉक्टर आपको सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने के लिए रेफर करेगा। सीबीसी (CBC) टैस्ट द्वारा भिन्न-भिन्न प्रकार की बीमारियों का पता लगाया जा सकता है जैसे

सीबीसी (CBC) टैस्ट द्वारा कौन-कौन सी बीमारियों का पता लगाया जा सकता है

  • इंफेक्शन
  • सूजन
  • एनीमिया या खून की कमी
  • ल्यूकेमिया कैंसर
  • कैंसर
  • ऑटोइम्यून बीमारियां
  • बोन मैरो फैलियर

- इलाज के दौरान इलाज के असर को जानने के लिए 

सीबीसी (CBC) टैस्ट का उपयोग एक और कारण से किया जाता है वह है कि जब भी कोई डॉक्टर किसी बीमारी का इलाज करता है जो रक्त से संबंधित हो। तब डॉक्टर सीबीसी (CBC) टैस्ट यह जानने के लिए करता है कि इलाज का असर हो रहा है कि नहीं।

- हेल्थ चेक अप

हमें हर साल कम से कम 2 बार सीबीसी (CBC) टैस्ट कराना चाहिए क्योंकि सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने से अगर हमें कोई बीमारी हो रही है तो उसकी शुरुआत में ही हमें पता चल जाता है जिससे हमें उस बीमारी का इलाज करने में मदद मिलती है क्योंकि किसी भी बीमारी का शुरुआत में इलाज करना काफी आसान होता है।

यह भी पढें:- कैंसर (Cancer): लक्षण, कारण, इलाज इत्यादि

सीबीसी (CBC) टैस्ट कब करना चाहिए - When to do CBC test in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट कब करना चाहिए

अगर मरीज को निम्नलिखित लक्षणों में से कोई लक्षण हो रहे हो तो मरीज को तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए और डॉक्टर आपको जरूर सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने के लिए कहेगा।
  • कमजोरी महसूस होने पर
  • बार-बार बुखार आने पर
  • अधिक सूजन होने पर
  • इंफेक्शन बार-बार होने पर
  • फुल बॉडी चेकअप कराते समय

- कमजोरी महसूस होने पर

अगर आपको अधिक कमजोरी महसूस हो रही हो या आप किसी कार्य को करते समय बहुत जल्दी थक जाते हैं या आपको 3 से ज्यादा दिनों से थकान महसूस हो रही हो तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए और सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर करवाना चाहिए।

- बार-बार बुखार आने पर

यदि आपको बार बार बुखार आता है या हफ्ते भर से ज्यादा समय से भी आप को बुखार हो तो आपको डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए और तुरंत से तुरंत सीबीसी (CBC) टैस्ट करवाना चाहिए क्योंकि ऐसी कई बीमारियां हैं जिन बीमारियों में इस प्रकार के बुखार के लक्षण होते हैं और उनका पता सीबीसी (CBC) टैस्ट के द्वारा किया जा सकता है जैसे डेंगू मलेरिया और चिकनगुनिया।

- अधिक सूजन होने पर

यदि आपको सूजन है या आपके पैर बार-बार सूज जाते है या फिर कोई घाव भर ना रहा हो और लंबे समय से आपको परेशान कर रहा हो तो आपको सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर कराना चाहिए।

- इंफेक्शन बार-बार होने पर

यदि आपको बार-बार इंफेक्शन हो रहा हो जैसे खांसी जुखाम डायरिया यदि यह सभी बीमारियां आपको बार-बार हो रही हो तो आपको सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर करवाना चाहिए।

- फुल बॉडी चेकअप कराते समय

हमें हर साल कम से कम 2 बार सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर करवाना चाहिए क्योंकि आजकल की जीवन शैली के कारण अलग-अलग प्रकार की बीमारियां होना स्वाभाविक बात है और कुछ बीमारियां तो काफी गंभीर और लाइलाज होती हैं।

ऐसी बीमारियों से बचने के लिए हमें साल में दो बार सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर कराना चाहिए इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि अलग-अलग प्रकार की बीमारियांं के बारे में शुरुआती स्थिति में ही पता चल जाती हैं और जैसा कि आप जानते हैं शुरुआत में बीमारियों को ठीक करना ज्यादा कठिन नहीं होता है इसलिए हमें साल में कम से कम 2 बार सीबीसी (CBC) टैस्ट जरूर करवाना चाहिए।

यह भी पढें:- अवसाद (Depression): लक्षण, कारण, उपचार इत्यादि

सीबीसी (CBC) टैस्ट कितने रुपए का होता है - What is the price of CBC test in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट का प्राइस स्थिर नहीं होता है यह जगह और राज्य के अनुसार बदलता रहता है परंतु लगभग ज्यादातर राज्यों में सीबीसी (CBC) टैस्ट का प्राइस एक समान ही रहता है आमतौर पर जो सबसे ज्यादा सीबीसी (CBC) टैस्ट का कॉमन प्राइस है वह है ₹100 से लेकर ₹1000 तक साधारण से हर जगह 100 से ₹500 के बीच में सीबीसी (CBC) टैस्ट हो जाना चाहिए परंतु परिस्थितियों और जगह के अनुसार इसका प्राइस ऊपर नीचे होता रहता है परंतु अगर आप एक कम से कम 100 से लेकर 1000 तक में हर जगह सीबीसी (CBC) टैस्ट हो जाता है।

सीबीसी (CBC) टैस्ट के लिए तैयारी - Preparation for CBC test in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट के लिए क्या-क्या तैयारी करने की जरूरत है यह एक सबसे बड़ा प्रश्न है जो हर मरीज के दिमाग में आता है जब उसे सीबीसी (CBC) टैस्ट कराना होता है। सीबीटी टैस्ट कराने के लिए किसी भी प्रकार का कोई भी तैयारी करने की कोई जरूरत नहीं होती। सीबीसी (CBC) टैस्ट में अन्य टेस्टों की तरह परहेज करने की कोई जरूरत नहीं होती है ना ही इसमें आपको भूखा रहना पड़ता है ना ही इसमें आपको प्यासा रहना पड़ता है यह एक साधारण सा टैस्ट है बस हां इस टैस्ट को देते समय एक सावधानी रखनी होती है।

यह भी पढें:- थायराइड (Thyroid): लक्षण, कारण, उपचार इत्यादि

सीबीसी (CBC) टैस्ट के लिए सावधानियां - Precautions for CBC test in Hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट देते समय हमें किसी भी प्रकार की कोई भी परहेज करने की जरूरत नहीं होती कुछ टैस्ट ऐसे होते हैं जिनमें मरीजों को भूखा रहना पड़ता है या प्यासा रहना पड़ता है या फिर अधिक मात्रा में पानी पीने की जरूरत होती है परंतु सीबीसी (CBC) टैस्ट में ऐसा कुछ नहीं लेकिन सीबीसी (CBC) टैस्ट कराते समय एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि अगर किसी व्यक्ति को ग्लूकोस चल रहा हो तो जिस हाथ में व्यक्ति को सलाइन लगी हो उस हाथ में से ब्लड का सैंपल बिल्कुल भी नहीं लेना चाहिए अगर व्यक्ति ऐसा करता है तो ब्लड और ग्लूकोज आपस में मिल जाएगा और ब्लड डाइल्यूट हो जाएगा मतलब कि पतला हो जाएगा और सीबीसी (CBC) टैस्ट का रिजल्ट सही नहीं आएगा इसलिए हमेशा इस बात का ध्यान रखें।

सीबीसी (CBC) टैस्ट कैसे होता है - How is a CBC test done in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट तीन चरणों में होता है

- पहला चरण

पहले चरण में मरीज के शरीर में से ब्लड का सैंपल लेना होता है इसके लिए डॉक्टर आमतौर पर इस रेंज का प्रयोग करते हैं और 1ml तक ब्लड सैंपल के लिए लेते हैं। और सैंपल को टैस्ट के लिए तैयार किया जाता है।

- दूसरा चरण

दूसरे चरण में सीबीसी (CBC) एनालाइजर मशीन की मदद से जांच की जाती है।

- तीसरे चरण

तीसरे चरण में डॉक्टरों द्वारा माइक्रोस्कोपिक लेवल पर जांच की जाती है। और रिपोर्ट तैयार की जाती है।

सीबीसी (CBC) टैस्ट में कौन-कौन से टैस्ट होते हैं - All test in CBC test in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट में निम्नलिखित टैस्ट किए जाते हैं

- श्वेत रक्त कोशिका (WBC, ल्यूकोसाइट) की गिनती

ब्लड में कितनी मात्रा में श्वेत रक्त कोशिकाएं हैं इसकी गिनती की जाती है इसके लिए उपकरणों का उपयोग किया जाता है और श्वेत रक्त कोशिकाओं की नार्मल रेंज 3,500 से 10,500 कोशिकाओं / MCL होती है।

- लाल रक्त कोशिका (RBC) की गिनती।

सीबीसी (CBC) टैस्ट यह पता लगाया जाता है कि हमारे रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कितनी है इसको गिना जाता है हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिका एवं भूमिका निभाते हैं इसलिए इनकी कमी होने से हमें अलग-अलग प्रकार की बीमारी हो सकती हैं।

- हीमोग्लोबिन (Hgb)

सीबीसी (CBC) टैस्ट द्वारा हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कुछ से किया जाता है क्योंकि हीमोग्लोबिन की मात्रा कम होने या ज्यादा होने से इसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है।

अन्य जांचें

  • श्वेत रक्त कोशिका प्रकार (WBC अंतर)।
  • हेमेटोक्रिट (HTC, पैक्ड सेल वॉल्यूम, PCV)।
  • लाल रक्त कोशिका सूचकांक
  • प्लेटलेट (थ्रोम्बोसाइट) की गिनती
  • मध्य प्लेटलेट मात्रा (MPV)

सीबीसी (CBC) टैस्ट सामान्य रेंज क्या है - What is Normal range for CBC TEST in hindi

सीबीसी (CBC) टैस्ट की रेंज आमतौर पर निम्नलिखित होती है अगर हम सीबीसी (CBC) टैस्ट की जांच की रिपोर्ट को पढ़ना चाहते हैं तो हमें समझना पड़ेगा कि सीबीसी (CBC) टैस्ट में दी गई चीजों की सामान्य रेंज क्या होती है।

तत्वों का सामान्य स्तर

- लाल रक्त कोशिकाएं:- 

  • पुरुषोंं में: 4.32-5.72 million cells/mcL
  • महिलाओं में: 3.90-5.03 million cells/mcL

- हीमोग्लोबिन:- 

  • पुरुषोंं में: 135-175 grams/L
  • महिलाओं में: 120-155 grams/L

- हेमाटोक्रिट:- 

  • पुरुषों में: 38.8-50.0 percent
  • महिलाओं में: 34.9-44.5 प्रतिशत

- श्वेत रक्त कोशिका:- 

  •  3,500 से 10,500 कोशिकाओं / MCL की गणना करती है।

- प्लेटलेट की गिनती:- 

  • 150,000 से 450,000 / mcL है।

यह भी पढें:- मोटापा क्या है? और मोटापा कम करने के उपाय

प्रेगनेंसी में सीबीसी (CBC) टैस्ट - CBC test in pregnancy in hindi

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अलग-अलग प्रकार की बदलाव आते हैं जिनमें से कुछ शारीरिक होते हैं कुछ मानसिक कुछ हमारे लिए अच्छे होते हैं और कुछ हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालते हैं और इस बुरे प्रभाव के कारण हमारा स्वास्थ्य बिगड़ भी सकता है साथ ही हमें बीमारियां भी लग सकती हैं यह बीमारियां खून से जुड़ी हुई भी हो सकती हैं और और प्रेगनेंसी के दौरान खून से जुड़ी हुई बीमारियां होने की संभावना बहुत अधिक होती है क्योंकि महिला के शरीर में एक और शरीर पल रहा होता है और खून से जुड़ी बीमारी होने पर सबसे पहले डॉक्टर द्वारा जो टैस्ट कराने के लिए कहा जाता है वह है सीबीसी (CBC) क्योंकि सीबीसी (CBC) टैस्ट के द्वारा मरीज के अंदर हो रही हर गड़बड़ी के बारे में पता चल जाता है और इससे शरीर में क्या-क्या समस्याएं आ रही हैं उसके बारे में भी पता चल जाता है और मरीज का इलाज करने में मदद मिलती है प्रेगनेंसी के दौरान हमें इस बात का विशेष ध्यान देना चाहिए कि महिला स्वस्थ हो उसको कोई बीमारी ना हो और अगर बीमारी हो रही है तो हमें तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि हम किसी की स्वास्थ्य के साथ रिस्क नहीं ले सकते हैं।

सीबीसी (CBC) टैस्ट के नुकसान - What is side effects of CBC test in hindi

वैसे तो सीबीसी (CBC) टैस्ट करवाने के कोई भी गंभीर दुष्प्रभाव नहीं है परंतु कुछ छोटे-मोटे दुष्प्रभाव हैं जोगी ना के बराबर है। जैसे

- सूजन होना

आमतौर पर कई बार ऐसा देखा गया है कि शरीर के किस अंग से ब्लड का सैंपल लिया जाता है इंजेक्शन की सुई के कारण वह ऐसा शूज जाता है और दर्द करता है।

- इंफेक्शन

कई बार देखा गया है कि सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने से या फिर ब्लड सैंपल को लेते समय फ्री का उपयोग करने से इंफेक्शन हो सकता है।

- असहजता

 कई बार ऐसा देखा गया है कि जिस व्यक्ति का ब्लड सैंपल लिया जाता है उसे इंजेक्शन आदि से डर लगता है तो उसे ब्लड सैंपल देने में असहजता हो सकती है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने बताया है कि सीबीसी (CBC) टैस्ट क्या है, सीबीसी (CBC) टैस्ट क्यों किया जाता है, सीबीसी (CBC) टैस्ट कब करवाना चाहिए और सीबीसी (CBC) टैस्ट करवाने के क्या-क्या लाभ है इसके अलावा काफी कुछ।

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपका कोई सवाल का जवाब हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। धन्यवाद

प्रश्न और उत्तर

सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने के क्या फायदे हैं?

CBC टैस्ट करने का सबसे बड़ा और अहम फायदा यह है कि हमें बीमारियों के बारे में शुरुआत में ही पता चल जाता है और हम बीमारियों का इलाज जल्दी से जल्दी करवा सकते हैं क्योंकि अगर किसी भी बीमारी का इलाज शुरुआत में ही करवा लिया जाए तो बीमारी ज्यादा बढ़ती नहीं है और इलाज में खर्चा भी कम आता है।

क्या सीबीसी (CBC) टैस्ट के कोई नुकसान होते हैं?

हां, सीबीसी (CBC) टैस्ट के कुछ नुकसान होते हैं जैसे जब ब्लड सैंपल लिया जाता है तब व्यक्ति को सैंपल देते समय समस्या हो सकती है इसके अलावा जहां से ब्लड सैंपल लिया जाता है वहां पर सूजन या इंफेक्शन हो सकता है परंतु सीबीसी (CBC) टैस्ट करने का कोई भी बड़ा या गंभीर दुष्प्रभाव नहीं है।

सीबीसी (CBC) टैस्ट का प्राइस क्या है?

सीबीसी (CBC) टैस्ट का प्राइस 100 से लेकर ₹1000 तक हो सकता है परंतु यह जगह और राज्य के अनुसार बदलता रहता है।

सीबीसी (CBC) टैस्ट क्यों किया जाता है?

सीबीसी (CBC) टैस्ट मुख्य रूप से बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है सीबीसी (CBC) टैस्ट के द्वारा गंभीर से गंभीर बीमारी का पता लगाया जा सकता है जैसे कि कैंसर आदि।

सीबीसी (CBC) टैस्ट कैसे होता है?

सीबीसी (CBC) टैस्ट कराने के लिए ब्लड का एक सैंपल देना होता है और उसके बाद डॉक्टर सैंपल की जांच करता है। सीबीसी सैंपल टेस्टिंग मशीन के द्वारा या फिर माइक्रोस्कोप की मदद से की जांच जाती है और रिपोर्ट बना कर दी जाती है।

रक्त को किन चार मुख्य भागों में विभाजित किया जाता है?

रक्त को निम्नलिखित चार भागों में विभाजित किया जाता है

  • लाल रक्त कोशिकाएं
  • श्वेत रक्त कोशिकाएं
  • हिमोग्लोबिन
  • प्लेटलेट्स
close